Halloween party ideas 2015

 छिददरवाला  में  छ माह से  डाकघर का कामकाज है  ठप्प ,

पोस्ट ऑफिस के लिये ग्रामीणो को लगानी पड रही 7 किमी दौड ,कब सुधरेगी व्यवस्था

ऋषिकेश :  



उत्तराखंड मे एक ऐसा भी डाकघर है । जहां अपग्रेड करने के चक्कर मे छ  माह से डाकघर का कामकाज ठप पडा है । हम बात कर ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के  छिददरवाला के डाकघर की जो पिछले छ महीने से ना तो जमा लिया गया है और ना ही निकासी हुई है। ना ही स्पीड पोस्ट सेवा शुरू कर पाया है । जहां क्षेत्र के लोगों को श्यामुपर, रायवाला की दौड लगानी पड रही है ।

जहां कही बार सर्वर कनेक्टिविटी की समस्या पर कही चक्कर काटने पडते है। जिसमें लोगों को फजीहत झेलनी पड रही है । कहने को तो छिददरवाला को एक साल से अपग्रेड करने को कहा जा रहा है । लेकिन अब अपग्रेड तो हुआ नहीं लेकिन जनता को मिलने सेवा को बन्द कर दी गयी है ।अब लोगों 7 किमी की दौड लगानी पड रही है ।रविन्द्र रावत , रवि तोपवाल,सुरेंद्र पंवार ने बताया है । क्षेत्र मे ऐसा  डाकघर खोलकर का क्या फायदा जब लोगों को श्यामुपर, रायवाला जाना पडे । 


जब इस मामले पर हमारे संवाददाता उत्तम सिंह मन्द्रवाल   ने  जीपीओ देहरादून से जानकारी लेनी चाहिये ।  तो वह बोले हम क्या बोले जहां पोस्ट आफिस उनसे पूछो बड बोले बयान देने लगे ,उनका बोरिया बिस्तर फेक दो । यह डाक विभाग के जिम्मेदार लोग । अब देखने बात है । ऐसे अधिकारियों पर कब कार्यवाही होगी ।

ऋषिकेश के पशुलोक बैराज में दिखाई दिया शव, SDRF टीम ने बाहर निकाला।


दिनाँक 06 अक्टूबर 2022 को SDRF डीप डाइविंग टीम को सर्चिंग के दौरान पशुलोक बैराज में एक पुरुष का शव दिखाई दिया।।

SDRF टीम के जवानों द्वारा बैराज में नीचे उतरकर कड़ी मशक्कत करते हुए शव को रोप से बाँधा जिसके उपरांत SDRF टीम के अन्य सदस्यों द्वारा शव को ऊपर खींच लिया गया।

SRF टीम द्वारा शव को बाहर निकालने के उपरांत बॉडी बैग के माध्यम से मुख्य मार्ग तक पहुँचाकर लक्ष्मणझूला पुलिस के सुपर्द किया। 

उक्त शव 06 से 08 दिन पुराना व उम्र 30-35 वर्ष प्रतीत हो रही है। शव की शिनाख्त हेतु संबंधित द्वारा सभी थानों को अवगत करा दिया गया है।


 *रेस्क्यू टीम:-* 


1. का0 किशोर कुमार

2. का0 अनिल, 

3. का0 मनमोहन

4. का0 रविन्द्र

5. पैरा0 मे0 अमित कुमार


पशुलोक बैराज पर SDRF को मिला एक अन्य शव, परिजनों द्वारा की गई शिनाख्त।


आज दिनाँक 06 अक्टूबर 2022 को पशुलोक बैराज पर एक अज्ञात शव बरामद करने के उपरांत SDRF टीम को पशुलोक बैराज के पास ही नदी में एक अन्य शव दिखाई देने की सूचना प्राप्त हुई। 


सूचना मिलते ही SDRF टीम तत्काल मौके के लिए रवाना हुई। SDRF टीम द्वारा पशुलोक बैराज के पास नदी से ही शव को बरामद कर लिया गया तथा अग्रिम कार्यवाही हेतु एम्स पुलिस चौकी के सुपर्द किया। शिनाख्त की कार्यवाही के दौरान परिजनों द्वारा मृतक की पहचान विशाल राय पुत्र त्रिलोकीनाथ, निवासी बदरपुर, दिल्ली के रूप में की गयी। 


मृतक विशाल राय विगत 02 अक्टूबर को दिल्ली से अपने दोस्त के साथ ऋषिकेश घूमने आया हुआ था। ऋषिकेश के मस्तराम घाट पर नहाते समय पैर फिसलने से विशाल नदी की तेज लहरों की चपेट में आकर बहने लगा व कुछ दूर आगे नदी में डूब गया। हालांकि विशाल के दोस्त ने उसे बचाने की कोशिश भी की परन्तु सफल नही हो पाया, जिस उपरांत उसके द्वारा स्थानीय पुलिस को सूचना दी गयी।

