Halloween party ideas 2015

 उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद की परीक्षा में सफल छात्रों को मुख्यमंत्री ने दी बधाई।

हरिद्वार और टिहरी के विद्यार्थियों ने मारी बाजी

Education minister declared UK Boardresult


मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखण्ड विद्यालयी शिक्षा परिषद की 10वीं एवं 12वीं की परीक्षा में सफल हुए छात्रों को बधाई एवं शुभकामनाएं दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 12वीं की परीक्षा में सफल हुए छात्र उच्च शिक्षण संस्थानों का हिस्सा बनकर देश व समाज की सेवा के लिये अपनी सक्षमता साबित करेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे युवा छात्र देश के भावी नागरिक है। उन्होंने सभी की उज्ज्वल भविष्य की भी कामना की है। 




उत्तराखंड इंटरमीडिएट का रिजल्ट आज शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत की मौजूदगी में जारी किया गया। इस बार परीक्षा परिणाम कुल 82.63 प्रतिशत रहा जिसमें छात्र 79.74 एवं छात्राएं 85.38% उत्तीर्ण हुई है। 







प्रदेश की संयुक्त श्रेष्ठ सूची में एसवीएमआईसी मायापुर हरिद्वार की छात्रा कुमारी दिया राजपूत ने इंटरमीडिएट परीक्षा में 500 में से 485 अंक प्राप्त कर सर्वोच्च स्थान प्राप्त किया।

 जबकि एमसी डीएमआईसी गोपेश्वर चमोली के छात्र अंशुल बहुगुणा ने इंटरमीडिएट परीक्षा में 484/500 अंक प्राप्त कर दूसरा स्थान प्राप्त किया।

तृतीय स्थान आर एल एस चौहान एसवीएमआईसी जसपुर की दृष्टि चौहान एवं विवेकानंद बीएमआईसी मंडलसेरा , बागेश्वर के सुमित मेहता। 483/500 अंक प्राप्त किया है।

 इस बार इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 113164 छात्र पंजीकृत किए गए थे जिनमें 111688 परीक्षार्थी सम्मिलित हुए इसमें से 92296 परीक्षार्थी उत्तीर्ण घोषित किए गए।


हाई स्कूल में सुभाष इंटर कॉलेज धौलाधार टिहरी गढ़वाल के मुकुल सिलस्वाल ने 99% के साथ प्रथम स्थान प्राप्त किया है। सुमन ग्रामर एसएसएस ब्रह्मखाल , उत्तरकाशी के मुकुल अवस्थी और सुभाष इंटर कॉलेज धौलाधार के आयुष  जुयाल ने संयुक्त रूप से 99.60% अंक हासिल कर द्वितीय  स्थान प्राप्त किया है।

विवेकानंद बीएमआईसी मंडलसेरा की छात्रा रुबीना करंगा ने प्रदेश में छात्राओं में सर्वश्रेष्ठ अंक और प्रदेश सूची में तृतीय स्थान प्राप्त (98.40) किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन छात्रों का परीक्षा परिणाम उनकी आशा के अनुकूल नही रहा वे हतास एवं निराश न हो बल्कि दुगने उत्साह के साथ आगामी परिक्षा की तैयारी में जुट जाय। पूरे मनोयोग से यदि असफलता का सामना किया जाय तो सफलता अवश्य मिलती है। 

मुख्यमंत्री ने विद्यालयी परीक्षा आयोजन से जुड़े अध्यापकों एवं कार्मिकों को भी बधाई दी है।



Post a Comment

Powered by Blogger.