Halloween party ideas 2015

 ऋषिकेश :





उत्तराखंड डीजीपी श्री अशोक कुमार मुख्य अतिथि एवं महापौर श्रीमती अनीता ममगांई रही विशिष्ट अतिथि ।


आज दिनांक 14 नवंबर 2022 को निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी खैरी कलां श्यामपुर, ऋषिकेश में बाल दिवस मनाया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उत्तराखंड के डीजीपी श्री अशोक कुमार  उपस्थित रहे।


सर्वप्रथम संत बाबा जोध सिंह महाराज  और डीजीपी श्री अशोक कुमार व ऋषिकेश महापौर श्रीमती अनीता ममगांई ने दीप प्रज्वलित एवं मूल मंत्र और गायत्री मंत्र के साथ कार्यक्रम का शुभारंभ किया । 

इसके उपरांत एनजीए के विधार्थियों ने गुरबाणी शबद की प्रस्तुति दी जिसके बोल "सभे जीअ समाल अपणी मेहर कर" रहे।


तत्पश्चात निर्मल आश्रम ज्ञान अकादमी की प्रधानाचार्या डॉ सुनीता शर्मा जी ने मुख्य अतिथि श्री अशोक कुमार एवं सभी गणमान्य अतिथियों का स्वागत उद्बोधन दिया।


कार्यक्रम में कक्षा 10 की आसिया रावत के द्वारा बाल दिवस पर एक सुंदर कविता प्रस्तुत की गई। इसके पश्चात स्कूल संगीत ग्रुप के द्वारा भजन प्रस्तुत किया गया जिसके बोल रहे "बाजे रे मुरलिया बाजे" ।


इसके उपरांत कक्षा 12 की प्रकृति भट्ट के द्वारा निर्मल ज्ञान दान की शिक्षा और दीक्षा के बारे में सबको अवगत कराया गया जिसमें उन्होंने निशुल्क शिक्षा और दीक्षा के लिए महंत बाबा राम सिंह महाराज जी एवं संत बाबा जोध सिंह महाराज जी का धन्यवाद व आभार व्यक्त किया।


कार्यक्रम में पंजाब की संस्कृति को दर्शाते हुए भांगड़ा नृत्य का प्रदर्शन दिया गया जिसमें "रंगीला पंजाब" के ऊपर विद्यार्थियों के द्वारा डांस की शानदार प्रस्तुति दी गई इस अवसर पर सभी गणमान्य उत्साहित हो उठे।


कार्यक्रम की समाप्ति पर संत बाबा जोध सिंह महाराज जी के द्वारा मुख्य अतिथि श्री अशोक कुमार एवं विशिष्ट अतिथि श्रीमती अनीता ममगांई को सिरोपा, स्मृति चिन्ह एवं उपहार स्वरूप प्रसाद देकर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर सरदार गुरविंदर सिंह  के द्वारा डीजीपी और निर्मल परिवार का धन्यवाद किया गया।


मुख्य अतिथि श्री अशोक कुमार जी ने अपने उद्बोधन में निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी की निशुल्क शिक्षा और दीक्षा की सराहना की और महाराज श्री से कहा कि आप इस निशुल्क शिक्षा की पहल को पुलिस विभाग के द्वारा संचालित पहल "भीक्षा नहीं-शिक्षा दीजिए" को भी समन्वय कर हमें गोरवान्वित करने की कृपा करें। इसके साथ श्री अशोक कुमार जी ने गुरु नानक देव जी को आदर्श मानते हुए उनके पद चिन्हों पर चलने के लिए सभी विद्यार्थियों और शिक्षकों से विनती करी और समाज को अनेकता में एकता के साथ रहने एवं चलने के लिए प्रेरित किया। मुख्य अतिथि ने एनजीए कैंपस की सराहना करते हुए बच्चों के द्वारा आर्ट एंड क्राफ्ट की कलाकारी को बहुत ही सराहनीय बताया साथ ही जिन बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम में प्रतिभाग किया उन बच्चों को उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दीं ।


विशिष्ट अतिथि ऋषिकेश महापौर श्रीमती अनीता ममगांई ने अपने उद्बोधन में कहा कि समय-समय पर निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी निम्न परिवारों को भी उच्च परिवारों की तरह उच्च कोटि की शिक्षा व खेलकूद का दर्जा देने के लिए हमेशा ही प्रयासरत रहा है इसके लिए मैं निर्मल आश्रम ज्ञान दान अकादमी को हृदय की गहराइयों से बधाई देती हूं और जनमानस के इस नेक कार्य हेतु किसी भी समय हमारी कोई सेवा स्कूल हित में रही तो हम जरूर अपने आप को भाग्यशाली समझेंगे।


कार्यक्रम में धन्यवाद ज्ञापन स्कूल प्रधानाध्यापिका श्रीमती अमृतपाल डंग के द्वारा दिया गया । उन्होंने उपस्थित संत बाबा जोध सिंह महाराज जी, मुख्य अतिथि श्री अशोक कुमार (डीजीपी उत्तराखंड), विशिष्ट अतिथि श्रीमती अनीता मंगाई (महापौर, ऋषिकेश) एवं सभी सम्मानित गणमान्यों का हृदय से आभार व अभिनंदन व्यक्त किया और इस बाल दिवस पर आपने अपने अमूल्य समय को निकालकर हमारे विद्यालय के विद्यार्थियों एवं सभी शिक्षक गणों को को कृतार्थ किया । 


इस अवसर पर मंच संचालन श्रीमती जूही सचदेवा के द्वारा विधिवत संचालन किया गया।  कार्यक्रम के अंतिम पड़ाव पर सभी ने राष्ट्रगान को सम्मान देते हुए राष्ट्रगान किया ।


इस अवसर पर एन,ई,आई, जनरल मैनेजर श्री अजय शर्मा, आत्मप्रकाश बाबू, सरदार हरमन बाबा, करनाल से संत निक्का सिंह स्कूलों के डायरेक्टर श्री के.एल.डगं, प्रधानाचार्या मंजू यादव, कविता अरोड़ा, सारिका, राजेश कुमार, चार्टर्ड अकाउंटेंट श्री कमल जुनेजा, बलबीर सिंह साहित्य केंद्र देहरादून से कुलविंदर सिंह, एनजीए प्रशासनिक अधिकारी विनोद विजल्वाण, स्कूल समन्वयक सोहन सिंह कैंतूरा, वरिष्ठ खेल शिक्षक दिनेश पैन्यूली, सरबजीत कौर, संगीत शिक्षक गुरविंदर सिंह, संतोष कुमार, दीपमाला कोठियाल, कला शिक्षिका निकिता उनियाल, स्मिता गर्ग ममता पवार, ज्योति पंवार, ज्योति वर्मा, रत्ना नेगी, मधु रावत मंजू सकलानी एवं सभी शिक्षक गण और प्यारे बच्चों उपस्थित थे। धन्यवाद।



Post a Comment

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved
Powered by Blogger.