Halloween party ideas 2015

 ऋषिकेश;





14 दिनों से धरने पर बैठे आंदोलनकारी  विधायक ऋषिकेश प्रेमचंद अग्रवाल के कैंप कार्यालय को कूच करेंगे । आंदोलन   की अध्यक्षता कनक धनाई  करेंगे। 

कनक धनाई ने बताया कि अगर विधायक  द्वारा सवालों के जवाब नहीं दिए  गए तो आंदोलन  को और तेज किया जाएगा। 

इस दौरान  पुरुषोत्तम चौहान,शक्ति नेगी,राजेश वर्मा,राहुल बिष्ट,सूरज अधिकारी,आनंद रावत,विकास राणा, लक्ष्मी चौहान,दर्शानी चौहान,अदिति देवी, मीना पंवार, राजेश्वरी कलुरा,मधु नेगी आदि मौजूद रहे।

 

यमकेश्वर:  




यमकेश्वर क्षेत्र की ग्राम पंचायत कुमार्था मे एक आम बैठक का आयोजन किया गया ।  जिसका मुख्य उद्देश्य गांव को सडक से जोडना है । ग्राम प्रधान रीना रावत की अध्यक्षता मे बधुवार  को बैठक आहुत की गयी । जिसमें गांव के रैबासी प्रवासी सभी ने बढ चढकर हिस्सा लिया व सडक की मांग को लेकर सभी ने एकजुटता का परिचय देते हुये अपने अपने विचार रखे । ग्राम प्रधान श्रीमती  रीना रावत ने बताया कि गांव के लिये सडक का कई बार सर्वे होने के वावजुद भी सरकार द्वारा आज तक गांव को छला गया है व राजधानी देहरादून से मात्र 60 किमी ऋषिकेश से मात्र 21 किमी और मोहन चट्टी से मात्र ढाई किमी की दुरी पर स्थित कुमार्था के साथ स्थानीय प्रतिनिधियों सरकार द्वारा सौतेला व्यवहार किया जा रहा है जिससे स्थानीय जनता मे रोष व्याप्त है,।


वहीं जन हित व विकाश कार्यों को लेकर निरंतर चर्चा मे रैहने वाले क्षेत्र के क्षेत्र पंचायत सदस्य पूर्व सैनिक सुदेश भट्ट ने बताया कि प्रसिद्ध स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व चंदन सिंह बिष्ट के गांव की अनदेखी अब कतई बर्दास्त नही की जायेगी सुदेश भट्ट ने बताया कि इससे पहले भी कई बार सडक स्वीकृति के नाम पर सरकार स्वतंत्रता संग्राम सेनानी के गांव को सडक मार्ग से जोडने के नाम पर झूठी घोषंणाओं के नाम पर अखबारों मे सुर्खियां बटोर चुकी है जबकि धरातलीय वास्तविकता शुन्य है ।अपनी क्षेत्र पंचायत बूंगा के दुर्गम क्षेत्रों मे शामिल ग्राम कुमार्था से हो रहे निरंतर पलायन पर चिंता व्यक्त करते हुये सुदेश भट्ट ने बताया कि सरकार द्वारा क्षेत्र के साथ इस तरह का सौतेला व्यवहार कतई स्वीकार नही किया जायेगा ओर सडक ही यहां पलायन का मुख्य कारण है ।उन्होने क्षेत्र की जनता से सडक मांग को लेकर अब लोकतंत्र मे मांग की अंतिम जंग आंदोलन को लेकर ग्रामीणों से सडक पर उतरने का आह्न किया । जिसकी समस्त ग्रामीणों ने खुले मन से स्वागत करते हुये ग्राम प्रधान व क्षेत्र पंचायत के नेतृत्व मे मांग पर अमल न किये जाने पर सडक पर उतर आंदोलन के लिये अपनी स्वीकृति प्रदान की । तालियो  की गडगडाहट से ग्रामीण बुजुर्ग युवा व महिलाओं द्वारा अपने जन प्रतिनिधियों की हौसलाफजाई करते हुये विकास को लेकर आर पार की जंग मे अपना सर्वस्व त्याग करने का वादा किया गया।


क्षेत्र पंचायत सुदेश भट्ट व ग्राम प्रधान रीना रावत ने बताया कि यदि सरकार द्वारा दो महीने के अंदर इस मांग को गंभीरता से नही माना जाता है । तो इस  बार होली का दहन के रुप मे स्थानीय प्रतिनिधियों व सरकार की होली गांव के किनारे हेंवल नदी के तट पर जलाई जायेगी जिसकी जिम्मेवार सरकार स्वयं होगी । 

आने वाले चुनावी वर्ष मे चुनावों का पूर्ण बहिष्कार करते हुये किसी भी प्रत्याशी को वोट मांगने गांव मे घुसने नही दिया जायेगा।


