Halloween party ideas 2015

 हल्द्वानी :

 आयुक्त कुमाऊ मण्डल श्री अरविन्द सिंह हृयांकी ने निर्धारित रोस्टर के अनुसार सर्किट हाउस सभागार मे जनपद नैनीताल में संचालित किये जा रहे विकास कार्यो की गहनता से समीक्षा की। जिलाधिकारी श्री सविन बंसल द्वारा जनपद मे अभिनव प्रयोग कर शासकीय चिकित्सालयो तथा दूरदराज के सरकारी विद्यालयों में स्मार्ट टीचिंग तथा दूरदराज के अस्पतालों में आशाघर, अल्टासाउन्ड, वैंटीलेटर, एचडीयू, आईसीयू के अलावा  शौचालय निर्माण सुन्दर वाॅलपेंटिंग, हिलांस कैन्टीन, नैनीझील संरक्षण-सत्त निगरानी कार्य, बेतालघाट में टेलीमेडिसन व्यवस्था के लिए बधाई दी। उन्होने कहा इस प्रकार के जनहित एवं जनस्वास्थ्य के कार्यो के लिए जिलाधिकारी सविन बधाई के पात्र है। उन्होने कहा कि सविन वैलडन।



आयुक्त कुमाऊॅ मण्डल श्री हयांकी ने जनपद में संचालित हो रहे विकास कार्यों जिला योजना, राज्य सैक्टर, केन्द्र पोषित व वाह्य सहायतित योजनाओं में आवंटित बजट के सापेक्ष व्यय तथा लम्बित बजट की समीक्षा की गई। उन्होने कहा कि वित्तीय वर्ष की समाप्ति में काफी कम समय शेष है ऐसे में आवंटित धनराशि का सदुपयोग करते हुये विकास कार्यो को धरातल पर उतारा जाए।  

      बैठक में आयुक्त ने कहा कि वर्तमान समय में कोराना संक्रमण के कार्यों के कारण विकास कार्यों की गति धीमी हुई है लेकिन अब विकास कार्यों को पूर्ण गति देने के लिए सम्बन्धित अधिकारी लम्बित निर्माण कार्यों को गति देते हुए उन्हें धरातल पर उतारना सुनिश्चित करें ताकि आम लोगो को योजनाओं का लाभ मिल सके।

 आयुक्त ने निर्देश दिये कि जिन विभागों ने जिला योजना व अन्य मदो में व्यय नही किया है वे शीघ्र टेण्डर निकाल कर व्यय करना सुनिश्चित करें। उन्होंने विशेषकर लोक निर्माण विभाग, समाज कल्याण, कृषि, उद्यान, चिकित्सा, पशुपालन, पर्यटन, मत्स्य, गन्ना विकास, लद्यु उद्योग, युवा कल्याण, उरेडा, पंचायतीराज, जलसंस्थान, जिला पंचायत व पेयजल निगम के अधिकारियों को स्वीकृत बजट को तत्परता से व्यय करने के निर्देश दिये। 

आयुक्त श्री हृयांकी ने पेयजल निगम के अधीक्षण अभियन्ता ओपी सिह द्वारा बजट की विस्तृत जानकारी समीक्षा बैठक मे ना दे पाने पर प्रतिकूल प्रविष्टि दी। शिक्षा विभाग की समीक्षा करते हुये मुख्य शिक्षा अधिकारी श्री केके गुप्ता को निर्देश दिये कि जनपद मे 16 विद्यालयो जो जीर्णशीर्ण अवस्था मे है मरम्मत हेतु कार्यदायी संस्था से सामंजस्य स्थापित कर शीघ्र टेंडर निकालने के निर्देश दिये ताकि ससमय आवंटित बजट का उपयोग हो सके। आयुक्त ने उद्यान विभाग की समीक्षा करते हुये कहा कि बीज हम खुद पैदा कर सकते है इसके लिए हमें बाहरी राज्यो ंसे बीज खरीदने के लिए निर्भर नही रहना है। अगर हम बीज का उत्पादन स्वयं करेंगे तो किसानो को बीज के लिए कोई परेशानी नही होगी। उन्होने पूल्ड आवास की समीक्षा के दौरान नाराजगी व्यक्त की कि नियोजन की कमी के कारण बजट व्यय नही हो पा रहा है। उन्होने अधिकारियों को पूल्डआवास योजना के तहत शीघ्र टेंडर कराने के साथ ही योजनाओं के क्रियान्वयन पर कार्य करने के निर्देश दिये ताकि ससमय बजट का उपभोग हो सके। युवा कल्याण की समीक्षा के दौरान श्री हृयांकी ने युवा कल्याण अधिकारी दीप्ति सिह को निर्देश दिये कि जनपद मे युवक मंगल दलों को जो खेल सामग्री कोविड 19 के चलते वितरित नही हुई थी उसकी व्यवस्था कर वितरण सुनिश्चित  किया  जाए। 