जनपद टिहरी गढ़वाल के कौडियाला के पास निर्माणाधीन मार्ग पर यूटिलिटी वाहन दुर्घटनाग्रस्त, 01 व्यक्ति हुआ घायल, एक की मौत, SDRF ने किया रेस्क्यू कार्य।


आज दिनाँक 06 अक्टूबर 2022 को SDRF टीम को सूचना प्राप्त हुई कि कौडियाला से आगे तसमन गांव की ओर मार्ग निर्माण का कार्य चल रहा है। उक्त मार्ग में पत्थर ले जाते समय कौडियाला से लगभग 12 किमी आगे एक यूटिलिटी वाहन (UK 13 CA 0042) अनियंत्रित होने से लगभग 300 मीटर गहरी खाई में दुर्घटनाग्रस्त हो गया। वाहन में 02 लोग सवार थे। 



उक्त सूचना मिलते ही पोस्ट बयासी में व्यवस्थापित SDRF टीम HC सुरेश प्रसाद के हमराह मय रेस्क्यू उपकरणों के घटनास्थल के लिए रवाना हुई। 


उक्त वाहन का चालक पहले ही छिटकने से बाहर गिर गया था, जिसे एम्बुलेंस के माध्यम से अस्पताल पहुँचा दिया गया था। एक अन्य व्यक्ति जो लगभग 100 मीटर की गहराई में नीचे पड़ा हुआ था, जिसकी घटनास्थल पर ही मृत्यु हो चुकी थी। 


SDRF टीम द्वारा कड़ी मशक्कत व कठिनाइयों का सामना करते हुए उक्त शव को बॉडी बैग व स्ट्रैचर के माध्यम से मुख्य मार्ग तक पहुँचाकर सिविल पुलिस के सुपर्द किया गया। 


घायल- अमन, निवासी- पुरुवाला, टिहरी

मृतक- विजय ठाकुर, निवासी- वेस्ट बंगाल।


रेस्क्यू टीम:-

1. HC सुरेश प्रसाद

2. का0 नवीन कुमार

3. का0 शिवशंकर

4. का0 तरुण

5. का0 अजीत

6. पेरामेडिक्स विनय मोहन

शिवपुरी, ऋषिकेश में नमामि घाट पर गंगा में डूबा युवक, SDRF ने चलाया सर्च ऑपरेशन।


आज दिनाँक 06 अक्टूबर 2022 को दिल्ली से एक ग्रुप घूमने के लिए ऋषिकेश आया हुआ था। शिवपुरी में नमामि गंगे घाट पर उक्त ग्रुप में से एक युवक द्वारा नहाने के लिए नदी में छलांग लगा दी गयी। जिसके उपरांत वह युवक पल भर में आंखों से ओझल हो गया। साथियों द्वारा बचाव के लिए चीख-पुकार मचाई गयी पर तब तक काफी देर हो चुकी थी।




इस सम्बंध में थाना मुनिकीरेती द्वारा SDRF टीम को सूचित किया गया। SDRF टीम द्वारा आवश्यक रेस्क्यू उपकरणों के घटनास्थल पर पहुँचकर सर्चिंग की गई।  SDRF विशेषज्ञ डीप डाइवर्स द्वारा घटनास्थल के आसपास सभी संभावित क्षेत्रों में सर्च ऑपरेशन चलाया गया। रात्रि हो जाने के कारण रेस्क्यू कार्य कल प्रातः आरम्भ किया जाएगा। 


डूबे हुये युवक का विवरण:-

मोहित चौरसिया पुत्र स्वर्गीय श्री शिव प्रसाद चौरसिया उम्र 32 वर्ष, 

निवासी. A71 बाबा फरीदपुरी वेस्ट पटेलनगर दिल्ली

 



श्री मणिकांत मिश्रा, कमांडेंट SDRF घटनास्थल के लिए हेलीकाप्टर के माध्यम से हुए रवाना। 


श्री मणिकांत मिश्रा, कमांडेंट SDRF, उत्तरकाशी के द्रोपदी का डांडा-2 में निम प्रशिक्षुओ के साथ हुई एवलांच दुर्घटना में राहत एवं बचाव कार्यों को उत्तरोत्तर गति देने हेतु श्री अशोक कुमार, पुलिस महानिदेशक, उत्तराखंड महोदय व श्रीमती रिधिम अग्रवाल, पुलिस उपमहानिरीक्षक, SDRF के निर्देशानुसार सहस्त्रधारा से हेलिकॉप्टर के माध्यम से मय आवश्यक रेस्क्यू उपकरणों के बेस कैम्प उत्तरकाशी के लिए रवाना हो गए है। 


