Halloween party ideas 2015

 

 



आज उत्तराखंड में कोविड टीकाकरण के 529 सत्र आयोजित किये गए। आज 25890 लोगों का वैक्सीनेशन किया गया। अब तक कुल मिलाकर 124659 लोगों को पूर्ण रूप से टीकाकरण किया गया है, जबकि कल 60 वर्ष से ऊपर 349794 व्यक्तियों  को पहली खुराक का टीकाकरण किया गया है। 45-59 वर्षीय 39577 व्यक्तियों  को पहली खुराक का टीकाकरण किया गया है।






उत्तराखंड में आज कोरोना पॉजिटिव के 500 रिकॉर्ड मामले आये है । जिसे मिलाकर उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के कुल मामले अब 100911 हो गए हैं। जिसमें सक्रिय मामलो की संख्या 2236 है, आज 125 लोग ठीक हो चुके है, कुल रिकवर मामलों की संख्या 95455 है। अभी तक 1719  लोगों की मृत्यु हो चुकी है।

17370  लोगों के सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव पाए गए हैं। अभी तक कुल 2656868 सैंपल रिपोर्ट नेगेटिव आयी है। 15752 की रिपोर्ट आनी बाकी है।

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के ठीक होने की दर घटकर 94.59 % हो गयी है। उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के 06 क्षेत्र बन गए है।

 जिनमें से  देहरादून में 04 कन्टेनमेंट जोन है-

 जो मसूरी गोल्वे कॉटेज, सेंट जॉर्ज स्कूल बर्लोगंज(18/03/2021) , मकान नम्बर 144 नेहरू कॉलोनी, देहरादून(28/03/2021) , सरस्वती सोनी मार्ग लक्ष्मण चौक देहरादून(30/03/2021), C-177 ,गोविन्द नगर रेस कोर्स देहरादून

 01 कन्टेनमेंट जोन  गुमानीवाला गली नंबर 08(28/03/2021)ऋषिकेश 

01 संक्रमित क्षेत्र गीता कुटीर गीता संस्कृत महाविद्यालय हरीपुर कलां हरिद्वार में है

आज उत्तराखंड में 02 कोरोना संक्रमितो की मृत्यु हुई है  जिसमें से एम्स ऋषिकेश से 01, और कैलाश अस्पताल अस्पताल से 01की मृत्यु हुई  है।

 

45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों के लिए COVID-19 टीकाकरण आज शुरू हुआ। 45 से अधिक वर्ष से अधिक व्यक्ति जो , 1 जनवरी 1977 से पहले पैदा हुए व्यक्ति हैं।

टीकाकरण के लिए नियुक्ति की बुकिंग के लिए 45 वर्ष या उससे अधिक आयु के सभी व्यक्ति CoWIN सिस्टम में अपना पंजीकरण करा सकते हैं। ऐसे व्यक्तियों का ऑनसाइट पंजीकरण भी अनुमन्य होगा। लोग किसी भी पहचान दस्तावेज के साथ ऑन-साइट पंजीकरण के लिए 3 बजे के बाद अपने निकटतम टीकाकरण केंद्र पर जा सकते हैं।
 यदि किसी लाभार्थी ने CoWIN पर टीकाकरण के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लिया है, तो निजी या सार्वजनिक अस्पतालों में आगे कोई नियुक्ति लेने की आवश्यकता नहीं है। यदि कोई भी अस्पताल टीकाकरण के इन दिशानिर्देशों का पालन नहीं करता है, तो किसी को टोल-फ्री नंबर 1075 पर शिकायत दर्ज करनी चाहिए।



Post a comment

Powered by Blogger.