Halloween party ideas 2015

 हरिद्वार: 



डाॅ0 ललित नारायण मिश्र, अपर मेलाधिकारी की अध्यक्षता में आज कुम्भ मेला-2021 के अन्तर्गत हरिद्वार में कराये जा रहे कार्यों की कुम्भ की व्यवस्थाओं की तैयारियों की दृष्टि से एक समीक्षा बैठक आयोजित हुई। 

समीक्षा बैठक के दौरान डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने यू0पी0डी0सी0सी0 के अधिकारियों से रोड़ी वेलवाला क्षेत्र में बिजली के खम्भों में लाइटें लगाने, सी0सी0आर0 के पीछे फैले तारों को हटाने, नये घाटों में जो डक खुले हैं, उन्हें बन्द करने, टूटी टाइल्स को बदलने, जूता स्टाॅल तैयार करने के सम्बन्ध में जानकारी ली। इस पर अधिकारियों ने बताया कि ये सभी कार्य एक फरवरी से 05 फरवरी तक पूरे हो जायेंगे। 

अपर मेलाधिकारी ने तत्पश्चात अधिकारियों से सी0सी0आर0 के गेट नम्बर-एक एवं गउ घाट वाले गेट के सम्बन्ध में पूछा और अधिकारियों को निर्देश दिये कि इन गेटों के कार्य को पूर्ण कराने के लिये रात-दिन कार्य चलाते हुये सी0सी0आर0 के गेट नम्बर-एक को छह फरवरी तक एवं गउ घाट वाले गेट का कार्य आठ फरवरी तक पूर्ण कर लिया जाये। 

डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि हरकीपैड़ी क्षेत्र मुख्य क्षेत्र है तथा यू0पी0डी0सी0सी0 के अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे हरकीपैड़ी पर चल रहे प्रत्येक कार्य को एक सिरे से आरम्भ करते हुये फाइनल टच यथाशीघ्र दें। उन्होंने अधिकारियों को सौल क्षेत्र को यथाशीघ्र खाली कराने के भी निर्देश दिये। 

अपर मेलाधिकारी ने लकड़ी के पुल, कांगड़ा पुल तथा सतीघाट के पुल के सम्बन्ध में भी अधिकारियों से जानकारी ली। इस पर अधिकारियों ने बताया कि ये पुल छह फरवरी तक पूर्ण हो जायेंगे। 

उन्होंने बैठक में पुलों की सुरक्षा एवं रंगांई-पुताई के सम्बन्ध में भी चर्चा की तथा अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग से समन्वय स्थापित करते हुये इस कार्य को प्राथमिता के साथ करना सुनिश्चित करें।

डाॅ0 ललित नारायण मिश्र ने समीक्षा बैठक में मौजूद सिंचाई विभाग के अधिकारियों से हरकीपैड़ी क्षेत्र में घाट के मरम्मत का कार्य, अपर गंगा कैनाल घाट का कार्य, आस्था पथ, ऋषिकेश एवं हरिद्वार के कार्यों की प्रगति के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी ली तथा कार्यों को गुणवत्ता व मानकों का ध्यान रखते यथाशीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। 

इस अवसर पर उप मेला अधिकारी, श्री दयानन्द सरस्वती, अधीक्षण अभियन्ता, तकनीकी प्रकोष्ठ, कुम्भ मेला, श्री हरीश पांगती, यू0पी0डी0स्ी0सी0, सिंचाई सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित थे। 

Post a comment

Powered by Blogger.