NIM से प्राप्त आधिकारिक सूचना के अनुसार हिमस्खलन की चपेट में आये माउनट्रैनर्स दल के दिनांक 04.10.2022 को 04 शव एवं आज दिनांक 06.10.2022 को 05 शव (कुल 09 लोगों के शव) बरामद किये गये हैं जिनमें 02 प्रशिक्षक एवं 07 प्रशिक्षु हैं। रेस्क्यू अभियान लगातार जारी है।



रानीपोखरी/ देहरादून:



 आज दिनांक 6 /10 /2022 को समय लगभग बजे 09:00 बजे सुबह  श्री विमल कुमार ने थाने आकर मौखिक रूप से सूचना दी कि मेरे पिताजी श्री जोगेंद्र सिंह उम्र 55 वर्ष कल रात लगभग 10:00 बजे से घर के पास ही नहर के किनारे बैठे थे जिनका अभी तक कोई पता नहीं चल पा रहा है।

 हमें शक है कि नहर में गिर गए होंगे कृपया तलाश कराने की कृपा करें ।

जिस पर तत्काल एसडीआरएफ को सूचित कर थानाध्यक्ष रानीपोखरी मय फोर्स के गुमशुदा उपरोक्त की तलाश हेतु गुमशुदा के घर के पास से सिंचाई विभाग को सूचित कर नहर का पानी बंद करा कर भोगपुर सिंचाई नहर में तलाश कराई गई लेकिन गुमशुदा के बारे में अभी तक जानकारी नहीं मिली है थाने  के पर्याप्त पुलिस बल, एसडीआरएफ व ग्रामीणों के साथ गुमशुदा की तलाश लगातार जारी है यदि गुमशुदा व्यक्ति के बारे में किसी को कोई सूचना मिलती है कृपया थाना रानीपोखरी को अवगत कराने की कृपा करें।


 *नाम पता गुमशुदा* 


 श्री जोगिंदर सिंह पुत्र स्वर्गीय श्री इतवार सिंह निवासी नौरतूवाला भोगपुर थाना रानी पोखरी देहरादून उम्र 55 वर्ष

 उत्तराखंड चारधाम यात्रा

श्री बदरीनाथ- केदारनाथ यात्रा वर्ष 2022


•   19 नवंबर को  अपराह्न  3 बजकर 35 मिनट  श्री बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होंगे।


• 27 अक्टूबर प्रात: साढे़ आठ बजे श्री केदारनाथ धाम के कपाट बंद होंगे।


• 26 अक्टूवर को श्री गंगोत्री vvV  के कपाट  12 बजकर 1 मिनट पर  शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे।


• श्री यमुनोत्री धाम के कपाट  27 अक्टूबर को  अभिजीत मुहूर्त में   दोपहर  को बंद हो जायेंगे।



• द्वितीय केदार मद्महेश्वर के कपाट   शुक्रवार  18 नवंबर को बंद होंगे।


•   21  नवंबर को  उखीमठ में आयोजित होगा मद्महेश्वर मेला।



• तृतीय केदार तुंगनाथ के कपाट

              7 नवंबर को बंद होंगे।


• केंद्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भगवान बदरीविशाल के दर्शन किये।

Union minister Rajnath Singh at Badri dhaam Utrarakhand



• कपाट बंद होने की तिथि हेतु मंदिर को भब्य रुप से सजाया गया।


श्री बदरीनाथ/ उखीमठ/ उत्तरकाशी : 5 अक्टूबर। श्री बदरीनाथ धाम के कपाट  इस यात्रा वर्ष  शनिवार  19 नवंबर को  शाम 3 बजकर 35 मिनट  पर बंद होंगे। जबकि श्री केदारनाथ धाम के कपाट 27 अक्टूबर प्रात: 8.30 बजे  भैया दूज के अवसर पर बंद होंगे। श्री गंगोत्री धाम के कपाट 26 अक्टूबर गोवर्धन पूजा के दिन 12 बजकर एक मिनट तथा यमुनोत्री धाम के कपाट भैया दूज 27 अक्टूबर को मध्यान  अभिजीत मुहूर्त में  शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे। जबकि श्री हेमकुंट साहिब लक्ष्मण मंदिर के कपाट 10 अक्टूबर को बंद हो रहे है।

विश्व प्रसिद्ध श्री बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि आज विजय दशमी के अवसर पर विधि-विधान पंचाग गणना के पश्चात तय हुई। इससे पूर्व मंदिर परिसर मैं  नवरात्रि के दौरान नौ दिन तक मां उर्वशी पूजा संपन्न हुई आज दशमी में समापन हुआ।

