Halloween party ideas 2015

 आपदा पीड़ितों के लिए पहुंचायी खाद्य सामग्री


उत्तरकाशी :





जनपद में प्राकृतिक आपदा से पीड़ित ग्रामीणों की मदद के लिए शासन-प्रशासन के साथ-साथ तमाम सामाजिक संगठनों ने मदद के हाथ बढ़ाए है। इस क्रम में हमेशा की तरह सामज सेवा के क्षेत्र में अग्रणीय भूमिका निभा रहे हंस फाउंडेशन भी उत्तरकाशी आपदा पीड़ितों की मदद के लिए आगे आया है। फाउंडेशन ने आपद ग्रस्त क्षेत्र के ग्रामीणों तक खाद्य सामग्री पहुंचा ग्रामीणों को इस आपदा के समय में बड़ी मदद पहुंचाई है। 

आपको बता दें की रविवार 18 जुलाई को देर रात बादल फटने से उत्तरकाशी के मांडो,पनवाड़ी और कंकराड़ी गांव के साथ निराकोट गांव में भारी नुकसान पहुंचा है। हालांकि, निराकोट में किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है। लेकिन ग्रामीणों के खेत सहित घरों को नुकसान पहुंचा है। गांव में बादल फटने की घटना में 3 लोगों की मौत हो गई,4 लोग लापता बताए जा रहे हैं। बादल फटने के बाद से इस क्षेत्र के सड़क मार्ग बंद हो गए। जिससे इन गांव तक पुहंचने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। हंस फाउंडेशन की सदस्यों मनोज राणा,दीपक जोशी,नीरज पंवार,अमन,अंकित,जितेन्द्र, सतेन्द्र,राजपाल,अमित,राघवेन्द्र ने मंगलवार को लगातार हो रही भारी बारिश के बीच आपदा पीड़ितों तक खाद्य सामग्री पहुंचा,आपदा पीड़ित परिवारों का बड़ी राहत दी है।

इस बारे में जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने बताया की उत्तराकाशी के मांडो,कंकराड़ी,पनवाड़ी और निराकोट गांव में रविवार रात बादल फटने की घटना से ग्रामीण का काफी नुकासन हुआ है। हम इस नुकासन का आकलन कर रहे है। इस बीच प्रभावित लोगों को तत्काल मदद के तौर पर जो भी सहयोग चाहिए वह किया जा रहा है। आपदा प्रभावित ग्रामीणों की मदद के लिए तमाम सामाजिक संगठन भी आगे आए है। इस क्रम हंस फाउंडेशन की तरफ से आपदा पीड़ितों तक राहत सामग्री पहुंची है। जिसे आपदा प्रभावित ग्रामीणों को वितरित किया गया है। 

हंस फाउंडेशन की संस्थापक माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज ने रविवार रात उत्तरकाशी के ग्राम निराकोट, कंकराड़ी, पनवाड़ी और मांडो में अतिवृष्टि के कारण मारे गए लोगों के प्रति शोक संवेदना प्रकट करते हुए उनकी आत्मा की शांति एवं शोक संतप्त परिवारजनों को धैर्य प्रदान करने की ईश्वर से प्रार्थना की है। हंस फाउंडेशन द्वारा आपदा प्रभावित गांव में पहुंचाई गई मदद के लिए आपदा पीड़ित ग्रामीणों ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी का आभार व्यक्त किया है।

आपको बता दे इस आपदा में कंकराड़ी गांव में जयेंद्र पंवार, मोहन सिंह, बलवीर सिंह, शूरवीर सिंह, सुरेंद्र सिंह, विक्रम सिंह, केशर सिंह, छोटे लाल, धर्म सिंह, राम सिंह, लक्ष्मण सिंह, उत्तम सिंह, गुलाब सिंह, धन सिंह के मकान भूस्खलन की जद में आ गए हैं। इन परिवारों ने गांव के दूसरे परिवारों के यहां शरण ली है, जबकि मांडो गांव में 30 से अधिक परिवारों ने गांव में परिचितों के यहां शरण ली है। वहीं जिलाधिकारी मयूर दीक्षित ने खतरे की जद में आए आवासीय मकानों को खाली करवाने तथा निकट के सरकारी भवनों में शिफ्ट करने के निर्देश दिए हैं।


आपदा की स्थिति में इन नंबरों पर करें फोन 

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने इस मौके पर लोगों से अपील की हैं की आप किसी भी आपदा की स्थिति में आपदा की सूचना राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष के फोन नंबरों 0135-2710334, फैक्स नंबर 0135-2710335, टोल फ्री नंबर 1070, 9557444486 पर तत्काल सूचना देंगे। साथ ही पीड़ित या अन्य कोई भी व्यक्ति इन नंबरों पर फोन कर किसी भी दुर्घटना की सूचना दे सकता है।

Post a Comment

Powered by Blogger.