Halloween party ideas 2015

 

देहरादून :

 






जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने आज आईटीडीए में बनाए गए कोविड कन्ट्रोलरूम  का निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का जायजा लिया। कन्ट्रोलरूम में 05 पीआरआई लाईन लगा दी गई हैं जिसका नम्बर 0135-2724506 है। कन्ट्रोलरूम में 24 घण्टे  आयुर्वेदिक चिकित्सकों के माध्यम से होम आयशोलेशन में रह रहे व्यक्तियों को चिकित्सा सम्बन्धी परामर्श उपलब्ध कराया जाएगा। कन्ट्रोलरूम में आज चिकित्सकीय परामर्श हेतु  136 काल्स प्राप्त हुई है।

कोविड-19 से सकं्रमित वृद्ध व्यक्तियों एवं सैम्पलिंग के समय पता व मोबाईल नम्बर गलत होने के कारण होम आयशोलेशन रह रहे संक्रमित व्यक्तियों से सम्पर्क नही होने के फलस्वरूप दूरभाष के माध्यम से ऐसे व्यक्तियों से प्राप्त समस्या का निस्तारण कराए जाने हेतु जिलाधिकारी डाॅ0 आशीष कुमार श्रीवास्तव के निर्देशों के अनुपालन में  जिला आपदा परिचालन केन्द्र में पृथक से 2 हेल्पलाईन न0 जारी किए गए हैं.

जिनमें वृद्ध व्यक्त्यिों हेतु न0 6397803424, होम आयशोलेशन  हेतु न0 7819067734 जारी किए गए हैं। उक्त हेल्पलाईन न0 पर प्राप्त सूचनाओं/समस्याओं को नोडल अधिकारी को अवगत कराते हुए अनुश्रवण एवं निस्तारण अधिकारी/कर्मचारी को सबद्ध किया गया है, जिनमें  पवन नौटियाल, एस.एलए..ओ कार्यालय एवं प्रशान्त, जि0 नि0 कार्यालय प्रातः 07 बजे से अपरान्ह 02 बजे तक, रतन सिंह एवं आलोक शर्मा वरिष्ठ लिपिक कलेक्टेªट अपरान्ह 02 बजे से रात्रि 09 बजे तक दिए गए दायित्वों का निर्वहन करेंगे। इसके अतिरिक्त रात्रि 09 बजे से प्रातः 07 बजे तक 0135-2726066 पर सम्पर्क किया जा सकता है। 

जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिए कि होम आयशोलेशन किट के साथ परामर्श/आयुष सम्बन्धी चार्ट भी भेजा जाए, जिससे संक्रमित व्यक्ति अपनी डाईट के प्रति जागरूक रहे। जिलाधिकारी ने समस्त सम्बन्धित उप जिलाधिकारियों को तहसीलवार एम्बुलेंस का रजिस्टेªशन एवं एम्बुलेंस स्वामी का नम्बर जनपद मुख्यालय को प्रेषित करेंगे। उन्होनें समस्त उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र में दक्ष कार्मिक को नामित करते करते हुए  मांग के अनुसार एम्बुलेंस भेजने के निर्देश दिए तथा जनपद मुख्यालय पर सीएमओ कार्यालय द्वारा मांगानुसार एम्बुलेंस भेजने के निर्देश दिए। 

उन्होंने महाराणा प्रताप स्पोर्टस कालेज में अवस्थित कोविड केयर सेन्टर में सैम्पलिंग की व्यवस्था करने तथा स्टाफ बढाने के साथ ही सीमा चैक पोस्ट पर आने वाले प्रत्येक व्यक्ति सैम्पलिंग कराने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिए। जनपद के सभी चिकित्सालयों के नोडल अधिकारियों के नम्बर सही कर लिए जांए ताकि जनमानस को किसी प्रकार की असुविधा ना हो। 

 उन्होंने सभी चिकित्सालयों को निर्देशित किया कि चिकित्सालयों द्वारा जो नम्बर दिए गए हैं उन सभी नम्बरों को सक्रिय रखेगें तथा प्रत्येक काॅल रिसीव करेंगे। उन्होंने उप जिलाधिकारी सदर को कोरोनेशन में सुरक्षा व्यवस्था बढाने के निर्देश दिए। उन्होंने महन्त इन्दे्रश अस्पताल एवं सिनर्जी में बैड बढाने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी चिकित्सालयों के अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोविड संक्रमण से सम्बन्धित लक्षण वाले व्यक्तियों को कोविड संक्रमित मानते हुए उपचार दिया जाए, रिपोर्ट ना होने की दशा में उपचार हेतु मना नही किया जाएगा, बल्कि संक्रमित की तर्ज पर उपचार दिया जाए। उन्होंने सभी उप जिलाधिकारियों को 18-44 वर्ष तक व्यक्तियों के वैक्सीनेशन कार्य हेतु जम्बो साइट्स चिन्हित करते हुए सूचना से तत्काल अवगत कराने के निर्देश दिए।   

