Halloween party ideas 2015

 देहरादून :



देवभूमि अब अपराधी का गढ बने लगा है । हत्या ,लूट ,डकैती अब आम होगी है । जहां राष्ट्रीय राजमार्ग पर भी सफर करना सुरक्षित नहीं रह गया है । जहां एक सप्ताह पूर्व रायवाला थाना क्षेत्र के छिददवाला राष्ट्रीय राजमार्ग के तीन पानी फ्लाई ओवर पर स्कूटी सवार युवकों से एक लाख 30 हजार रुपये की लूट की घटना का खुलासा करते हुए रायवाला पुलिस ने चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों के पास से लूट के 12 हजार रुपये बरामद हुये हैं। शेष रकम आरोपितों ने खर्च कर दी है। गिरफ्तार बदमाशों में से एक आरोपित नाबालिग है। रविवार को लूट का खुलासा और बदमाशों की गिरफ्तारी की जानकारी देते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जन्मेजय खंडू़री ने बताया कि 21 जून को तजिन्दर सिंह ग्रोवर निवासी गांधी रोड ने शिकायत दी। तजिन्दर ने बताया कि 20 जून को वह अपने दोस्त रघुवीर सिंह पटवाल के साथ वाहनों की नीलामी में भाग लेने के लिए कैश लेकर स्कूटी से रुडकी के लिए निकले। ग्यारह बजे दोनों नीलामी में पहुंच गये। नीलामी खत्म होने पर रात करीब पौने बारह बजे वे रुडकी से देहरादन के लिए चले। रास्ते में मनसा ढाबे पर खाना खाया। खाना खाने के बाद रात करीब डे़ढ़ बजे घर की ओर चल दिए। करीब पौने दो बजे बाइक सवार तीन बदमाशों ने राष्ट्रीय  राजमार्ग तीन पानी फ्लाइओवर पर उन्हें धक्का देकर गिरा दिया।  उनके गिरने पर बदमाश उसकी शर्ट में रखी एक लाख 30हजार की नकदी‚ रघुवीर की चेक बुक और जीएसटी के पेपर की कॉपी लेकर भाग निकले। बदमाशों की तलाश में पुलिस टीम ने घटना स्थल तीन पानी फ्लाईओवर से राष्ट्रीय राजमार्ग रायवाला‚ ऋषिकेश‚ हरिद्वार‚     रूडकी‚ लक्सर आदि क्षेत्रों के सीसीटीवी फुटेज खंगाले और मुखबिर तंत्र को एक्टिव किया। लोकल स्तर पर सत्यापन की कार्यवाही की और यह जानकारी भी निकाली कि कौन बदमाश जेल में है और कौन बदमाश बाहर। इसके साथ ही सर्विलांस की मदद से बदमाशों की लोकेशन की जांच की। इस दौरान बीते रोज मुखबिर ने सूचना दी कि जिन लुटेरों ने तीन पानी फ्लाई ओवर पर लूट की घटना को अंजाम दिया है वे सभी बदमाश बाइक के साथ मोतीचूर फ्लाई ओवर के नीचे खडे है  और फिर से किसी घटना करने के फिराक में है। मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम रायवाला से मोतीचूर फ्लाई ओवर के नीचे पहुँची। वहां बाइक के साथ खड़े़ पुलिस को देखकर सकपका कर बाइक छोड़़कर भागने का प्रयास करने लगे। पुलिस ने सभी को दौड़ कर दबोच लिया। पकड़े़ गए बदमाशों की पहचान सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे बदमाशों से भी हुई।  सभी के चेहरे मेल खा रहे थे। नाम पता पूछने पर आरोपितों ने अपने नाम सुमित निवासी ग्राम चौतपुर थाना लक्सर‚ विकास उर्फ राजा निवासी ग्राम मुण्डाखेडा कला लक्सर हरिद्वार‚ टीटू निवासी मुण्डाखेडा  कलां लक्सर हरिद्वार बताए। जबकि चौथा आरोपित नाबालिग निकला। आरोपितों ने लूट की घटना स्वीकार की। तलाशी लेने पर उनके पास से 12 हजार की नकदी बरमद हुई। बाकी रकम उन्होंने खर्च कर दी। मशहूर होने के लिए करते हैं दादागिरी और बदमाशी।  लूट के मामले में पुलिस के हत्थे चढ़े बदमाशों को सोशल मीडि़या पर मशहूर होने का शौक है। इसी शौक के चलते बदमाशों ने लूट की घटना को अंजाम दिया। अपने कई बदमाशी और दादागिरी भरे वीडि़यो आरोपितों ने इंस्टाग्राम पर लोड़ किए हैं। ऐसा वे आज जनता में अपना ड़र फैलाने के लिए करते हैं। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि विकास उर्फ राजा और नाबालिग को बदमाशी करने का शौक है। दोनों आए दिन इंस्टाग्राम पर मशहूर होने के लिए अपनी आईडी में आम जनता में ड़र फैलाने के लिए दादागिरी की पोस्ट डालते रहते हैं।उन्होंने बताया कि 210 जून की रात वह अपने गांव से निकलकर रुडकी आ गए। रुडकी के पास स्थित होटल पर खडे थे तो हमने शिकायतकर्ता को फोन पर किसी से बात करते हुए सुना कि उसके पास एक लाख 30 हजार हजार रुपये हैं। उसकी बात सुनकर सबने उसका पीछा किया और तीन पानी फ्लाई ओवर के पास सुनसान इलाका देखकर शिकायककर्ता की स्कूटी को टक्कर मार कर उन्हें घायल कर दिया और उनसे रकम लेकर फरार हो गए। आरोपितों के पास से लूटी गई रकम एक लाख 30 हजार रुपये में से 12 हजार की नकदी‚ बिना नम्बर प्लेट की बाइक‚ दो मोबाइल फोन बरामद हुए हैं। ।

Post a Comment

Powered by Blogger.