Halloween party ideas 2015

 

देहरादून :



जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार ने आज देर सांय दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस दौरान उन्होंने चिकित्सालयों की विभिन्न व्यवस्थाओं सहित निक्कू एवं पिक्कू वार्ड का भी निरीक्षण किया। 

निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर को देखते हुए जिला अस्पताल में बनाई जा रही व्यवस्थाओं की जानकारी मुख्य चिकित्सा अधीक्षक तथा प्राचार्य दून मेेडिकल कालेज के साथ ही मुख्य चिकित्साधिकारी से भी प्राप्त की। जिलाधिकारी ने दून मेडिकल कालेज में की गयी व्यवस्थाओं एवं तैयारियों पर नाराजगी जताते हुए आपसी समन्वय बनाकर वस्तुस्थिति से अवगत कराने को कहा ताकि अस्पताल में आने वाले मरीजों एवं बच्चों को स्वास्थ्य सुविधाओं का लाभ मुहैय्या कराया जा सके। उन्होंनें चिकित्सालय में बैड की स्थिति बढाये जाने एवं अन्य सुविधाएं सुव्यवस्थित करने के लिए एक्शन प्लान बनाने के निर्देश दिये तथा सम्भावित तीसरी लहर से निपटने हेतु अब तक की गयी तैयारियों एवं व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में एक सप्ताह के भीतर वस्तुस्थिति से अवगत कराने को कहा।  उन्होंने अस्पताल में 24 घण्टे आपातकालीन स्वास्थ्य सेवाओं को अमलीजामा पहनाने के लिए चिकित्सकों एवं ईएमओ की तैनाती सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। 

   


निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने सेन्ट्रल पैथोलाॅजी लैब, ब्लड बैंक, स्त्री प्रसूति प्रभाग, एचडीयू निक्कू एण्ड पिक्कू वार्डों के साथ ही कोविड संक्रमितों के उपचार हेतु बनाये गये वार्डों का भी निरीक्षण किया तथा साथ में चल रहे मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से इन वार्डों के सम्बन्ध में आवश्यक जानकारियां प्राप्त की गयी। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को चिकित्सालय में चलाई जा रही विभिन्न स्वास्थ्य सेवाओं के विषय में भी जानकारी प्राप्त की तथा निर्देशित किया कि चिकित्सालय में सभी व्यवस्थाएं सुचारू रूप से चलाई जायं। उन्होंने चिकित्सालय में कोविड-19 के संक्रमित एवं लक्षणयुक्त मरीजों के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि सम्भावित तीसरी लहर को देखते हुए चिकित्सालय में कम से कम 150 बैड की व्यवस्था तत्काल कराई जानी आवश्यक है, जिसके लिए चिकित्सा प्रबन्धन के माध्यम से एक्टिव प्लान बनाते हुए उसकी सूचना से अवगत कराया जाय। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने चिकित्सालय में रखे गये दवाओं एवं उपकरणों को व्यवस्थित ढंग से रखने के निर्देश दिये। 

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल द्वारा जिलाधिकारी को कोविड-19 के सम्बन्ध में जिला प्रशासन एवं चिकित्सा स्वास्थ्य विभाग द्वारा चलाए जा रहे व्यवस्थाओं के सम्बन्ध में विस्तार से जानकारी उपलब्ध कराई। निरीक्षण के दौरान मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ मनोज उप्रेती, दून मेडिकल कालेज के प्राचार्य डाॅ आशुतोष सयाना, दून चिकित्सालय के प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डाॅ के.सी पंत, डाॅ राधिका आदि उपस्थित थे। 


जनपदीय तथा कलेक्टेªट कार्मिकों द्वारा निवर्तमान जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव को दी गयी सम्मानजनक विदाई’’



 कलेक्टेªट सभागार में जनपद स्तरीय विभागों और कलेक्टेªट कार्मिकों द्वारा वर्तमान जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार का स्वागत किया गया तथा निर्वतमान जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव को सम्मानजनक विदायी दी गयी। इस दौरान पदभार ग्रहण करने वाले जिलाधिकारी डाॅ आर राजेश कुमार, मुख्य विकास अधिकारी नितिका खण्डेलवाल, अपर जिलाधिकारी प्रशासन वीर सिंह बुदियाल, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व गिरीश चन्द्र गुणवंत, नगर मजिस्टेªट कुश्म चैहान, समस्त उप जिलाधिकारियों, मुख्य कृषि अधिकारी विजय देवराड़ी, जिला सूचना अधिकारी प्रकाश सिंह भण्डारी सहित विभिन्न विभागीय अधिकारियों और कार्मिकों ने निर्वतमान जिलाधिकारी द्वारा ई-कलेक्टेªट, ई-आफिस कार्यप्रणाली के साथ-साथ कोविड-19 में जनपद में किये गये बेहतरीन कार्यों की सराहना करते हुए निर्वतमान जिलाधिकारी को इनोवेटिव और सकारात्मक व्यक्ति करार दिया। 

कार्मिकांे ने कहा कि उनके मार्गदर्शन में बनायी गयी ई-आफिस प्रणाली से फाइलों का मूवमेंट बहुत तीव्र हुआ है, जनता के कार्यों में बहुत तेजी आयी है। साथ ही पारदर्शिता आने से लोगों को तथा काम करने में कार्मिकों को बहुत सुविधा मिली है। दूसरी ओर कोविड-19 की अवधि में वर्चुअल बैठक के माध्यम से जिस तरह निर्वतमान जिलाधिकारी ने कुशल नेतृत्व का परिचय दिया वह भी काबिलेतारीफ था जिससे जनपद देहरादून जैसे जहां दिशा-निर्देश के लोग रोजाना मूवमेंट करते हैं फिर भी उनके कुशल नेतृत्व में बहुत तेजी से कोरोना पर नियंत्रण स्थापित किया गया। इस दौरान विदाई समारोह में विभिन्न जनपद स्तरीय अधिकारी व कार्मिक उपस्थित रहे।  



देहरादून :

आसन फील्ड फायरिंग रेंज में सैन्य अभ्यास  हेतु अनुमति प्रदान किये जाने हेतु सैना के अनुरोध पर जिला प्रशासन द्वारा सशर्त/ प्रतिबन्धों के साथ सेना को 16 जुलाई से 30 जुलाई 15 दिनों की अवधि के लिए अनुमति प्रदान की गई है।


Post a Comment

Powered by Blogger.