आयुक्त श्री हृयांकी ने कहा कि कोविड 19 का खतरा पूरी तरह टला नही है लेकिन वाबजूद इसके जनमानस में कोविड 19 के प्रति उदासीनता एवं लापरवाही बरती जा रही है। शादी, विवाह व अन्य समारोह मेे स्वास्थ्य विभाग तथा प्रशासनिक अधिकारियो को चाहिए कि वह सामाजिक दूरी, मास्क व सेनेटाइजेशन व्यवस्था का निरीक्षण करें मानको के अनुसार वैकेट हाल, विवाह एवं समारोह आयोजकों द्वारा कोविड 19 के सम्बन्ध मे दिये गये दिशा निर्देशो का यदि अनुपालन ना रहा होतो नियमाुनसार कार्यवाही अमल मे लाई जाए। उन्होने कहा कि जिला योजना मद से कोेविड 19 के तहत सरकारी अस्पतालों की बेहतरी के लिए कार्य किया जाए। 

आयुक्त श्री हृयांकी ने रोजगार परक योजनाओं की समीक्षा करते हुये उद्योग, पर्यटन नगर निकाय विभागो की जो स्वरोजगार योजनायें संचालित हैं उसका लाभ लाभार्थी तक पहुचाने के लिए दूर क्षेत्रो मे जाकर लोगो को जानकारी दें। जितने भी आवेदन समिति द्वारा स्वीकृत किये जा रहे है सम्बन्धित बैक से समन्वय कर लाभार्थियों को ऋण उपलब्ध कराने लिए समन्वय की भूमिका का निर्वहन करें साथ ही जो भी प्रवासी जनपद मे वापस आये हैं उन्हें स्थानीय स्तर पर ही स्वरोजगार से जोडने के लिए उद्योग विभाग पूर्ण तत्परता से कार्य करे। उन्होने जिला पर्यटन अधिकारी को होमस्टे को बढाये जाने हेतु नये पंजीकरण करने के भी निर्देश दिये। श्री हृयांकी ने उरेड विभाग को निर्देश दिये कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत लाभ लेने के लिए लोगों को प्रेरित करें तथा प्राप्त आवेदनो को तत्काल आॅनलाइन करते हुये शीघ्र कार्य प्रारम्भ करायें। उन्होनेे कहा कि ग्रोथ सेन्टरो ंके माध्यम से स्थानीय लोगो विशेषकर महिलाओ की आर्थिकी विकास किया जा सकता है ऐसे मे उद्योग एवं ग्राम विकास विभाग को संयुक्त रूप से ग्रोथ सेन्टर के माध्यम से आजीविका बढाने के कार्य करने चाहिए।  

बैठक मे आयुक्त कुमाऊ श्री हृयांकी ने कि राजस्व व अन्य विभागो मे विभिन्न कार्मिेको के लम्बित पेंशन, पदोन्नित, विभिन्न देयको आदि की समीक्षा करते हुये ऐसे प्रकरणों को निस्तारित किया जाए। उन्होने कहा कि किसी भी कार्मिक का अहित ना हो तथा उसे सेवा के दौरान समय पर पदोन्नित सहित सेवानिवृत्ति तत्काल सभी भुगतान प्राप्त के साथ ही समय पर पेंशन का लाभ मिले इस हेतु सम्बन्धित अधिकारी पूरी जिम्मेदारी से कार्य करें। इस कार्य मे सम्बन्धित कोषागारो को भी अपनी सकारात्मक भूमिका निभानी होगी। 

श्री हृयांकी ने कहा कि सीएम हैल्प लाइन के अन्तर्गत प्राप्त शिकायतो एवं जनसमस्याओ का तत्परता से निराकरण करने को कहा। उन्होने कहा कि सीएम हैल्प लाइन की अधिकांश कार्यवाही एल-1 स्तर पर लम्बित रहती है जो कि उचित नही है। समीक्षा के दौरान आयुक्त ने सभी विभागीय अधिकारियों कर्मचारियों को निर्देश दिये है कि वह अनिवार्य रूप से अपने कार्यस्थल पर रहे ताकि लोगों को कठिनाई ना हो और लोगों को अपने कार्यो के लिए जिला कार्यालय या आयुक्त कार्यालय ना आना पडे। 

आयुक्त ने कहा कि कहा कि कोर्ट केसों के निस्तारण में तेजी लायें क्योंकि लाकडाउन के चलते कोर्ट केसों के निस्तारण की गति ठहर गई थी, लिहाजा कोर्ट केसों के निस्तारण को अपनी प्राथमिकता मे शामिल करते हुये अधिक से अधिक संख्या  मे लम्बित केसों का निस्तारण करें। उन्होनेे कहा कि वादो के निस्तारण होने से वादकारियों को राहत होती है।