आज की बैठक मे क्षेत्र पंचायत, प्रधान समेत पूर्व प्रधान ललित मोहन बडोला, स्वयंम्बर सिंह भंडारी बिजय बिष्ट, सुरमान सिंह बिष्ट, कमल रावत, दिनेश भंडारी, दयाल सिंह पयाल, प्रेम सिंह भंडारी, माधुरी देवी, वीरा देवी, पूर्व प्रधान सुलोचना देवी, आरती देवी शालनी देवी  मौजूद रहे ।

                                                      


                                                                                                                                                                        

                                           

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में 72वां गणतंत्र दिवस हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर संस्थाना के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी ने ध्वजारोहण किया। साथ ही आर्मी बैंड द्वारा देशभक्ति गीतों की शानदार प्रस्तुतियां दी गई।                                 

एम्स ऋषिकेश में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी ने कहा कि सामुहिक जिम्मेदारी का निर्वाह करने से ही देश उन्नति के पथ पर आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि भारत को आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति को अपने कर्तव्यों के प्रति संकल्पद्ध होने की नितांत आवश्यकता है।                                                                                                      लिहाजा हमें अधिकारों के साथ-साथ अपनी जिम्मेदारियों को भी ध्यान में रखना होगा। 

समारोह को संबोधित करते हुए एम्स निदेशक पद्मश्री प्रो. रवि कांत जी ने कहा कि संस्थान में कार्यरत प्रत्येक चिकित्सक, अधिकारी व कर्मचारी को मरीजों की सेवा को अपनी प्रथम प्राथमिकता बनानी चाहिए, ऐसे में जब सभी लोग सामुहिकतौर पर जिम्मेदारी निभाते हैं तो देश तरक्की की ओर अग्रसर होता है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी के दौर में जिस तरह से चिकित्सकों, नर्सों, तकनीशियनों, सफाईकर्मियों सहित प्रत्येक हेल्थ केयर वर्कर और स्टाफ के अन्य सदस्यों ने जोखिम उठाकर मरीजों की सेवा की है, वह प्रशंसनीय कार्य है। उन्होंने कोरोना काल में संस्थान में मोनाल और प्राणवायु वेन्टिलेटर के आविष्कार के साथ साथ वैभव समिट के सफल आयोजन का जिक्र करते हुए कहा कि यह उपलब्धियां टीम भावना के तहत जिम्मेदारी निर्वहन करने से ही हासिल हो पाई हैं। कहा कि हमें याद रखना होगा कि अभी कुंभ मेलाकाल में जनस्वास्थ्य की चुनौती हमारे समक्ष है। ऐसे में हमें अलग-अलग समय में पृथक-पृथक चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार रहना होगा। लिहाजा हम सभी को कुंभ के दौरान मरीजों की सेवा के लिए प्रतिबद्धता दोहरानी होगी। मेडिकल क्षेत्र में कम्युनिकेशन स्किल्स होना बहुत जरूरी है। निदेशक एम्स ने कहा कि मेडिसिन में आर्ट और साइंस की विशेष भूमिका होती है। एक चिकित्सक को मेडिकल साइंस का ज्ञान होने के साथ ही हमें मरीजों के साथ व्यवहार कुशलता से भी पेश आना होगा, जिससे सेवा की परिभाषा सार्थक हो सके। 


इस दौरान विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया गया। समारोह में डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता जी, मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रो. लतिका मोहन जी, डीन हॉस्पिटल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा जी, वित्तीय सलाहकार कमांडेंट पीके मिश्रा जी, रजिस्ट्रार राजीव चौधरी जी, जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल जी, प्रशासनिक अधिकारी संतोष जी समेत संस्थान के कई अधिकारी व कर्मचारी शामिल हुए।


उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी.डी सिंह ने कुलपति से शिष्टाचार भेंट की

देहरादून:  




दून विश्वविद्यालय की नव नियुक्त कुलपति प्रोफेसर सुरेखा डंगवाल को निरंतर  बधाई देनेवाले दून विश्वविद्यालय स्थित कुलपति कार्यालय पहुंच रहे है।

इसी क्रम में उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम्  प्रबंधन बोर्ड केअपर मुख्य कार्यकारीअधिकारी बी.डी. सिंह ने कुलपति प्रोफेसर सुरेखा डंगवाल से शिष्टाचार भेंट  कर  बधाई दी तथा पुष्प गुच्छ देकर सम्मान किया। 

कुलपति ने  आगंतुकों का आभार जताया।कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि दूनविश्वविद्यालय में शिक्षा का स्तर को नये आयाम मिले ताकि छात्रों को भविष्य की चुनौतियों के अनुकूल तैयार किया जा सके।

देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्यकार्यकारी अधिकारी ने कुलपति को आगामी चार धाम यात्रा हेतु आने का भी आग्रह किया।

