Halloween party ideas 2015

 

हरमीत इंदौरिया को इंसाफ नहीं मिला तो चमार वाल्मीकि महासंघ करेगा आंदोलन


सिंह द्वार के समीप हरमीत इंदौरिया पर हुए जानलेवा हमले में 18 दिन बीत गए हैं और अभी तक पुलिस ने एफ आई आर दर्ज नहीं की है जिसके लिए चमार वाल्मीकि महासंघ के अध्यक्ष भंवर सिंह अपने साथियों और पीड़ित के साथ थाना कनखल में मौजूद एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय  से मुलाकात करने पहुंचे तथा उनसे न्याय करने की गुहार लगाई एसपी सिटी ने हमलावरों पर कार्यवाही करने का आश्वासन दिया जिसके बाद वाल्मीकि महासंघ के लोगों ने उनका धन्यवाद किया भंवर सिंह जीने वहां मौजूद पत्रकारों को बताया के पीड़ित एससी एसटी एक्ट के अंतर्गत आता है य


दि पुलिस ने एफ आई आर दर्ज करने में किसी भी प्रकार की कोई ढील दी तो वाल्मीकि समाज और एससी एसटी एक्ट से जुड़े हुए तमाम समाजिक संगठन हरिद्वार में बहुत बड़ा आंदोलन करेंगे!

31 मई को रात 10:30 बजे के आसपास हरमीत इंदौरिया पर  कुछ पत्रकारों और उनके साथियों द्वारा जानलेवा हमला किया गया जिसमें पीड़ित हरमीत इंदौरिया बुरी तरह से घायल हो गए और बेहोश होकर वहीं गिर पड़े हरमीत इंदौरिया को मरा समझ यह सभी हमलावर सड़क किनारे गड्ढे में डाल कर भाग खड़े हुए हमला घरों में वंदना गुप्ता पत्रकार आशु शर्मा और संचित ग्रोवर का नाम मुख्य अभियुक्तों में है पुलिस उनके साथियों को भी ढूंढ रही है पुलिस के मुताबिक बहुत जल्द इस केस में कार्यवाही की जाएगी क्योंकि शिकायत डीजीपी दफ्तर से हुई है इसलिए  एक आईपीएस अधिकारी इस केस की तफ्तीश कर रही हैं

हरमीत इंदौरिया पर हमले से पहले भी यह सभी हमलावर एक रिटायर्ड अध्यापक पर भी जानलेवा हमला कर चुके हैं जिसकी रिपोर्ट कनखल थाने में दर्ज है साथ ही बता दें की पीड़ित हरमीत इंदौरिया रिटायर्ड अध्यापक वाले केस में चश्मदीद गवाह था इसी वजह से यह सभी हमलावर हरमीत इंदौरिया से रंजिश रखने लगे थे हरमीत इंदौरिया ने बताया की यह सभी हमलावर उनको पहले भी डरा धमका चुके थे

Post a Comment

Powered by Blogger.