Halloween party ideas 2015





72वें गणतंत्र दिवस पर पैरालंपिक खिलाड़ी साक्षी चौहान का अर्न्तराष्ट्री पैरालंपिक खेलने का सपना हुआ साकार हंस फाउंडेशन ने प्रादन की स्पोर्ट्स व्हीलचेयर

अंडर-22 पैरालंपिक व्हीलचेयर बास्केटबॉल खिलाड़ी साक्षी चौहान अब खेल सकेंगे अर्न्तराष्ट्री पैरालंपिक हंस फाउंडेशन ने प्रादन की स्पोर्ट्स व्हीलचेयर


स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छ जल,स्वरोजगार,महिला सशक्तीकरण,दिव्यांगज, ग्राम्य विकास, कृषक कल्याण,खेल और पर्वतीय क्षेत्रों में जीवन स्तर में सुधार लाने के लिए प्रतिबद्ध हंस फाउंडेशन हमेशा से सेवा अस्माकं धर्मः के मार्ग पर चलते हुए देश के विकास में अग्रणी भूमिका निभा रहा है।



विश्व पटल पर खेल के क्षेत्र में उत्तराखंड के खिलाड़ियों को बढ़ावा देने की बात हो तो,इस परिपेक्ष में हंस फाउंडेशन के संस्थापक माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी हमेशा से अग्रीम पंक्ति में खड़े नजर आते है। यही वजह भी हैं की आज उत्तराखंड मूल के कई खिलाड़ी विश्व खेल पटल पर उत्तराखंड का नाम हंस फाउंडेशन की पताक के साथ लहरा रहे है। जिसमें दुनिया की सबसे ऊंची सात चोटियों के साथ-साथ उत्तरी व दक्षिणी ध्रुव पर तिरंगा फहराने वाली जुड़वा बहनें ताशी-नुंग्शी मलिक,दुनिया की सबसे ऊंची पर्वत चोटी माउंट एवरेस्ट पर तिरंगा फहराने वाली शीतल राज और अमीषा चौहान सहित देश के कई खिलाड़ी शामिल है,और इस कड़ी अब एक नाम और जुड़ा हैं वह है,पैरालंपिक बास्केटबॉल खिलाड़ी साक्षी चौहान जिसके सपने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी आशीर्वाद से साकार होने जा रहे है।


देवभूमि उत्तराखण्ड की तीर्थ और योग नगरी ऋषिकेश की दिव्यांग बेटी और व्हीलचेयर बास्केटबॉल अंडर-22 पैरालंपिक व्हीलचेयर बास्केटबॉल में इंडिया टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकीं पैरालंपिक खिलाड़ी साक्षी चौहान अब अर्न्तराष्ट्रीय पैरालंपिक खेल सकेगी। साक्षी चौहान को 72वें गणतंत्र दिवसे मौके पर हंस फाउंडेशन ने स्पोर्ट्स व्हीलचेयर प्रदान की है। जिसके बाद साक्षी अब अर्न्तराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा के लिए तैयारी और बेहतर तरीके से कर पाएगी।



पैरालंपिक बास्केटबॉल खिलाड़ी साक्षी चौहान को हंस फाउंडेशन की तरफ से यह अत्याधुनिक प्रास्थेटिक स्पोर्ट्स व्हीलचेयर मसूरी विधायक जोशी ने प्रदान की,इस मौके पर श्री जोशी ने कहा की पूज्य माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी उत्तराखंड में स्वास्थ्य-शिक्षा से लेकर हर जरूरतमंद व्यक्ति के साथ खड़े होकर सेवा प्रदान कर रहे है। हंस फाउंडेशन राज्य और देश के प्रतिभावान बच्चों की शिक्षा और स्वास्थ्य के लिए हमेशा सहयोग कर उन्हें आगे बढ़ने में मदद करता रहा है।