 इस अवसर पर देवस्थानम बोर्ड के अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी, मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ भी मौजूद रहे।

 


डोईवाला:

शहीद दुर्गा मल्ल राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डोईवाला में गणतंत्र दिवस के शुभ अवसर पर प्राचार्य प्रोफेसर डीसी नैनवाल ने झंडारोहण किया। इस अवसर पर उन्होंने सभी प्राध्यापकों को एवं शिक्षणेत्तर कर्मचारियों को 72 में गणतंत्र दिवस की बधाई दी। उन्होंने कहा कि किन विषम परिस्थितियों में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों ने हमें आजादी दिलवाई थी, उन सभी का हमें  आज स्मरण करना चाहिए।

 प्राचार्य डॉ डीसी नैनवाल ने महाविद्यालय में शहीद दुर्गा मल्ल की प्रतिमा पर भी पुष्प अर्पित किए। इस अवसर पर चकराता महाविद्यालय के प्राचार्य डॉक्टर केएल तलवाड़  भी उपस्थित थे। उन्होंने भी शहीद दुर्गा मल की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित की। डॉक्टर डीएन तिवारी ने निदेशक उच्च शिक्षा द्वारा भेजे गए संदेश को पढ़ा।

 झंडारोहण के पश्चात हुए कार्यक्रम में डॉक्टर केएल तलवाड़, डॉक्टर अफरोज इकबाल एवं डॉक्टर डीएन तिवारी ने बच्चों को संबोधित किया। तत्पश्चात एनसीसी एवं एनएसएस के छात्रों द्वारा महाविद्यालय में स्वच्छता कार्यक्रम चलाया गया।

 इस अवसर पर डॉ आर एस रावत, प्रोफेसर एमएस रावत प्रोफ़ेसर  शुक्ला मीडिया प्रभारी डॉ एस के कुडियाल,डा० बल्लरी  कुकरेती, डॉ वंदना गौड़,डा०पूनम पांडे,डॉक्टर अफरोज इकबाल,डा०नूर हसन,श्री जीएस कंडारी, रामेश्वर,महेश,आतिफ, सोमेश्वर, नवीन, शोभा देवी, ममता, सुनील, बृजमोहन व रामलाल तथा एनसीसी एवं एनएसएस के स्वयं सेवी भी उपस्थित थे।

डोईवाला:

 ब्लॉक के राजकीय इंटर कॉलेज  बुल्ला वाला में गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में छात्र छात्राओं को सर्दी के मौसम में 8:00 बजे से 11:00 बजे तक बिना तरीके दरी के जमीन पर वैठाये रखने का मामला संज्ञान में आया है।  

जिस पर कुछ छात्र छात्राओं ने प्रधानाचार्य से नाराजगी व्यक्त की परंतु उन्होंने अनसुना कर उन्हें डरा धमका कर जमीन पर बैठने के लिए मजबूर किया गया  .

26 जनवरी 2021 को क्षेत्र में जहाँ घना कोहरा था ,ऐसे में प्रधानाचार्य द्वारा छात्र छात्राओं को ठंड में बिठाए रखना किसी उत्पीड़न से कम नहीं था .

कार्यक्रम चलता रहा छात्र-छात्राएं ठंड से परेशान बैठे रहे। जनप्रतिनिधियों ने विभागीय अधिकारियों से प्रधानाचार्य के खिलाफ ठंडी में बच्चों को तीन घण्टे जमीन पर वैठाये रखने की जांच कर कार्यवाही की मांग की है।




डोईवाला :

 मारखम ग्रांट के धर्मूचक  गांव में  उत्तराखंड खादी एवं ग्रामोद्योग बोर्ड के तहत प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें क्षेत्र की महिलाओं को अगरबत्ती और धूपबत्ती बनाने का प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया गया.

 सात दिन तक चले इस प्रशिक्षण कार्यक्रम के समापन अवसर पर मुख्यमंत्री के विशेष कार्य अधिकारी धीरेंद्र पवार ने कहा कि सरकार महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए कृत संकल्प है .इस प्रकार के कार्यक्रम के तहत महिलाएं घर पर रहकर अपनी आजीविका को बढ़ा सकती हैं और खाली समय का सदुपयोग भी किया जा सकता है .

उन्होंने कहा क्षेत्र के सभी लोगों को स्वरोजगार की तरफ ध्यान देना चाहिए, जिससे उनकी आय में वृद्धि हो इस अवसर पर लगभग 30 महिलाओं को प्रमाण पत्र भी वितरित किए गए .

कार्यक्रम के दौरान मंडल अध्यक्ष राजकुमार पूर्व प्रधान नरेंद्र नेगी ,परमिंदर सिंह, पूर्व प्रधान राजकुमार पुंडीर, जरनैल सिंह, प्रताप सिंह बिष्ट समेत अनेक लोग मौजूद थे।




Powered by Blogger.