 विजय दशमी के महापर्व पर आज प्रात: 10.45 बजे  देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भगवान बदरीविशाल के दर्शन किये। इस अवसर पर  श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष अजेंद्र अजय तथा मंदिर उपाध्यक्ष किशोर पंवार, जिलाधिकारी हिमांशु खुराना, एसपी श्वैता चौबे एसडीएम कुमकुम जोशी ने उनकी अगवानी की। इस दौरान राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल (अवकाश प्राप्त) गुरमीत सिंह भी श्री बदरीनाथ मंदिर के गुजराती भवन में रक्षामंत्री से शिष्टाचार भेंट की इस अवसर पर श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के अध्यक्ष अजेंद्र अजय भी मौजूद थे। मंदिर समिति अध्यक्ष ने रक्षा मंत्री का माल्यार्पण अंगवस्त्र भेंटकर स्वागत किया।

इसके पश्चात  बीकेटीसी अध्यक्ष अजेंद्र अजय एवं उपाध्यक्ष किशोर पंवार की उपस्थिति में आयोजित धार्मिक समारोह में रावल ईश्वर प्रसाद नंबूदरी ने कपाट बंद होने की तिथि  19 नवंबर घोषित की। इस अवसर पर बदरीनाथ मंदिर को भब्य रूप से फूलों से सजाया गया था।

आज दोपहर के बाद शुरू हुए धार्मिक समारोह में पूजा-अर्चना, विधि-विधान पूर्वक पंचाग गणना पश्चात लग्न, मुहुर्त देख कर तिथि तय की गयी।  पूजा-अर्चना पंचाग गणना  धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, अपर धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल, वेदपाठी रविन्द्र भट्ट द्वारा की गयी। कपाट बंद होने की प्रक्रिया के तहत पंच पूजाओं में 15 नवंबर मंगलवार को पहले दिन पूजा अर्चना पश्चात  शाम को श्री गणेश जी के कपाट बंद हो जायेंगे।  दूसरे दिन   16 नवंबर बुद्धवार  को आदि  केदारेश्वर मंदिर के कपाट बंद होंगे, तीसरे दिन 17 बृहस्पतिवार नवंबर को खडग पुस्तक पूजन एवं  वेद ऋचाओं का पाठ बंद हो जायेगा। चौथे दिन  18 शुक्रवार नवंबर को  मां लक्ष्मी जी को कढाई भोग लगाया जायेगा। तथा पांचवें दिन   19 नवंबर को रावल जी स्त्री भेष में मां लक्ष्मी को  श्री बदरीविशाल के निकट स्थापित कर देते है। इससे पहले श्री उद्धव जी एवं कुबेर जी मंदिर प्रांगण में आ जाते है। और श्री बदरीनाथ धाम के कपाट शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे। 

कुबेर जी रात्रि अवस्थान हेतु बामणी गांव चले जायेंगे। जबकि उद्धव जी रावल मंदिर के निकट रहते है। दिनांक  20 नवंबर को देवडोलियां श्री बदरीनाथ धाम से पांडुकेश्वर एवं श्री नृसिंह  मंदिर जोशीमठ हेतु प्रस्थान करेंगी।

इस अवसर पर आदि गुरु शंकराचार्य जी की डोली के जोशीमठ तथा श्री उद्धव जी तथा कुबेर जी के पांडुकेश्वर प्रस्थान की तिथि निश्चित हो गयी‌।  20 नवंबर प्रात:श्री उद्धव जी एवं कुबेर जी की  देवडोली  अपने पांडुकेश्वर स्थित मंदिर पहुंच जायेगी जबकि आदि गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी 20 नवंबर को   रावल सहित योगध्यान बदरी पांडुकेश्वर प्रवास करेगी। 

दूसरे  दिन 21 नवंबर  सोमवार को  आदि गुरु शंकराचार्य जी की गद्दी श्री नृसिंह मंदिर जोशीमठ पहुंचेगी।

इसी के साथ श्री बदरीनाथ धाम यात्रा का समापन भी हो जायेगा तथा योग बदरी पांडुकेश्वर तथा श्री नृसिंह मंदिर जोशीमठ में शीतकालीन पूजायें शुरू हो जायेंगी।

 आज कपाट बंद होने की तिथि तय होने के अवसर पर मंदिर समिति की ओर से हक-हकूकधारियों को पगड़ी भेंट की गयी मेहता थोक से रवीन्द्र मेहता, गोविन्द भट्ट, भंडारी थोक से अनूप भंडारी, गोविंद पंवार को अगले यात्रा काल की भंडार व्यवस्था हेतु यह पगड़ी भेंट की गयी।

इस अवसर  स्वामी मुकुंदानंद महाराज,उप मुख्य कार्याधिकारी सुनील तिवारी, अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी गिरीश चौहान,मंदिर अधिकारी राजेंद्र चौहान, डा. हरीश गौड़ सहित अधिकारी - कर्मचारी, हक हकूकधारी, तीर्थपुरोहित समाज के  पदाधिकारी,सदस्य, बड़ी संख्या में तीर्थयात्री, माणा- बामणी के ग्रामवासी मौजूद रहे।


मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी योगेन्द्र सिंह ने बताया कि श्री केदारनाथ धाम के कपाट इस यात्रा वर्ष 27 अक्टूबर प्रात: साढ़े आठ बजे शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे। भगवान केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली 27 अक्टूबर को फाटा, 28  अक्टूबर को विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी तथा 29 अक्टूबर को श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी।

इसी के साथ पंचकेदार गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में भगवान केदारनाथ जी की शीतकालीन पूजाये शुरू हो जायेंगी।


श्री गंगोत्री मंदिर समिति से प्राप्त जानकारी के अनुसार श्री गंगोत्री धाम के कपाट अन्नकूट/ गोवर्धन पूजा के दिन 26 अक्टूबर   दोपहर को बंद हो जायेंगे। उसी दिन मां गंगा की डोली गंगोत्री से   देवी मंदिर मुखीमठ ( मुखवा) हेतु प्रस्थान करेगी। आज गंगोत्री धाम के कपाट बंद होने की घोषणा विधिवत की गयी‌ इस अवसर पर गंगोत्री मंदिर समिति अध्यक्ष हरीश सेमवाल, सचिव सुरेश सेमवाल, दिनेश सेमवाल, महेश सेमवाल मौजूद रहे।

इसी तरह यमुनोत्री धाम के कपाट भैयादूज 27 अक्टूबर को बंद हो दोपहर के  अभिजीत मुहूर्त में  बंद  जायेंगे। मां यमुना की उत्सव  डोली इसी दिन शीतकालीन गद्दीस्थल खुशीमठ (खरसाली) के लिए प्रस्थान करेगी।


इसी तरह द्वितीय केदार मद्महेश्वर जी के कपाट शुक्रवार 18  नवंबर को बंद होंगे तथा   21 नवंबर  सोमवार के दिन मद्महेश्वर मेला आयोजित होगा।

श्री मद्महेश्वर जी की उत्सव डोली  विभिन्न पड़ावों  18 नवंबर  को गौंडार, 19 नवंबर को रांसी,20 नवंबर को गिरिया, 21 नवंबर को श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी।

 श्री ओंकारेश्वर ‌मंदिर‌ उखीमठ पहुंचेगी।  21 नवंबर को  मद्महेश्वर मेला आयोजित होगा। श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में आयोजित  कपाट बंद होने की तिथि तय होने के समारोह के अवसर पर पुजारी शिवशंकर लिंग, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी राजकुमार नौटियाल, आदि मौजूद रहे।तृतीय केदारनाथ तुंगनाथ जी के कपाट     7 नवंबर सोमवार  को बंद होंगे। तथा इसी दिन श्री तुंगनाथ जी की उत्सव डोली चोपता पहुंचेगी, भनकुन, भूतनाथ होते हुए उत्सव डोली श्री मार्कंडेय मंदिर मक्कूमठ पहुंचेगी। आज मक्कूमठ में तिथि घोषित करने के अवसर पर मठापति राम प्रसाद मैठाणी, पूर्व मंदिर अधिकारी भूपेंद्र मैठाणी  बलबीर नेगी आदि मौजूद रहे।  चतुर्थ केदार तुंगनाथ के कपाट  सोमवार 17 अक्टूबर शायंकाल 5.13 बजे बंद हो रहे है।

गुरूद्वारा हेमकुंट ट्रस्ट के उपाध्यक्ष नरेन्द्र जीत सिंह विंद्रा तथा सरदार सेवा सिंह ने बताया कि श्री हेमकुंट  साहिब तथा लोकपाल तीर्थ के कपाट  शीतकाल हेतु 10 अक्टूवर  सोमवार को बंद हो रहे है।

श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि कपाट खुलने से अभी तक 1453549 तीर्थयात्री श्री बदरीनाथ धाम, 1339477 तीर्थयात्री केदारनाथ, 458701 तीर्थयात्री यमुनोत्री तथा 483096 तीर्थयात्री गंगोत्री धाम पहुंचे है। अभी तक उत्तराखंड चारधाम पहुंचनेवाले तीर्थयात्रियों की कुल संख्या 3834823( अड़तीस लाख चौतीस हजार आठ सौ तेईस) हो गयी है। गुरुद्वारा हेमकुंट साहिब से प्राप्त जानकारी के अनुसार सवा दो लाख यात्री हेमकुंट साहिब के दर्शन कर चुके है।

  सब संस्कारों का अंतिम परिणाम व्यक्तित्व का विकास है

 श्री बदरीनाथ धाम 6 अक्टूबर;