श्री जोशी ने कहां की खेलों की बात करें तो इस क्षेत्र में माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के आशीर्वाद से देश में कई खिलाड़ी अर्न्तराष्ट्रीय स्तर पर भारत का नाम रोशन कर रहे है। इसमें कई दिव्यांग खिलाड़ी भी शामिल है। श्री जोशी ने कहा कि उत्तराखड की बेटी और अंडर-22 पैरालंपिक व्हीलचेयर बास्केटबॉल में इंडिया टीम का प्रतिनिधित्व कर चुकीं पैरालंपिक खिलाड़ी साक्षी चौहान के बारे में जब मैंने माता मंगला जी को अवगत कराया तो,माता मंगला जी कहा कि इस बच्ची के खेल और तैयारी में किसी भी तरह की दिक्कत नहीं आनी चाहिए। साक्षी को अर्न्तराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा के लिए तैयारी करने के लिए जो भी मदद चाहिए होगी। वह हंस फाउंडेशन करेगा। जिसके बाद माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी के आशीर्वाद से देश के 72वें गणतंत्र के मौके पर साक्षी चौहान को अर्न्तराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा के लिए तैयारी करने के लिए अत्याधुनिक प्रास्थेटिक स्पोर्ट्स व्हीलचेयर प्रदान की गई है।


इस मौके पर पैरालंपिक खिलाड़ी साक्षी चौहान ने भावुक होते हुए कहा की मैं सौभाग्यशाली हूं की मुझ जैसी खिलाड़ी को पूज्य माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आशीष मिला है। इसके लिए मैं पूज्य माता मंगला जी,श्री भोले जी महाराज एवं आदरणीय गणेश जोशी जी का कोटि-कोटि आभार व्यक्त करते हुए,आप सभी को विश्वास दिलाती हूं कि मैं रात-दिन मेहनत कर अर्न्तराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में भाग लेने के लिए तैयारी करूंगी और देश और हंस फाउंडेशन का नाम विश्व खेल पटल पर रोशन करूंगी।


साक्षी चौहान ने हंस फाउंडेशन एवं विधायक गणेश जोशी का आभार जताते हुए कहा कि अब वह इंडिया सीनियर टीम से खेलना चाहती हैं, लेकिन आर्थिक तंगी के कारण उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा था। मेरे पास इतने पैसे नहीं थे कि मैं प्रास्थेटिक व्हीलचेयर खरीद सकूं लेकिन हंस फाउंडेशन के सहयोग से वह अपने सपने को साकार कर सकेगी। साक्षी ने कहा कि मुझे देखकर मेरे जैसे अन्य खिलाड़ी भी अपनी प्रतिभा को लेकर आगे आऐंगे और मुझे विश्वास है कि मेरा हौसला उनके काम आऐगा।


आपको बता दें कि तीर्थ और योग नगरी ऋषिकेश की बेटी साक्षी चौहान 12 वर्ष की उम्र में एक सड़क दुर्घटना में अपना एक पैर गवां चुकी थी। वह बचपन से ही भारतीय बास्केटबॉल टीम से खेलना चाहती थी। जिसके लिए साक्षी ने लिए बहुत मेहनत की,लेकिन अर्न्तराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धाओं में भाग लेने उसे एक ऐसी व्हीलचेयर की आवश्यकता थी। जिसके माध्यम से वह अर्न्तराष्ट्रीय प्रतिस्पर्धा में भाग लेने के लिए तैयारी कर सकें। विषम परिस्थितियों से लड़ते हुए साक्षी ने अपने स्तर पर खेलने की तैयारी जारी रखी और उसके इन संघर्षों को साकार करते हुए हंस फाउंडेशन ने साक्षी को उड़ान भरने के लिए जो पंख प्रदान किए है। वह निश्चित तौर पर खेल की दुनिया में साक्षी चौहान के सपनों का साकार होने जैसा है।


इस अवसर पर भाजपा मण्डल अध्यक्ष पूनम नौटियाल, कैलाश पंत, युवा मोर्चा अध्यक्ष अंकित जोशी, युवा मोर्चा की राष्ट्रीय सह मीडिया प्रभारी नेहा जोशी, समीर पुण्डीर, समीर डोभाल, भावना, ज्योति कोटिया, संध्या थापा, आयुष रावत, अंजली रावत नैथानी, रामचन्द्र तिवारी, नमन कोठियाल, शुभम थपलियाल आदि उपस्थित रहे।

Post a comment

Powered by Blogger.