Halloween party ideas 2015

   

 ऋषिकेश:
 
                                                                                                                                                                    अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में नेत्र कोष की स्थापना के चार माह में अब तक 50 लोगों को सफलतापूर्वक काार्निया प्रत्यारोपण किया जा चुका है, नेत्र ज्योति मिलने से यह लोग अब पहले के मुकाबले सामान्य जीवन जी रहे हैं।संस्थान में आई बैंक स्थापित होने के बाद अब तक 46 लोगों का नेत्रदान किया जा चुका है।
                                                                                                                        
एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत ने बताया ​कि एम्स संस्थान में नेत्रकोष विभाग स्थापित होने के बाद से उत्तराखंड व समीपवर्ती राज्यों के लोगों काे काफी लाभ हुआ है। उन्होंने बताया कि आई बैंक की स्थापना के महज चार महीने में 50 जरुरतमंद लोगों को सफलतापूर्वक कााॅर्निया प्रत्यारोपण एक बड़ी उपलब्धि है। निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत के अनुसार नेत्रदान को हम सभी को अपने परिवार की परंपरा बनानी चाहिए, तभी देश में अंधेपन की समस्या का समाधान हो सकता है। एम्स निदेशक प्रो. रवि कांत के अनुसार भारत में प्रतिवर्ष 25,000 लोग कााॅर्निया अंधेपन के शिकार हो रहे हैं। निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने बताया कि इस समस्या को दूर करने का एकमात्र समाधान नेत्रदान से ही संभव है, उन्होंने बताया ​कि इसकी वजह यह है कि कॉर्निया को किसी कृत्रिम विधि द्वारा नहीं बनाया जा सकता है। लिहाजा हम नेत्रदान के संकल्प से ही ग्रसित लोगों को अंधेपन की समस्या से मुक्ति दिला सकते हैं और उनके जीवन को रोशन बना सकते हैं। उन्होंने बताया कि एम्स संस्थान में आई बैंक की स्थापना के बाद से अब तक 1000 से अधिक लोग भविष्य में नेत्रदान का संकल्प पत्र भर चुके हैं। 

संस्थान के नेत्र विभागाध्यक्ष डा. संजीव कुमार मित्तल व नेत्र कोष की निदेशक डा. नीति गुप्ता ने बताया कि संस्थान के नेत्र रोग विभाग के प्रो. केपीएस मलिक ने हाल में अपने दिवंगत भाई स्व. बीएस मलिक का नेत्रदान कराया। इसके साथ ही संस्थान में 50 वां कााॅर्निया प्रत्यारोपण का कार्य पूर्ण हो चुका है। उन्होंने बताया कि स्थानीय स्तर पर सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल नारंग नेत्रदान के इस लोकहित के कार्य में लोगों को जागरुक करने में अपना महति योगदान दे रहे हैं, वह अब तक एम्स नेत्र कोष विभाग को चार दिवंगत लोगों का नेत्रदान करा चुके हैं। साथ ही वह भविष्य में कााॅर्निया से ग्रसित लोगों की समस्या के निदान में सहयोग कर रहे हैं। आई बैंक निदेशक डा. नीति गुप्ता ने एम्स संस्थान व नेत्र विभाग की ओर से इस नेक कार्य के लिए सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल नारंग का आभार व्यक्त किया है।

Post a comment

Powered by Blogger.