श्रीमद्भागवत कथा कैप्टन निशांत नेगी की पुण्यस्मृति में



संयमी जीवन संस्कारों को सम्पन्न करता है और संस्कारों का फल होता है शरीर औऱ आत्मा का उत्तरोत्तर विकास धर्म सन्मार्ग का प्रथम उपदेश है अभ्युदय के लिए नियम है संयम उस आदेश का नियम पालन है संस्कार उन संयमो का सामूहिक फल है और किसी देश काल और निमित में विशेष प्रकार की उन्नत अवस्था मे प्रवेश करने का द्वार है सब संस्कारों का अंतिम परिणाम व्यक्तित्व का विकास है। 

उक्त विचार ज्योतिष्पीठ व्यास आचार्य शिव प्रसाद ममगाईं जी ने भारत सेवा आश्रम बद्रीनाथ में स्वर्गीय कैप्टन निशान्त नेगी की पुण्य स्मृति में चल रही श्रीमद्भागवत कथा में व्यक्त करते हुए कहा कि संयम संस्कार अभ्युदय निःश्रेयस यह धर्मानुकूल कर्तव्य का क्रियात्मक रूप है।

 ये सभी मिलकर संस्कृति का इतिहास बनाते हैं धर्म यदि आत्मा और अनात्मा का जीवात्मा का और शरीर का विधायक है तो संस्कार हर जीवात्मा और शरीर का विकास करने वाला है धर्म व्यक्ति की तरह समाज का भी विधायक है दोष पाप दुष्कृत अधर्म है इन्हें दूर करने का साधन संस्कार है अज्ञान अधर्म है इसे दूर करने वाले स्वाध्याय आदि संस्कार है।

 भारतीय धर्म के स्वरूप में धर्म और संस्कृति का अटूट सम्बन्ध है धर्म के अन्य वर्गीकरण भी उल्लिखित हैं नित्य नैमित्तिक काम्य आपद धर्म आदि नित्य यह धार्मिक कार्य जिसका पालन करना अनिवार्य है और जिसके न करने से पाप होता है नैमित्तिक धर्म को विशेष अवसरों पर स्वीकार करना अनिवार्य होता है।

 काम्य धर्म वह है जो किसी विशेष उद्देश्य की सिद्धि के लिए किया जाता है परंतु जिसके न करने से पाप नही होता है आपद धर्म वह होता है जो संकट की स्थिति में सामान्य और विशिष्ट धर्म को छोड़कर करना पड़ता है।

 शास्त्र के नियमानुकूल आपद धर्म का पालन करने से कोई दोष नही लगता है ।

आज मुख्य रूप से पुष्कर नेगी, रेखा नेगी, शुभम आस्था माहिरा मधुर मेहर रविंद्र पुष्पा सुंदरियाल सुरेंद्र पटवाल उर्मिला पटवाल मेहरबान सिंह देवेन्द्र नेगी प्रभा अजय राय संजय विष्ट चन्द्र मोहन ममगाईं वेदपाठी आचार्य रवीद्र भट्ट धर्माधिकारी राधाकृष्ण थपलियाल जिलाध्यक्ष भाजपा रघुवीर विष्ट नेता सुभाष डिमरी डिम्मर के मालगुजार शिवप्रसाद डिमरी मोदी जी के तीर्थ पुरोहित पालीवाल जी, राज्यपाल के डॉक्टर एवम सलाहकार नौटियाल जी ,मंडल अध्यक्ष सती जी ,अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग सुदर्शन रावत जी ,डॉक्टर हरीश गौड़ आदि भक्त गण भारी संख्या में उपस्थित थे!!

 डोईवाला:

Police station near airport


थाना डोईवाला देहरादून में अज्ञात व्यक्ति के नाम मुकदमा पंजीकृत किया गया है,जिनमे मु0अ0सं0 354/2022 धारा 150(ड)/153 रेलवे अधि0 1989 बनाम अज्ञात

वादी ,राकेश चन्द्र पुत्र स्व0 श्री परमानन्द निवासी T-10E अपर रेलवे कालोनी देहरादून मो0नं0-9760534234 सीनियर सैक्सन इन्जी0 (खण्ड रे0प0) उ0रे0 देहरादून    (Senior Section Engg.(Div)P.W AY N.RLY DEHRADUN) द्वारा दर्ज कराई गई है। जबकि प्रतिवादी अज्ञात है।

विवरण अभियोगः- दिनांक 04.10.2022 समय-20.37 बजे को गाडी स0-14631 के ड्राईवर द्वारा मुरादाबाद कन्ट्रोल व डोईवाला स्टेशन पर सूचना दी कि रेलवे पथ कि0मी0 स0- 56/7-8 पर अज्ञात अभि0 द्वारा रेलवे ट्रैक पर एक लोहे का चपटा पाईप जिसकी मोटाई लगभग 02 इंच लम्बाई 18 फिट लगभग रखे जाने जो रेलगाडी के काउचर मे फंसकर चक्के में फंस जाना जिससे ट्रेन को नुकसान कर रेल के कार्यचालन तथा रेल मे यात्रा कर रहे यात्रियो के जीवन को खतरा उत्पन्न किये जाने के सम्बन्ध मे थाना डोईवाला र मुकदमा उपरोक्त पंजीकृत किया गया।  

