Halloween party ideas 2015

 

राज्य मंत्री भाषा स्वामी यतीश्वरानन्द ने कहा है कि उत्तराखण्ड में भाषा संस्थान अपने पूरी शक्तियों के साथ कार्य करेगा। इस सम्बन्ध में उत्तराखण्ड भाषा संस्थान की साधारण सभा का गठन किया गया है।

 भाषा संस्थान के इस साधारण सभा में मुख्यमंत्री पदेन अध्यक्ष होंगे, साथ ही  भाषा मंत्री कार्यकारी (पदेन) अध्यक्ष होंगे। राज्य सरकार द्वारा मनोनीत कोई प्रतिष्ठित व्यक्ति उपाध्यक्ष होंगे एवं सचिव वित, सचिव उच्च शिक्षा, सचिव भाषा, सचिव नियोजन सदस्य (पदेन) के तौर पर नियुक्त होंगे।

 इसके साथ ही राज्य सरकार द्वारा नामित उत्तराखण्ड के दो विश्वविद्यालय (दून विश्वविद्यालय तथा उत्तराखण्ड संस्कृत विश्वविद्यालय) के कुलपति भी सदस्य के रूप में होंगे। उत्तराखण्ड भाषा संस्थान में राज्य सरकार द्वारा नामित देश एवं प्रदेश के 12 भाषाविद एवं संबंधित विषयों के साहित्यकार भी शामिल होंगे।

 



उत्तराखण्ड भाषा संस्थान की साधारण सभा के अतिरिक्त प्रबन्ध कार्यकारिणी का भी गठन कर लिया गया है। इस प्रबन्ध कार्यकारिणी में मा0 मुख्यमंत्री पदेन अध्यक्ष होंगे, साथ ही मा0 भाषा मंत्री कार्यकारी (पदेन) अध्यक्ष होंगे। राज्य सरकार द्वारा मनोनीत कोई प्रतिष्ठित व्यक्ति उपाध्यक्ष होंगे एवं सचिव वित, सचिव उच्च शिक्षा, सचिव भाषा, सचिव नियोजन सदस्य (पदेन) के तौर पर नियुक्त होंगे। सचिव उत्तराखण्ड संस्कृत अकादमी एवं उत्तराखण्ड शासन द्वारा नामित संस्थानों में तीन साहित्यकार तथा वरिष्ठ लेखाधिकारी, उत्तराखण्ड हिन्दी अकादमी को सदस्य के रूप में नियुक्त किया जायेगा। 


उत्तराखण्ड भाषा संस्थान अधिनियम 2018 के अन्तर्गत साधारण सभा और प्रबन्ध कार्यकारिणी समिति का गठन किया गया है। साधारण सभा एवं प्रबन्ध कार्यकारिणी के प्रत्येक सदस्य नामित होने की तिथि से तीन वर्ष तक पद पर कार्य करेंगे।

Post a Comment

Powered by Blogger.