Halloween party ideas 2015


ऋषिकेश :



 उत्तराखंड के देहरादून ज़िले में धान की फसल में बौना रोग का प्रकोप दिन  प्रतिदिन बढ़ता जा  रहा है। इसी के मद्देनज़र भारत सरकार के केंद्रीय एकीकृत नाशीजीव प्रबंधन केंद्र, देहरादून से तीन सदस्यीय दल छिददरवाला क्षेत्र के  गाँव जोगीवाला माफ़ी पहुँचा । उन्होंने क्षेत्र में धान में फैले बौना रोग का सर्वेक्षण किया एवं सर्वेक्षण के दौरान मिले किसानो को बौना रोग के बारे में जागरूक भी किया । क्षेत्र में दो बीघे से लेकर 25 बीघे में धान की फसल लगाने वाले किसान है। इसमें अलग-अलग क्षेत्र में बौना बीमारी का प्रकोप 5-100 प्रतिशत तक पाया गया। 80-100 प्रतिशत फसल का नुक़सान झेल रहे किसानो ने ट्रैक्टर चलाकर धान की फसल को नष्ट कर दिया।

दल के सदस्यों ने बताया की यह बीमारी सदर्न राइस ब्लैक स्ट्रीकड व्हायरस से आती है और सफ़ेद पीठवाला फुदका इसे ग्रसित पौधों से स्वस्थ पौधों में फैलाने में मदद करता है। इस बीमारी के लक्षण तथा नियंत्रण के बारे में बताकर उन्होंने किसानो को पपलेट भी बाँटे। इस प्रकोप को देख के क्षेत्र के किसानो को अगले दो साल तक धान के आलावा दूसरी फसल लेने का सुझाव भी दिया गया ताकि बीमारी के विषाणु ख़त्म हो जाये । इस दौरान 

केंद्रीय दल से रामेश्वर तेलंग्रे, सहायक वनस्पति संरक्षण अधिकारी, नितिन कुमार, सहायक वनस्पति संरक्षण अधिकारी , डॉ किरन नेगी, ग्राम पंचायत जोगीवाला माफी  के ग्राम  प्रधान शोबन सिंह कैंतुरा, ग्रामीण प्रमोद रावत ने क्षेत्र का दौरा कर किसानो से वार्तालाप किया।

Post a Comment

Powered by Blogger.