दिनांक घटनाः- 04.10.22 समय 20.37 बजे 

घटनास्थलः- रेलवे ट्रैक 56/7-8 निकट छिदम्मीवाला डोईवाला, 

विवेचनाः- उ0नि0 संदीप देवरानी

 आज का राशिफ़ल

*दिनाँक:-06/10/2022, गुरुवार*

एकादशी, शुक्ल पक्ष, 

आश्विन

Rashifal 06 october,2022


*💮🚩    विशेष जानकारी   🚩💮*


* पापंकुशा एकादशी व्रत (सर्वेषां)


* राम भारत मिलाप


*पंचक 8:27 से आरम्भ 


*💮🚩💮   शुभ विचार   💮🚩💮*


कान्ता वियोगः स्वजनापमानि ।

ऋणस्य शेषं कुनृपस्य सेवा ।।

दरिद्रभावो विषमा सभा च ।

विनाग्निना ते प्रदहन्ति कायम् ।।

।। चा o नी o।।


पत्नी का वियोग होना, आपने ही लोगो से बे-इजजत होना, बचा हुआ ऋण, दुष्ट राजा की सेवा करना, गरीबी एवं दरिद्रों की सभा - ये छह बातें शरीर को बिना अग्नि के ही जला देती हैं।


*🚩💮🚩  सुभाषितानि  🚩💮🚩*


गीता -: क्षेत्र-क्षेत्रज्ञविज्ञानयोग अo-13


प्रकृत्यैव च कर्माणि क्रियमाणानि सर्वशः ।,

यः पश्यति तथात्मानमकर्तारं स पश्यति ॥,


 और जो पुरुष सम्पूर्ण कर्मों को सब प्रकार से प्रकृति द्वारा ही किए जाते हुए देखता है और आत्मा को अकर्ता देखता है, वही यथार्थ देखता है॥,29॥,


*💮🚩   दैनिक राशिफल   🚩💮*


देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।

नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।

विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।

जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।


🐏मेष

बकाया वसूली के प्रयास सफल रहेंगे। लंबी यात्रा हो सकती है। लाभ होगा। नए अनुबंध हो सकते हैं। रोजगार में वृद्धि होगी। रुके कार्य पूर्ण होंगे। प्रसन्नता रहेगी। नौकरी में उच्चाधिकारी की प्रसन्नता प्राप्त होगी। प्रशंसा मिलेगी। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। प्रमाद न करें।


🐂वृष

व्ययवृद्धि से तनाव रहेगा। किसी व्यक्ति के उकसावे में न आएं। विवाद से बचें। पारिवारिक चिंता बनी रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। व्यापार ठीक चलेगा। आय होगी। विवेक का प्रयोग करें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। मित्रों का सहयोग प्राप्त होगा।


👫मिथुन

आर्थिक उन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। कोई बड़ा कार्य कर पाएंगे। व्यवसाय मनोनुकूल लाभ देगा। कार्य पूर्ण होंगे। प्रसन्नता रहेगी। प्रतिष्ठा बढ़ेगी। भाग्य का साथ मिलेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। जोखिम न लें। भाइयों का सहयोग मिलेगा। आय में वृद्धि होगी।


🦀कर्क

तीर्थदर्शन हो सकता है। सत्संग का लाभ मिलेगा। राजकीय सहयोग से कार्य पूर्ण व लाभदायक रहेंगे। कारोबार मनोनुकूल रहेगा। शेयर मार्केट में जोखिम न लें। नौकरी में चैन रहेगा। घर-बाहर प्रसन्नता बनी रहेगी। दुष्टजन हानि पहुंचा सकते हैं। ध्यान रखें।


🐅सिंह

रोजगार में वृद्धि होगी। व्यावसायिक यात्रा लाभदायक रहेगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। नवीन वस्त्राभूषण की प्राप्ति होगी। कोई बड़ा कार्य हो जाने से प्रसन्नता रहेगी। निवेश लाभदायक रहेगा। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। विवाद से बचें। आवश्यक वस्तु गुम हो सकती है।


🙍‍♀️कन्या

अच्‍छी खबर मिलेगी। प्रसन्नता रहेगी। कार्यों में गति आएगी। विवेक का प्रयोग करें। लाभ में वृद्धि होगी। मित्रों के सहयोग से किसी बड़ी समस्या का हल मिलेगा। व्यापार ठीक चलेगा। घर-बाहर सुख-शांति रहेगी। पुराने संगी-साथी व रिश्तेदारों से मुलाकात होगी। नए मित्र बनेंगे।