कोविड-19 संक्रमण के बढते प्रसार की रोकथाम हेतु जिलाधिकारी ने समस्त उप जिलाधिकारियों अपने-अपने क्षेत्रों समय-समय पर जारी गाईडलाइन्स कड़ाई से पालन करवाने के निर्देश दिए तथा पुलिस विभाग के समन्वय से बाजारों, सब्जी मण्डी, माॅल, सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग तथा सामाजिक दूरी के नियमों का कड़ाई से पालन करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कन्टेंनमेंट जोन में नियमित सर्विलांस कार्य करते हुए कान्टेक्ट टेªसिंग कार्यों में तेजी लाई जाए।  कोविड-19 के लक्षण पाए जाने पर सम्र्बिन्धत को पृथक करते हुए सैम्पलिंग करवाई जाए तथा  होम आइसोलेशन अथवा स्वास्थ्य की स्थिति के अनुसार कोविड केयर सेन्टर में रखा जाए। उन्होंने कहा कि जनपद की सीमावर्ती चैकपोस्टों पर टेस्टिंग कार्य में तेजी लाए संक्रमण के दृष्टिगत संदिग्ध व्यक्तियों को भीड़ से पृथक करते हुए नियमों के अनुसार अग्रिम कार्यवाही अमल में लाई जाए। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को सैम्पलिंग बढाने के निर्देश दिए। कन्टेंनमेंट जोन क्षेत्र में निगरानी कार्यों की नियिमत समीक्षा की जाए। साथ ही जिन क्षेत्रों में संक्रमित व्यक्ति चिन्हित हो रहे हैं ऐसे स्थानों को कन्टेनमेंट जोन बनाया जाए। 


जिलाधिकारी डाॅं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के  दृष्टिगत प्राप्त हुई रिपोर्ट में 2266 व्यक्तियों की रिपोर्ट पाॅजिटिव प्राप्त होने के फलस्वरूप जनपद में आतिथि तक कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 64322 हो गयी है, जिनमें कुल 44887 व्यक्ति उपचार के उपरान्त स्वस्थ हो गये हैं। वर्तमान में जनपद में 17431 व्यक्ति उपचाररत हैं। आज जांच हेतु कुल 11526 सैम्पल भेजे गए। जनपद में आज 43618 व्यक्तियों का कम्यूनिटी सर्विलांस किया गया जिसमें 127 व्यक्तियों में कोविड-19 संक्रमण सम्बन्धी लक्षण पाए जाने पर स्वास्थ्य विभाग को सैम्पलिंग लेने के निर्देश दिए गए। जनपद के शहरी क्षेत्र में आज एसडीआरएफ की टीम द्वारा 1321 होमआयशोलेशन किट वितरण किये गए। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में प्रातः 08 बजे से रात्रि 09 बजे तक किट वितरण का कार्य चलाया जाए। जनपद में अस्पताओं को 1545 एवं  आम नागरिकों 120 सिलेण्डर वितरित किये।

जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव के निर्देशों के अनुपालन मे विधिक माप विज्ञान विभाग एवं नायब तहसीलदार ऋषिकेश  द्वारा छोटी सब्जी मण्डी, हरिद्वार रोड आई0डी0पी0एल0 सीटीगेट, श्यामपुर बाईपास, कोयलघाटी, यात्रा बस अड्डा, फल-सब्जी एवं परचून विक्रेताओं के दुकानों का निरीक्षण किया गया, जिसमें उनके द्वारा घटतौली करने एवं अपने तौल उपकरणों को विधिक माप विज्ञान विभाग ऋषिकेश से सत्यापन नही कराए जाने पर 19 व्यापारियों के चालान किए गए।

 एक बड़े थोक राशन व्यापारी द्वारा विक्रय किए जाने वाले रिफाईण्ड तेल के कनस्तर पर विभागीय नियमानसुार घोषणाएं अंकित नहीं पाए जाने पर विधिक माप विज्ञान (पैक में रखी वस्तुएं) नियमावली 2011 के तहत् उनका चालान किया गया। इस प्रकार कुल 20 व्यापारियों के चालान किए गए। इसी प्रकार विकासनगर क्षेत्रान्तर्गत विधिक माप विभाग एवं राजस्व विभाग की टीम द्वारा 30 दुकानों का निरीक्षण किया, जिसमें मानकों के अनुरूप ना पाए जाने पर  9 व्यापारियों के चालन किए गए। 



Post a comment

Powered by Blogger.