Halloween party ideas 2015

 शासन-प्रशासन की भेंट चढ़ा डालगांव बासर का पानी







हर घर जल हर घर नल और जल जीवन मिशन जैसी योजनाएं परवान नहीं चढ़ पाई उत्तराखंड में इसका एक जीता जागता उदाहरण टिहरी गढ़वाल के तहसील बालगंगा के एक गांव डाल गांव वाटर का है जहां लोग आज बूंद-बूंद पानी को तरस रहे हैं प्राकृतिक रूप से आने वाला पानी भी सूख कर एक रह गया है नहाने धोने के लिए भी गांव में पानी नहीं है बड़ी मुश्किल से पीने का काम चल रहा है उसके लिए भी घंटों खाली बर्तन लिए लाइन में लगे रहना पड़ता है ।यह कैसा विकास है मनुष्य की मूलभूत सेवा जल की आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है और आखिर इसका जिम्मेदार है कौन ? यह शिकायत दी गई है,ग्राम-डालगांव बासर,पोस्ट ऑफिस-खवाडा बासर,तहसील-बालगंगा टिहरी गढ़वाल की जनता ने।

20-20 लीटर जल के लिए ग्राम वासियों को 2 से 3 घंटे तक इंतजार करके लंबी लाइन लगानी पड़ रही है।  मुख्यमंत्री और  प्रधानमंत्री  की योजना थी कि 'हर घर जल,हर घर नल' वह भी शासन-प्रशासन की भेंट चढ़ चुकी है जो लोगों के घर में पहले से लगे थे उन पर भी 20 दिन से पानी नहीं पहुंचा।

यहां पानी श्रीगढ़ नामक तौक से उनके गांव पहुंचता था । लेकिन बीच में  कई गांव होने के कारण यह पानी उनके गांव तक नहीं पहुंच पा रहा है। अब  पानी केवल लोगों के लिए एक आस बनकर रह गया है। 

ग्रामीणों ने घनसाली विधायक श्री शक्ति लाल शाह  से और अन्य जनप्रतिनिधियों से निवेदन  भी किया है कि इस समस्या पर अमल करने  की कृपा करें।

 अन्यथा डालगांव के ग्राम वासियों द्वारा उग्र आंदोलन किया जाएगा जिसके जिम्मेदार समस्त जनप्रतिनिधि और घनसाली विधायक श्री शक्तिलाल शाह जी होंगे।

             


Post a Comment

Powered by Blogger.