Halloween party ideas 2015


मौसम विभाग द्वारा आज से अग्रिम तीन दिवस तक  राज्य में भारी से बहुत भारी वर्षा के साथ ही कहीं कहीं अत्यंत भारी वर्षा होने की संभावना होने का अलर्ट जारी  किया गया है। कुछ स्थानों पर आकाशीय बिजली ,ओलावृष्टि,तेज हवाएं 80 किलोमीटर प्रति घंटा तक चलने की संभावना है। 

उक्त चेतावनी के दृष्टिगत कमाण्डेन्ट SDRF,श्री नवनीत सिंह के आदेशानुसार राज्य के विभिन्न जनपदों मे व्यवस्थापित SDRF की सभी टीमें अलर्ट अवस्था में रखा गया है। सभी टीमों को निर्देशित किया गया है कि वे किसी भी आपात परिस्थिति केलिए पूर्णतः अलर्ट रहे व रेस्क्यू उपकरणों को भी  कार्यशील दशा में रखें।

   राज्य में SDRF की 29 टीमो का व्यवस्थापन निम्न है

देहरादून - सहस्त्रधारा, चकराता।

 टिहरी- ढालवाला (ऋषिकेश), कोटि कॉलोनी, ब्यासी(कौड़ियाला)

उत्तरकाशी - उजेली, भटवाड़ी, गंगोत्री, बड़कोट,जानकीचट्टी/यमुनोत्री।

पौड़ी गढ़वाल - श्रीनगर, कोटद्वार, सतपुली।

चमोली-गौचर, जोशीमठ, पांडुकेश्वर,श्री बद्रीनाथ। 

रुद्रप्रयाग- सोनप्रयाग, अगस्तमुनि,लिनचोली, श्रीकेदारनाथ। 

पिथौरागढ़ - पिथौरागढ़,धारचूला, अस्कोट। 

बागेश्वर-कपकोट। 

नैनीताल-नैनी झील, खैरना।

 अल्मोड़ा- सरियापानी।

ऊधमसिंहनगर - रुद्रपुर। 

 अतिवृष्टि से बाढ़, भूस्खलन, आकाशीय बिजली गिरना,बादल फटना इत्यादि घटनाये होती रहती हैं जिससे जान माल की हानि का भय बना रहता है। किसी भी प्रकार की आपदा के दौरान जान माल की हानि के न्यूनीकरण एवं तत्काल प्रतिवादन हेतु SDRF की रेस्क्यू टीम पूर्व से ही संवेदनशील स्थानों पर व्यवस्थापित है।


मौसम विभाग द्वारा जारी किए गए अलर्ट के बाद तत्काल ही कमाण्डेन्ट SDRF, श्री नवनीत सिंह के आदेशानुसार राज्य भर में SDRF रेस्क्यू टीमों को किसी भी आपात स्तिथि में तत्काल प्रतिवादन हेतु अलर्ट कर दिया गया है साथ ही SDRF कंट्रोल रूम को भी अलर्ट पर रखा गया है व निर्देशित किया है कि सूचनाओं के आदान प्रदान तत्काल किया जाए जिससे किसी भी घटनास्थल पर समय से पहुँच कर रेस्क्यू कार्य सुचारू किया जाए।


उत्तराखंड में मौसम ने बदली करवट, राजधानी समेत कई हिस्सों में हो रही हैं तेज बारिश 

हरिद्वार और रुड़की में जगह-जगह जलभराव की स्थिति 


 दून समेत कई हिस्सों में तेज बारिश हो रही है। रुड़की में जगह-जगह जलभराव की स्थिति देखने को मिल रही है। मौसम विभाग ने रविवार और सोमवार को ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश को लेकर रेड अलर्ट जारी किया है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के पूर्वानुमान के अनुसार, प्रदेश में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण मौसम ने करवट बदली। साथ ही ओलावृष्टि और अंधड़ के आसार हैं, जबकि चोटियों पर हल्के हिमपात की भी संभावना है। उत्तराखंड में मानसून की विदाई के बाद से मौसम शुष्क बना हुआ है, लेकिन आज मौसम का मिजाज बदल गया है। मौसम विभाग ने ज्यादातर इलाकों में भारी बारिश और अंधड़ की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा ओलावृष्टि और हल्के हिमपात के भी आसार हैं। इसके चलते ठंड में भी इजाफा हो सकता है। दरअसल, पंजाब और पाकिस्तान की ओर से पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है। रविवार सुबह तक इसके उत्तराखंड समेत आसपास के हिमालयी क्षेत्र से टकराने की आशंका पहले ही बताई जा चुकी है है। ऐसे में मंगलवार तक मौसम का मिजाज बदला रहने की संभावना है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने मौसम के तेवर तल्ख होने को लेकर रविवार को आरेंज अलर्ट और सोमवार को रेड अलर्ट जारी किया है। राज्य मौसम विज्ञान केंद्र की चेतावनी के बाद राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने जिलाधिकारियों को सतर्क रहने की सलाह दी है। सोमवार को हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, पिथौरागढ़, बागेश्वर, अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, पौड़ी, टिहरी और देहरादून में भारी बारिश की आशंका के चलते आवश्यक एहतियात बरती जाए। इस दौरान किसी भी प्रकार की आपदा की सूचना 0135-2710334, टोल फ्री नंबर 1070 व 8218867005 पर दी जा सकती है।

Post a Comment

Powered by Blogger.