Halloween party ideas 2015


 *30 अप्रैल को खुलेंगे श्री बदरीनाथ धाम के कपाट।
* 18 अप्रैल गाडू घड़ा (तेल कलश यात्रा) की तिथि निश्चित हुई।

* नरेंद्र नगर राजदरबार में तय  हुई  श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि।

नरेंद्र नगर (टिहरी):  

श्री बदरीनाथ धाम के कपाट  इस यात्रा वर्ष   बृहस्पतिवार 30 अप्रैल प्रात: 4 बजकर 30 मिनट  बैशाख शुक्ल तिथि सप्तमी,पुष्य नक्षत्र  के अवसर पर खुलेंगे। गाडू घड़ा(तेल कलश) यात्रा का दिन 18 अप्रैल निश्चय हुआ। बसंत पंचमी के अवसर पर  राजदरबार नरेन्द्र नगर में  आयोजित भब्य धार्मिक समारोह के अवसर पर पं संपूर्णानंद जोशी, आचार्य कृष्ण प्रसाद उनियाल, आचार्य हेतराम थपलियाल द्वारा पंचाग गणना कर विधि-विधान पूर्वक कपाट खुलने की तिथि का निश्चय किया तथा महाराजा मनुजयेंद्र शाह ने कपाट खुलने की तिथि की घोषणा की।
 राजमहल में आयोजित  समारोह में श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति अध्यक्ष मोहन प्रसाद थपलियाल,  चारधाम विकास परिषद के उपाध्यक्ष आचार्य शिव प्रसाद ‌ममगाई‌, मंदिर समिति उपाध्यक्ष अशोक खत्री एवं मंदिर समिति सदस्य अरूण मैठाणी, चंद्रकला ध्यानी, राजपाल पुंडीर, राजपाल जड़धारी, इंद्रमणि गैरोला, वरिष्ठ पत्रकार/ संपादक  रजपाल बिष्ट  उपस्थिति रहे।इस अवसर पर डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत पदाधिकारी गाडू घड़ा लेकर राजमहल पहुंचे।
रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी सहित  मंदिर समिति मुख्य कार्याधिकारी  बी.डी. सिंह, अधिशासी अभियंता अनिल ध्यानी, धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल, अपर धर्माधिकारी राधाकृष्ण कृष्ण थपलियाल, विशेष कार्याधिकारी जनसंपर्क ए.एस. नेगी, कार्याधिकारी एन.पी.जमलोकी, चारधाम विकास परिषद के विशेष कार्याधिकारी राकेश सेमवाल, ब्रिजेश बडोनी, सहायक अभियंता विपिन तिवारी,वैयक्तिक सहायक प्रमोद नौटियाल,  प्रबंधक रमेश नेगी, डा.हरीश गौड़,  अनिल भट्ट, कुलदीप नेगी,मनोज रावत आदि मौजूद रहे।
इस अवसर पर राज पुरोहित माधव प्रसाद नौटियाल, स्वास्तिक नौटियाल मंदिर समिति पूर्व सदस्य भाष्कर डिमरी एवं भगवान केदारनाथ जी का प्रसाद लेकर उखीमठ से आये वेदपाठी आशाराम नौटियाल, पुलिस क्षेत्राधिकारी प्रमोद शाह राजदरबार में उपस्थित रहे। देवस्थानम बोर्ड पर तीर्थ पुरोहितों के विरोध की आशंका के चलते ऋषिकेश से राजदरबार नरेन्द्र नगर तक प्रशासन द्वारा पर्याप्त पुलिस बल तैनात किये थे हालांकि कपाट खुलने की तिथि तय होने का कार्यक्रम पूर्णत सौहार्द पूर्ण रहा। श्री डिमरी धार्मिक केंद्रीय पंचायत ने ऐलान किया था की वह धार्मिक परंपराओं को पहले की भांति निर्वहन करेंगे।
 श्री डिमरी  धार्मिक केंद्रीय पंचायत के कार्यकारी अध्यक्ष विनोद डिमरी "श्रीराम" पूर्व अध्यक्ष सुरेश डिमरी, महामंत्री दिनेश डिमरी, डिम्मर उम्मटा पंचायत अध्यक्ष आशुतोष डिमरी,नरेश डिमरी, अनिल डिमरी,विपुल डिमरी, राजेन्द्र डिमरी, ज्योतिष डिमरी,अनुज डिमरी, टीका प्रसाद,हेमचंद्र मनोज डिमरी,  मुकेश डिमरी,अरविंद डिमरी, गाडू घड़ा तेल कलश लेकर राजमहल पहुंचे एवं कपाट खुलने की तिथि तय होने के कार्यक्रम में सम्मलित हुए।  ऋषिकेश स्थित मंदिर समिति के यात्री विश्राम गृह में प्रबंधक विपिन तिवारी, प्रबंधक राजेन्द्र सेमवाल, एवं विशाल पंवार, राम चंद्र बिष्ट, मनीश पालीवाल ने गाडू घड़ा यात्रा ब्यवस्थाओं में सहयोग किया। उल्लेखनीय है कि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि तय होने के बाद चारधाम यात्रा की तैयारियां शुरू हो जाती हैं। श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुलने की तिथि शिवरात्रि 21 फरवरी को तय होगी जबकि श्री गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम के कपाट अक्षय तृतीया को खुलते हैं। इस वर्ष अक्षय तृतीया 26 अप्रैल को है। इसी के साथ चारधाम यात्रा का आगाज शुरू हो जायेगा।

Post a comment

Powered by Blogger.