Halloween party ideas 2015


मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश की अध्यक्षता में बुधवार को सचिवालय स्थित मुख्य सचिव सभागार में चारधाम परियोजना की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में मुख्य सचिव ने अधिकारियों को भूमि अधिग्रहण एवं यूटिलिटी शिफ्टिंग कार्य में में देरी पर नाराजगी व्यक्त करते हुए तेजी लाने के निर्देश दिए। 
 
उन्होंने भूमि अधिग्रहण के उच्च न्यायालय में लंबित मामलों को छोड़कर अन्य सभी मामलों को 30 अप्रैल, 2021 तक निस्तारित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मुआवजा के मामलों को भी शीघ्र निस्तारित किए जाने के निर्देश दिए। 
मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने हेलंग-जोशीमठ मार्ग पर गवर्नमेंट लैंड ट्रांसफर के प्रकरण शीघ्र अति शीघ्र निस्तारित किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी पेंडिंग कार्यों हेतु समय सीमा निर्धारित करते हुए तेजी लाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी टिहरी के अनुरोध पर मुख्य सचिव द्वारा ऋषिकेश-देवप्रयाग मार्ग पर बिजली के खंभों की शिफ्टिंग के कार्य के लिए जिला प्रशासन, यूपीसीएल और रोड ट्रांसपोर्ट मंत्रालय का संयुक्त निरीक्षण कराए जाने के साथ ही शिफ्टिंग का कार्य त्वरित गति से किए जाने के निर्देश दिए गए।


बैठक में बताया गया कि चारधाम परियोजना में सड़क चौड़ीकरण  का कार्य 554.05 किमी में कार्य पूर्ण कर लिया गया है। यूटिलिटी डक्ट का कार्य 555.83 किमी में पूर्ण कर लिया गया है। रिटेनिंग एवं ब्रेस्ट वॉल का कार्य 367.77 किमी में पूर्ण किया जा चुका है। 182.75 किमी में क्रैश बैरियर का कार्य पूर्ण किया जा चुका है।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री आर.के. सुधांशु, प्रबन्ध निदेशक पिटकुल डाॅ. नीरज खैरवाल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी एवं सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारी उपस्थित थे।

  श्री केदारनाथ धाम यात्रा के दृष्टिगत जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक लेते हुए यात्रा पूर्व संबंधित विभागों को कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिए। इस दौरान उन्होंने यात्रा के दौरान संचालित रूटों व पैदल मार्गों के सुचारू संचालन सहित अन्य आवश्यक व्यवस्थाओं को लेकर ससमय कार्यवाही के निर्देश देते हुए कहा कि यात्रा संचालन से पूर्व सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित कर ली जाएं।


       
          जिला सभागार कक्ष में श्री केदारनाथ यात्रा से संबंधित बैठक के दौरान जिलाधिकारी ने यात्राकाल में सुचारू व शांति ट्रैफिक व्यवस्था के लिए पीआरडी व होमगाड्र्स के जवानों की तैनाती हेतु उप जिलाधिकारी व पुलिस उपाधीक्षक को निर्देश दिए। यात्रा मोटर मार्गों व पैदल मार्गों की स्थिति को लेकर एन.एच., लोनिवि व संबंधित कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया। उन्होंने कहा कि यदि जनपद स्तरीय अधिकारी अथवा कर्मचारी यात्रा संबंधित कार्य के चलते श्री केदारनाथ धाम जाते हैं तो इसकी सूचना व्हट्स एप यात्रा गू्रप में शेयर की जाए। ताकि आपसी समन्वय बना रहे। स्वास्थ्य विभाग को यात्रा के दौरान धाम में फार्मेसिस्ट व चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी की तैनाती के निर्देश देने के साथ ही आपातकालीन स्थिति हेतु एयर एंबुलेंस का प्रस्ताव देने के निर्देश दिए। जिससे विशेष परिस्थितियों में इसे उपयोग में लाया जा सके। 
पशु चिकित्साधिकारी से संचालन के दौरान घोड़े-खच्चरों को नियत स्थानों पर किचन वेस्ट सहित अतिरिक्त सप्लीमेंट देने व जल संस्थान को पानी उपलब्धता हेतु चरी बनाए जाने के निर्देश दिए। यात्रा के दौरान धाम में खाद्यान्न, रसोई गैस व अलाव की सुनिश्चित व्यवस्था, राहत एवं बचाव कार्य हेतु टीमों की तैनाती, विद्युत व्यवस्था, सुलभ शौचालय की सुविधाओं हेतु उन्होंने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए। साफ-सफाई व कूड़ा निस्तारण हेतु नगर पालिका व नगर पंचायतों को निर्देश देते हुए कहा कि इसके लिए समय-समय पर एवरनेस कार्यक्रम चलाते हुए आम जन को जागरुक करें।
 धाम में संचालित हो रहे घोड़ा-खच्चर स्वास्थ्य परीक्षण, चिकित्सा इकाइयों सहित पैदल मार्गों पर रैलिंग व खराब रास्तों की मरम्मत, फाटा, ऊखीमठ, गुप्तकाशी व दुगलबिट्टा में निरीक्षण भवनों की स्थिति यात्रियों के पंजीकरण, स्वास्थ्य व्यवस्था आदि को लेकर भी उन्होंने संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।
           इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी भरत चंद्र भट्ट, अपर जिलाधिकारी दीपेंद्र सिंह नेगी, उप जिलाधिकारी सदर बृजेश तिवारी, उपजिलाधिकारी ऊखीमठ जीतेंद्र वर्मा, पुलिस उपाधीक्षक गणेश कोहली, पशु चिकित्सा अधिकारी डाॅ. रमेश सिंह नितवाल, परियोजना अर्थशास्त्री मोहन सिंह नेगी, तहसीलदार बसुकेदार दीवान सिंह राणा, अधिशासी अभियंता डीडीएमए सीतापुर प्रवीण कर्णवाल, जिला उद्योग केंद्र महाप्रबंधक एच.सी. हटवाल, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका परिषद सीमा रावत, अधिशासी अभियंता (विद्युत) मोहित डबराल, पर्यटन अधिकारी सुशील नौटियाल, अधिशासी अभियंता लोनिवि इंद्रजीत बोस, अधिशासी अभियंता जल-निगम नवल कुमार, जल-संस्थान संजय सिंह, सहित अन्य विभागीय अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।  

 



Post a Comment

Powered by Blogger.