Halloween party ideas 2015

  •  23 सितम्बर को आयोजित होगा आरोग्य मंथन कार्यक्रम : डॉ. धनसिंह
  • मीडिया कर्मियों के साथ होगा संवाद, मांगे जायेंगे सुझाव
  • स्वास्थ्य विभाग के लंबित प्रस्ताव कैबिनेट में रखने के दिये निर्देश


देहरादून:


अटल आयुष्मान योजना की तीसरी वर्षगांठ पर 23 सितम्बर 2021 को देहरादून में आरोग्य मंथन कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा। जिसमें मीडिया कर्मियों के साथ संवाद तथा बेहत्तर स्वास्थ्य सेवाओं के लिए उन से भी सुझाव आमंत्रित किये जायेंगे। जबकि 17 सितम्बर 2021 को राज्य के 30 स्थानों पर निःशुल्क पैथौलॉजी जांच सेवा का शुभारम्भ किया जायेगा। इसके अलावा चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग के लंबित प्रकरणों पर आधारित प्रस्तावों को आगामी कैबिनेट की बैठक में रखा जायेगा। 


सचिवालय स्थित सभागार में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के उपरांत जानकारी देते हुए सूबे के स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने बताया कि आगामी 23 सितम्बर को सरकार अटल आयुष्मान योजना के तीन वर्ष पूरे होने पर एक कार्यक्रम आयोजित करेगी। जिसको आरोग्य मंथन का नाम दिया गया है। इस कार्यक्रम में राजधानी के मीडिया कर्मियों को आमंत्रित कर संवाद के साथ ही स्वास्थ्य सेवाओं तथा अलट आयुष्मान कार्ड एवं गोल्डन कार्ड पर सुझाव आमंत्रित किये जायेंगे। डा. रावत ने बैठक में विभागीय अधिकारियों को क्लीनिकल एस्टेबलिसमेंट एक्ट में छूट संबंधी प्रस्ताव, आशा कार्यकत्रियों की नियमावली एवं मेडिकल कालेजों से संबंधी नियमावली तथा  अन्य लंबित मामलों का प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट में लाने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि आपदा मद से प्राप्त धनराशि का शीघ्र उपयोग कर विभाग को उपयोगिता प्रमाण पत्र जारी किया जाय। मुख्यमंत्री घोषणा के अंतर्गत राजकीय चिकित्सालयों में आने वाले मरीजों को निःशुल्क दवा वितरण तथा सरकार द्वारा अनुमन्य निःशुल्क पैथौलॉली संबंधी जांच की तैयारी व्यापक स्तर पर करने के निर्देश दिये। डा. रावत ने बताया कि राज्य के 30 स्थानों पर 17 सितम्बर 2021 को निःशुल्क पैथौलाजी जांच सेवा का शुभारम्भ किया जायेगा जिसका श्रीगणेश देहरादून में मुख्यमंत्री तथा अन्य स्थानों पर स्थानीय विधायक, जिला पंचायत अध्यक्ष, जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारी करेंगे। विभागीय मंत्री ने अधिकारियों को 108, 104 व 102 टोल फ्री नंबरों की सेवाओं को और बेहत्तर बनाने के साथ ही आम लोगों को अधिक से अधिक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। 


बैठक में सचिव अमित नेगी, मिशन निदेशक एनएचएम सोनिक, अपर सचिव अरूणेन्द्र चौहान, अपर सचिव गरिमा रौकली, महानिदेशक स्वास्थ्य डा. तृप्ति बहुगुणा, मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना, उप निदेशक चिकित्सा शिक्षा डा. एम.के. पंत मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य कोर्डिनेटर आनंद मोहन रतूडी सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।  



Post a Comment

Powered by Blogger.