Halloween party ideas 2015

 बागेश्वर:



उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में स्थित त्रिशूल पर्वत पर चढ़ाई करने गए 5 नौसैनिक हिमस्खलन के बाद लापता हो गए थे। 

4 नौसेना पर्वतारोहियों के शव त्रिशूल पर्वत के पास बरामद किए गए हैं, जबकि पांचवें नौ सैनिक पर्वतारोही और एक शेरपा का पता लगाने की कोशिश जारी है। कुल 20 सदस्यों का दल त्रिशूल पर्वत पर चढ़ाई करने के लिए निकला था।

नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (NIM) उत्तरकाशी के प्राचार्य कर्नल अमित बिष्ट ने कहा कि बचाव दल ने माउंट त्रिशूल, चमोली से 4 पर्वतारोहियों के शव बरामद किए हैं। अन्य दो सदस्यों की तलाश जारी है। शुक्रवार को हिमस्खलन के बाद एक दल लापता हो गया था।

इनकी पहचान लेफ्टिनेंट कमांडर रजनीकांत यादव, लेफ्टिनेंट कमांडर योगेश तिवारी, लेफ्टिनेंट कमांडर अनंत कुकरेती और हरिओम हरिओम एमसीपीओ के रूप में हुई है.

तीन सितंबर को मुंबई से नौसेना का 20 सदस्यीय दल त्रिशूल पर्वत की चोटी आरोहण करने के लिए रवाना हुआ। वर्ष 1971 के युद्ध में पाकिस्तान पर भारत की ऐतिहासिक जीत के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे स्वर्णिम विजय वर्ष के तहत नौसेना के पर्वतारोही माउंट त्रिशूल अभियान पर निकले हैं। 7120 मीटर ऊंची यह चोटी उत्तराखंड के बागेश्वर जिले में है।

वीरवार को छह हजार मीटर की ऊंचाई पर स्थित कैंप-तीन से नौसेना के 10 पर्वतारोही आगे बढ़े। शुक्रवार सुबह करीब 6700 मीटर की ऊंचाई के आसपास दल के पांच सदस्य और एक पोर्टर एवलांच की चपेट में आ गए।

इस पर बाकी सदस्य अभियान रोक कर वापस कैंप में लौट आए। लापता सदस्यों की खोजबीन के लिए शुक्रवार दोपहर बाद से रेस्क्यू शुरू किया गया था।

Post a Comment

Powered by Blogger.