Halloween party ideas 2015

मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने भारी बारिश के कारण नदी में अधिक पानी आ जाने से क्षतिग्रस्त सहस्त्रधारा-मालदेवता मार्ग का स्थलीय निरीक्षण किया। मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी देहरादून आर राजेश कुमार को नदी को चैनलाईज करने और सङक के क्षतिग्रस्त भाग को जल्द से जल्द दुबारा ठीक कराए जाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने स्थानीय लोगों से भी मुलाकात की। इस अवसर पर विधायक श्री उमेश शर्मा काउ भी मौजूद थे।  



  • भारी बारिश के कारण नदी का जलस्तर बढ़ने से  रानिपोखरी में देहरादून ऋषिकेश मार्ग पर जाखन नदी पर बने  पुल का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त होने की सूचना पर जिलाधिकारी डॉ आर राजेश कुमार ने स्थलीय निरीक्षण किया.

    जनपद में विगत दिनों से हो रही भारी वर्षा के कारण नदियों का जल स्तर बढ़ने, भूकटाव होने, लैडंस्लाइड की घटनाएं बढ़ी है, जिसको दृष्टिगत रखते हुए जिलाधिकारी डाॅ0 आर राजेश कुमार द्वारा निरंन्तर प्रभावित क्षेत्रों का निरीक्षण कर जिला प्रशासन एवं सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों को प्रभावितों को तत्काल अहैतुक सहायता प्रदान करने, प्रभावित क्षेत्रों में फौरी राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिये गये है। 

    आज जनपद के रानीपोखरी में ऋषिकेश देहरादून सम्पर्क मार्ग पर बने जाखन नदी पुल का  कुछ हिस्सा क्षतिग्रस्त होने की सूचना पर जिलाधिकारी डाॅ0 आर राजेश कुमार ने मौके पर पहुंचकर सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को पुल के दोनों तरफ 24 घंटे पुलिस के जवान तैनात करने, चैतावनी बोर्ड लगाने तथा राष्ट्रीय राजमार्ग एवं लोनिवि के अधिकारियों को आवागमन हेतु वैकल्पिक व्यवस्था करने के निर्देश दिए। उन्होंने देहरादून से ऋषिकेश के लिए आने वाले वाहनों को भानियावाला से हरिद्वार-नेपाली फार्म वाले रुट से भेजने तथा ऋषिकेश से देहरादून आने वाले वाहनों को नटराज चैक से बाईपास होते हुए नेपाली फार्म-देहरादून वाले रुट से भेजने के निर्देश दिए। इसके अतिरिक्त उन्होंने आमजन की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए पुलिस विभाग को चैकन्ना रहते हुए पुल पर किसी भी प्रकार की आवाजाही न होने देने के निर्देश दिए। 

    इससे पूर्व जिलाधिकारी डाॅ0 आर राजेश कुमार ने खैरीमानसिंह,बंडावाला में वर्षा के कारण नदी का जलस्तर बढ़ने से सड़क बहने, भूकटाव की सूचना पर प्रभावित क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण कर नुकसान का जायजा लिया। इस दौरान माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड सरकार पुष्कर सिंह धामी, स्थानीय विद्यायक उमेश शर्मा काऊ ने भी प्रभावित क्षेत्र का स्थलीय निरीक्षण कर जिलाधिकारी एवं कार्यदायी संस्था लोनिवि के अधिकारियों को क्षतिग्रस्त सड़क को जल्द से जल्द ठीक करते हुए आवाजाही सुचारू करने के निर्देश दिए। 

    जिलाधिकारी ने निरीक्षण के दौरान खैरीमानसिंह में क्षतिग्रस्त हुए सड़कों, क्षेत्रीय लोगों की क्षतिग्रस्त हुए सम्पत्ति का आगणन करने के निर्देश लोनिवि एवं राजस्व विभाग के अधिकारियों को दिए। उन्होंने सभी अधिकारियों को दैवीय आपदा की सूचनाओं पर तत्काल संज्ञान लेते हुए आवश्यक कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी ने प्रभावितों को अहैतुक सहायता, नदी किनारे बसे लोगों को सुरक्षित स्थान पर विस्थापित करने, क्षतिग्रस्त सड़कों, लैडस्लाइड जोन में चैतावनी बोर्ड लगाने पहाड़ी क्षेत्रों में वर्षा काल के दौरान देर रात्रि आवागमन पर विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश पुलिस, लोनिवि, जिला प्रशासन सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया। 



    खैरीमानसिंह ने निरीक्षण के दौरान उपजिलाधिकारी सदर गोपालराम बिनवाल, तहसीलदार सदर दयाराम, लोनिवि,सिचांई विभाग के अधिकारियों सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं क्षेत्रीय लोग मौजूद रहे तथा रानीपोखरी में निरीक्षण के दौरान पूर्व विद्यायक हीरा सिंह बिष्ट, उपजिलाधिकारी डोईवाला लक्ष्मीराज चैहान, राष्ट्रीय राजमार्ग के प्रमुख अभियन्ता हरिओम शर्मा, लोनिवि के अधिकारियों सहित पुलिस एवं  स्थानीय जनप्रतिनिधि व क्षेत्रीय लोग मौजूद रहे। 

    मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य के 200 राजकीय माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने राज्य के विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राओं, अभिभावकों व अध्यापकों से वर्चुअल संवाद भी किया।

     
  •  स्कूलों में छात्राओं के लिए होगी पृथक शौचालय की व्यवस्था: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी
  • शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति और श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति की राशि में बढोतरी की घोषणा
  • छात्र छात्राओं, अभिभावकों और अध्यापकों से वर्चुअल संवाद किया


मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी विद्यालयों में छात्राओं के लिए अलग से शौचालय की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी। मुख्यमंत्री ने शिवानंद नौटियाल छात्रवृत्ति की राशि को 250 रूपये से बढाकर 1500 रूपये करने और साथ ही इसके लाभान्वितों की संख्या को 11 से बढाकर 100 करने की घोषणा की। उन्होंने श्रीदेव सुमन राज्य मेधावी छात्रवृत्ति की राशि को 150 रूपये से बढाकर 1000 रूपये करने की भी घोषणा की। 


*1 से 14 सितम्बर तक प्रवेश पखवाडा और 15 सितम्बर को नवप्रवेशित बच्चों के लिए स्वागोत्सव*


मुख्यमंत्री ने अटल उत्कृष्ट विद्यालयों सहित सभी शासकीय विद्यालयों में 1 से 14 सितम्बर 2021 तक प्रवेश पखवाडा एवं 15 सितम्बर 2021 को नवप्रवेशित बच्चों के लिए स्वागोत्सव मनाये जाने की भी घोषणा की।


*व्यावसायिक शिक्षा में 8 ट्रेड प्रारंभ*


मुख्यमंत्री ने सभी को शुभकामनायें देते हुए कहा कि माध्यमिक विद्यालयों में व्यावसायिक शिक्षा कार्यक्रम में 8 ट्रेड प्रारंभ किये गये हैं। इससे हमारे बच्चों का स्किल डेवलपमेंट होगा जो कि उनके कैरियर में सहायक होगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में प्रारंभ नई शिक्षा नीति में भी स्किल डेवलपमेंट पर बल दिया गया है। 


*आम बच्चों तक क्वालिटी एजुकेशन की पहुंच*


मुख्यमंत्री ने कहा कि बच्चों के लिये अच्छे से अच्छा जो भी हो सकता है, सरकार कर रही है। कोशिश है कि आम बच्चों तक क्वालिटी एजुकेशन की पहुंच बने। कोविड काल में आनलाईन एजुकेशन की महत्ता बढी है। सरकार राज्य के राजकीय विद्यालयों के 10 वीं और 12 वीं के छात्र छात्राओं को प्री लोडेड कंटेंट के साथ मोबाईल टैबलेट जल्द उपलब्ध कराएगी।  500 विद्यालयों में वर्चुअल क्लास की स्थापना की गई है जबकि 600 और विद्यालयों में वर्चुअल क्लास प्रस्तावित हैं।  सभी विद्यालयों में एनसीईआरटी की पुस्तकें अनिवार्य की गई हैं। 189 विद्यालय सीबीएसई मान्यता के साथ इंग्लिश मीडियम में प्रारंभ किये गये हैं। 


*पूर्ण मनोयोग से करें परिश्रम तो सफलता मिलेगी*


मुख्यमंत्री ने वर्चुअल संवाद करते हुए कहा कि अपनी रूचि के अनुसार कैरियर का चयन करें और फिर पूरे मनोयोग से परिश्रम करें। सामान्य परिस्थितियों से उठे लोगों ने अपने संघर्ष से आसमान को छूआ है। स्वर्गीय डाॅ एपीजे अब्दुल कलाम ने रामेश्वरम से राष्ट्रपति पद तक का सफर तय किया। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी का जीवन भी हम सभी के लिए अनुकरणीय है। परिश्रम, संकल्प और दृढ इच्छाशक्ति हो तो कोई काम असम्भव नहीं है। विकल्प रहित संकल्प होना चाहिए। भगवान भी उसी का साथ देते हैं जो खुद का साथ देते हैं। कहा भी गया है कि मन के जीते जीत है, मन के हारे हार। स्वामी विवेकानन्द जी ने कहा है कि मनुष्य की सीमाएं अनंत हैं। 

शिक्षा मंत्री श्री अरविंद पाण्डेय ने कहा कि वर्ष 2017 से उत्तराखण्ड में स्कूल एजुकेशन मे काफी काम किया गया है। विषयवार अध्यापकों की नियुक्ति की गई है। अतिथि शिक्षकों का वेतन 15 हजार रूपये से बढाकर 25 हजार रूपए करने का निर्णय लिया गया है। नई शिक्षा नीति के अनुरूप कौशल विकास पर बल दिया जा रहा है। नीति आयोग द्वारा शैक्षिक गुणवत्ता मे उत्तराखण्ड को चौथे स्थान पर रखा गया है। कार्यक्रम में विभिन्न विद्यालयों के छात्र छात्राओं, अभिभावकों व अध्यापकों ने भी अपनी बात रखी। 

इस अवसर पर सचिव श्रीमती राधिका झा, महानिदेशक माध्यमिक शिक्षा श्री बंशीधर तिवारी, निदेशक श्रीमती सीमा जौनसारी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

Post a Comment

Powered by Blogger.