⚖️तुला

राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। वैवाहिक प्रस्ताव प्राप्त हो सकता है। कारोबार से लाभ होगा। नौकरी में प्रभाव बढ़ेगा। कोई बड़ा कार्य करने की योजना बन सकती है। कार्यसिद्धि होगी। सुख के साधनों पर व्यय होगा। प्रसन्नता रहेगी। प्रमाद न करें। शत्रुओं का पराभव होगा।


🦂वृश्चिक

वाहन, मशीनरी व अग्नि आदि के प्रयोग से हानि की आशंका है, सावधानी रखें। दूसरों के झगड़ों में हस्तक्षेप न करें। आवश्यक वस्तु समय पर नहीं मिलने से क्षोभ होगा। फालतू की बातों पर ध्यान न दें। व्यापार ठीक चलेगा। जोखिम व जमानत के कार्य बिलकुल न करें।


🏹धनु

मेहनत सफल रहेगी। बिगड़े काम बनेंगे। कार्यसिद्धि से प्रसन्नता रहेगी। आय में वृद्धि होगी। सामाजिक कार्य करने के अवसर मिलेंगे। घर-बाहर पूछ-परख रहेगी। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। पार्टनरों का सहयोग मिलेगा। समय की अनुकूलता का लाभ लें। धनार्जन होगा।


🐊मकर

लेन-देन में सावधानी रखें। किसी भी अपरिचित व्यक्ति पर अंधविश्वास न करें। शोक संदेश मिल सकता है। विवाद को बढ़ावा न दें। किसी के उकसाने में न आएं। व्यस्तता रहेगी। थकान व कमजोरी रहेगी। काम में मन नहीं लगेगा। आय में निश्चितता रहेगी। व्यवसाय ठीक चलेगा।


🍯कुंभ

संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। प्रॉपर्टी ब्रोकर्स के लिए सुनहरा मौका साबित हो सकता है। भाग्योन्नति के प्रयास सफल रहेंगे। रोजगार में वृद्धि के योग हैं। स्वास्थ्‍य कमजोर रहेगा। आय में वृद्धि होगी। व्यस्तता रहेगी। मित्रों की सहायता कर पाएंगे।


🐟मीन

मेहनत का फल पूरा नहीं मिलेगा। स्वास्थ्य खराब हो सकता है। बौद्धिक कार्य सफल रहेंगे। किसी प्रबुद्ध व्यक्ति का मार्गदर्शन मिल सकता है। यात्रा मनोरंजक रहेगी। पारिवारिक मांगलिक कार्य हो सकता है। नौकरी में अधिकार बढ़ सकते हैं। उन्नति के मार्ग प्रशस्त हों सकते हैं ।


🙏आपका दिन मंगलमय हो🙏

🌺🌺🌺🌺🙏🌺🌺🌺🌺

*आचार्य  पवन   पाराशर (वृन्दावन)*

 अव्यवस्थाओं का शिकार आवासीय विद्यालय रैन

बछरावां/ रायबरेली ;




उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा प्राथमिक शिक्षा को ऊंचाइयों तक पहुंचाने के लिए बड़े-बड़े दावे किए जा रहे हैं। अध्यापकों तथा शिक्षामित्रों व  अनुदेशकों को तरह-तरह के प्रशिक्षण कराए जा रहे हैं। 

परंतु इसे अधिकारियों की लेटलतीफी कहे या सरकार की उदासीनता कहे, जिसका ताजातरीन उदाहरण विकासखंड की ग्राम सभा रैन में स्थित आवासीय विद्यालय में देखा जा सकता है।  

हालात यह है कि विद्यालय के अंदर जनरेटर तक की सुविधा नहीं है, बिजली जाने की दशा में बेचारी छात्राएं किसी तरह समय गुजारती है और मोमबत्ती के प्रकाश में शिक्षा का कार्य करती हैं। 

सर्वविदित है कि इस विद्यालय में घटिया खाने को लेकर कई बार छात्राएं अपना विरोध दर्ज करा चुकी हैं और बीमार होकर अस्पताल भी पहुंच चुकी है।

 गनीमत यह रही कि किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई। विद्यालय के अंदर पेयजल आपूर्ति के लिए टंकी बनी हुई है, छात्राओं ने कई बार आरोप लगाया कि उसकी साफ-सफाई भी नहीं की जाती है। नतीजा यह होता है कि दूषित पेयजल के सहारे भारत के भविष्य को गुजारना पड़ रहा है। 

पता चलने पर ज्ञात हुआ जनरेटर व इनवर्टर आदि के टेंडर निकलने के लिए विद्यालय द्वारा जिलाधिकारी से अनुमोदन मांगा गया था। लेकिन आज तक फाइले लंबित पड़ी है। सवाल यह उठता है कि सरकार द्वारा किए जा रहे दावों को झूठा माना जाए, या इसे शिक्षा विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों की लापरवाही!

Powered by Blogger.