Halloween party ideas 2015

 देहरादून:


.18 जुलाई 2021 को देहरादून में स्व.कमलाराम नौटियाल की सुपुत्री डा.मधु थपलियाल जो रायपुर महाविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर हैं, द्वारा अपने पिता के जन संघर्षों पर संकलित पुस्तक "लीडर" के विमोचन समारोह में जाने का मौका मिला। 

कोटद्वार महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो.जानकी पंवार के साथ समारोह में उपस्थित वक्ताओं द्वारा स्व.कमलाराम नौटियाल की नेतृत्व क्षमता पर व्यक्त विचार सुने तो उत्तरकाशी में कमलाराम नौटियाल के जीवन दर्शन का एक-एक चित्र आंखों के सामने आता गया।मेरे पिता स्व.सांई दास उनके खासे मुरीद थे।हम भी कमलाराम नौटियाल के ओजस्वी भाषण सुनकर ही बड़े हुए।




शब्द संस्कृति प्रकाशन द्वारा मुद्रित और प्रकाशित 250 पृष्ठों में विभिन्न चित्रों और आलेखों से सजी पुस्तक "लीडर" निस्संदेह कमलाराम नौटियाल के संपूर्ण जीवन दर्शन की सशक्त अभिव्यक्ति है।उनके हृदय में भ्रष्टाचारियों के प्रति आक्रोश एवं गरीबों के प्रति संवेदना साफ झलकती थी।

वे जन-जन के विकास एवं लोक संस्कृति, परंपरा, धरोहर के विकास के लिए राजनीति से ऊपर उठकर कार्य करते थे।पुस्तक को तीन भागों में विभाजित किया गया है।प्रथम भाग में उनके जीवन, सामाजिक और राजनीतिक यात्रा, दूसरे भाग में संस्मरण और तीसरे भाग में संघर्षों के दस्तावेज तस्वीरों की बानगी को प्रस्तुत किया गया है

.विमोचन समारोह में उनकी पत्नी श्रीमती कमला नौटियाल की उपस्थिति ने उनकी यादों को जीवंत कर दिया। निस्संदेह पुस्तक "लीडर" का प्रकाशन अपने उद्देश्य को साकार करता है।

 प्रो.के.एल.तलवाड़

Post a Comment

Powered by Blogger.