    समीक्षा दौरान जिलाधिकारी श्री सविन बंसल ने बताया कि जनपद में जिला योजना के अन्तर्गत 46.72 करोड अनुमोदित परिव्यय के सापेक्ष शासन से 38.61 करोड अवमुक्त हुये हैं जिसके सापेक्ष कोविड के चलते 12.98 करोड व्यय हुये है। इसी तरह राज्य सेेक्टर में 283.27 करोड के सापेक्ष 145.46 करोड अवमुक्त हुआ है जिसमें से 108.82 करोड व्यय हुये हैं। केन्द्र पोषित सेक्टर में 354.56 करोड के सापेक्ष 198.75 करोड के सापेक्ष 136.83 करोड व्यय हुये हैे। इसी तरह वाहृय सहायतित सेक्टर में 27.52 करोड के सापेक्ष 14.55 करोड अवमुक्त हुआ है जिसके सापेक्ष 13.50 करोड व्यय हुआ है। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के अन्तर्गत 250 लक्ष्य के सापेक्ष 505 प्रार्थना पत्र बैंकों को स्वीकृत हेतु भेजे गये। जिसमे से बैकों द्वारा 125 प्रार्थना पत्रो पर ऋण स्वीकृत करते हुये 91 प्रार्थना पत्रो पर ऋण वितरित कर दिया गया है। 

वीरचन्द्र गढवाली योजना के अन्तर्गत 30 प्राप्त लक्ष्य के सापेक्ष 32 प्रार्थना पत्र बैको को भेजे गये। जनपद में 332 होमस्टे संचालित हैं जबकि 101 होमस्टे पर कार्य प्रगति पर है। प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के अन्तर्गत 114 लक्ष्य के सापेक्ष 736 प्रार्थना पत्र प्राप्त हुये हैं, जांच के उपरान्त 117 प्रार्थना पत्र ऋण स्वीकृति हेतु विभिन्न बैकों को भेजे गये जिसमे से 96 लाभार्थियो को ऋण वितरित किया गया है। उन्होने बताया कि उद्यमिता विकास के लिए उद्यमिता विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न व्यवसायों हेतु 450 लोगो ंको प्रशिक्षण दिया गया है। उन्होने बताया कि जनपद मे 7 ग्रोथ सेन्टर प्रस्तावित हैं जिसमे ंसे 6 स्वीकृत हो चुके है, 1 ग्रोथ सेन्टर संचालित है तथा 5 ग्रोथ सेन्टरो का निर्माण कार्य गतिमान है जिनको शीघ्र संचालित किया जायेगा। 

श्री बंसल ने बताया कि जलजीवन मिशन के अन्तर्गत कार्य त्वरित गति से किया जा रहा है, किसान सम्मान निधि का लाभ पात्र किसानो को दिया जा रहा है। उन्होने बताया कि जनपद में स्वास्थ्य व शिक्षा की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। चिकित्सालयों के अपग्रेेडेशन के साथ ही आधुनिक उपकरण व जांच लैब स्थापित किये गये हैं वही चिकित्सालयों मे  जनस्वास्थ्य हेतु आईसीयू, एसएनसीयू व एचडीयू यूनिटेें भी स्थापित की गई हैैं। शिक्षा की गुणवत्ता बढाने एवं ई-लर्निग को बढावा देने के प्रयास किये जा रहे हैं सभी विद्यालयो मे बिजली,पानी की व्यवस्था के साथ ही स्मार्ट टीवी, व्हाइटबोर्ड लगाये गये है तथा प्रयोगशाला एवं लाइब्र्रेरी की स्थापना की गई है।

बैठक मे मुख्य विकास अधिकारी नरेन्द्र सिह भण्डारी, जिला विकास अधिकारी रमा गोस्वामी, सिटी मजिस्टेट प्रत्यूष सिह, उपजिलाधिकारी विवेक राय,मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 भागीरथी जोशी,अधीक्षण अभियन्ता जल संस्थान ए.एस अंसारी, अधीक्षण अभियन्ता सिचाई संजय शुक्ला, अघीक्षण अभियन्ता नलकूप संजय कुशवाहा, महाप्रन्धक उद्योग विपिन कुमार, अधिशासी अभियन्ता दीपक गुप्ता, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमन अनिरूद्व, मुख्य उद्यान अधिकारी भावना जोशी, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, उपनिदेशक अर्थ संख्या राजेन्द्र तिवारी, जिला अर्थ संख्या अधिकारी एलएम जोशी, एसीएमओ डा0 रश्मि पंत, मुख्य कृषि अधिकारी धनपत कुमार, जिला पर्यटन अधिकारी अरविन्द गौड, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज कुमार बर्मन के अलावा अन्य विभागीय अधिकारी मौजूद थे। 

Post a Comment

Powered by Blogger.