Halloween party ideas 2015

देहरादून;


उत्तराखण्ड में गायों में लम्पि बीमारी के फैलने का खतरा अचानक बढ़ गया है। अनेक स्थानों से पशुओं के इस रोग से ग्रस्त होने की खबरे आ रही है। 

डोईवाला स्थित झाड़ोन्द में भी एक गांय की लम्पि बीमारी से मौत हो गयी है।इससे पहले  ग्राम नांगल ज्वालापुर दूधली क्षेत्र में पिछले दिनों एक गांय का लम्बी बीमारी के बाद निधन हो गया। पशुपालक के अनुसार गाय कई   दिनों से बीमार थी।

डोईवाला के ही खैरी,धर्मुचक, झबरवाला ,बुल्लावाला, तेलीवाला, खता, गांयों में लम्पि रोग फैल रहा है। पशुपालकों का कहना है कि इससे  20 प्रतिशत पशुहानि हानि  है।






 लम्बी बीमारी से ग्रस्त गाय दिनेश कुमार पुत्र साधु राम की  बीमारी के कारण मर गयी है परंतु विभाग ने टीकाकरण नही किया।

पशुपालक का कहना है कि टीकाकरण करने में असमर्थ विभागों को इसकी सुध नहीं आई जब तक कि गाय  मर नही गयी।

 लम्पि गाय का इलाज  आयुर्वेद में सबसे अच्छा माना गया है। यकृत में संक्रमण के कारण गांय इसका शिकार होती है। कुछ दिन बाद खाना बंद कर देती है। फिर अचानक मृत्यु हो जाती है। 

Post a Comment

Powered by Blogger.