Halloween party ideas 2015

 गुलरघाटी , देहरादून में सोंग नदी से SDRF ने  बरामद किया अज्ञात शव



दिनाँक 1 सितम्बर 2021 को जिला नियंत्रण कक्ष  देहरादून द्वारा बताया कि चौकी हररावाला से सूचना है की गुल्लर घाटी नदी में एक शव दिखाई दे रहा  है। मौके पर जिला पुलिस मौजूद है।  परन्तु नदी का बहाव बहुत तेज है, जिससे शव नही निकालने में असमर्थता हो रही है एवम  एसडीआरएफ टीम की आवश्यकता है।

उपरोक्त सूचना पर  वाहिनी से तुरन्त टीम घटनास्थल पर पहुंची।जहां शव तक पहुचने में लगभग 5 km का रास्ता तय कर रोप के माध्यम से शव को बाहर निकाला गया व जिला पुलिस के सुपुर्द किया गया।

शव अत्यधिक गल गया था और ऐसा प्रतीत हो रहा था कि काफी दिनो पुराना है। अभी शव की शिनाख्त नही हो पाई ।



*गुछुपानी,देहरादून में फंसे लोगों को SDRF ने किया रेस्क्यू*



आजकल नदियों के बढ़े हुए  जलस्तर से खतरा काफी बढ़ा हुआ है।नदी गदेरों में नहाने या तैरने का शौक़ , जीवन संकट में डाल रहा है। 

आज घटना गुछुपानी पिकनिक स्पॉट से है, जहां   नदी का जलस्तर बढ़ने से नदी में कुछ लोग फंसे होने की सूचना , आपदा कंट्रोल रूम देहरादून से SDRF को प्राप्त हुई।


    उपरोक्त सूचना पर SDRF रेस्क्यू टीम मय उपकरण तुरन्त हेड कॉन्स्टेबल महावीर चौहान के हमराह घटनास्थल पहुंची। यहां तीन युवक फंस गए थे ।रात्रि का बढ़ता अंधेरा और नदी का तेज बहाव ,जैसी तमाम बाधाएं रास्ता रोक रही थी। परन्तु SDRF के अदम्य साहस के आगे सब गौण साबित हुए। तमाम मुश्किलातों को पार पाकर SDRF रेस्क्यू टीम द्वारा तीनो युवकों को रोप के माध्यम से सुरक्षित रेस्क्यू किया गया।


SDRF टीम इंचार्ज द्वारा बताया गया कि तीनों युवक दिन में यहां घूमने आए थे व तैरते हुए पार चले गए। अचानक से जलस्तर बढ़ने पर वापस तैरने में असमर्थ रहे व वही फस गए।युवकों के पहचान-

1- आयुष पांडे  उम्र 19 वर्ष पुत्र श्री प्रमोद पांडे निवासी बंगाली कोठी ,T.H.D.C कॉलोनी

2- हर्षित शर्मा उम्र 19 वर्ष पुत्र श्री संजीव शर्मा निवासी मोहिनी रोड, डालनवाला

3- पर्व गुप्ता उम्र 21 वर्षपुत्र श्री अनूप गुप्ता निवासी कैनाल रोड, जाखन



उत्तरकाशी के मोरी क्षेत्रान्तर्गत पिताड़ी में चरवाहे की मौत, SDRF द्वारा शव को लाया जा रहा वापिस।


SDRF पोस्ट बड़कोट में एसआई निरंजन बड़थ्वाल को डीडीएमओ उत्तरकाशी महोदय से सूचना मिली कि मोरी के पास ग्राम पिताड़ी से एक चरवाह बकरी चराने हेतु अपने छानी कैंप गया था जिसकी वहां पर मृत्यु हो गई ।ग्राम पिताड़ी से छानी कैंप की दूरी 40 से 50 किलोमीटर पैदल है।  उक्त सूचना पर SDRF रेस्क्यू टीम तुरंत घटनास्थल के लिए रवाना हुई ।

,

नेटवर्क क्षेत्र में न होने के कारण, सूचनाओं का आदान प्रदान मात्र सॅटॅलाइट फ़ोन के द्वारा ही हो पा रहा था। रेस्क्यू टीम बड़कोट से si निरंजन बर्थवाल द्वारा सेटेलाइट फोन के माध्यम से बताया गया की  छानी कैम्प से शव लेने हेतु 15 से 20 ग्रामीण भी रवाना हुए थे। परन्तु उनसे कोई सम्पर्क नही हो पा रहा है । SDRF रेस्क्यू टीम पिताडी गांव से लगभग 20 किलोमीटर आगे पहुंच गई थी ।

रास्ते में पूर्व में रवाना हुए ग्रामीण मीले जो मृत व्यक्ति को लेकर वापस गांव आ रहे थे। टीम रास्ते से ही मृतक का शव लेकर ग्राम फिताडी के लिए रवाना हो गयी है। टीम की लोकेशन गांव से लगभग 8 किलोमीटर दूर पर है। SDRF टीम द्वारा सभी को सुरक्षित कर गांव वापस लाया जा रहा है।

बड़कोट टीम से सूचना प्राप्त हुई की  टीम द्वारा शव को  परिवार वालों को सौंप दिया गया है। बाकी सभी ग्रामीणों को भी सुरक्षित गांव पहुँचा दिया गया है।


Post a Comment

Powered by Blogger.