Halloween party ideas 2015


  • जम्मू-कश्मीर में आयुष्मान सेहत योजना का शुभारंभ कर बोले पीएम मोदी, हर वोटर में दिखी विकास की उमंग
  • जम्मू-कश्मीर में अब हर परिवार को सालाना पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर मिलेगा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ किया


नई दिल्ली:   

जम्मू-कश्मीर में अब हर परिवार को सालाना पांच लाख रुपये तक का स्वास्थ्य बीमा कवर मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्मू-कश्मीर में सेहत स्वास्थ्य बीमा योजना का शुभारंभ किया। देश में अपनी तरह की इस पहली योजना के लागू होने से प्रदेश के सभी 1.30 करोड़ नागरिकों को स्वास्थ्य बीमा योजना का लाभ मिलेगा।प्रधानमंत्री ने योजना का शुभारंभ करने के बाद प्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए कहा कि आज मुझे जम्मू-कश्मीर के दो लाभार्थियों से आयुष्मान योजना के बारे में सुनने का अवसर मिला। उन्होंने कहा कि जिनके लिए काम किया जाता है, उनसे संतोष के शब्द सुनने पर आशीर्वाद की अनुभूति होती है।

सरकार की प्रतिबद्धता है कि सभी योजनाओं का लाभ आप तक पहुंचे।  कहा कि आज का दिन प्रदेश के लिए बहुत ऐतिहासिक है। आज प्रदेश के सभी लोगों को आयुष्मान का लाभ मिलने जा रहा है। जम्मू-कश्मीर के लोगों के लिए यह कदम उठाता देख मुझे बहुत खुशी हो रही है। जम्मू-कश्मीर के सभी नागरिकों को मेरी ओर से बधाई। मेरी इच्छा थी कि इस योजना का शुभारंभ अटल जी की जयंती के अवसर पर हो, पर कुछ व्यस्तता के चलते संभव नहीं हो सका। अटल जी प्रदेश के लिए कश्मीरियत जम्हूरियत इंसानियत का हमें सदैव दिशा निर्देश देते रहे।  जम्मू-कश्मीर के लोगों ने डीडीसी चुनावों ने लोकतंत्र को मजबूत करने का काम किया है। सभी दलों की ओर से यह चुनाव नेक नियत से हुए। जम्मू-कश्मीर से चुनाव निष्पक्ष होना जब जम्मू-कश्मीर के लोगों की ओर से सुनने को मिलता है तो बहुत अच्छी अनुभूति होती है। इसके लिए प्रदेश प्रशासन को बहुत बहुत धन्यवाद देता हूं। आज भारत  के लिए गौरव का पल है। इसके जरिए गांधी के ग्राम समाज का सपना जीता है। यह नए युग का आरंभ है। कहा कि एक समय था कि हम लोग जम्मू-कश्मीर की सरकार का हिस्सा था।

 लेकिन हमने उस सत्ता सुख को छोड़ दिया था। क्योंकि हमारा मुद्दा था कि पंचायतों का चुनाव कराओ। इस मुद्दे पर सरकार का साथ छोड़ जनता के साथ खड़े हुए। प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर के हर वोटर के चेहरे पर मुझे विकास के लिए एक उम्मीद नजर आई, उमंग नजर आई। हर वोटर की आंखों में मैंने अतीत को पीछे छोड़ते हुए, बेहतर भविष्य का विश्वास देखा। 

जम्मू-कश्मीर में इन चुनावों ने ये भी दिखाया कि हमारे देश में लोकतंत्र कितना मजबूत है। लेकिन एक पक्ष और भी है, जिसकी तरफ मैं देश का ध्यान आकर्षित कराना चाहता हूं। पुडुचेरी में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बावजूद पंचायत और म्युनिसिपल इलेक्शन नहीं हो रहे। प्रधानमंत्री ने कहा कि आप हैरान होंगे, सुप्रीम कोर्ट ने 2018 में ये आदेश दिया था।

 लेकिन वहां जो सरकार है, इस मामले को लगातार टाल रही है। साथियों, पुडुचेरी में दशकों के इंतजार के बाद साल 2006 में स्थानीय निकाय चुनाव हुए थे। इन चुनावों में जो चुने गए उनका कार्यकाल साल 2011 में ही खत्म हो चुका है। महामारी के दौरान भी जम्मू-कश्मीर में करीब 18 लाख सिलेंडर रिफिल कराए गए। स्वच्छ भारत अभियान के तहत जम्मू-कश्मीर में 10 लाख से ज्यादा शौचालय बनाए गए। लेकिन इसका मकसद सिर्फ शौचालय बनाने तक सीमित नहीं, ये लोगों के स्वास्थ्य को सुधारने की भी कोशिश है। प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में आयुष्मान भारत सेहत योजना शुरु की गई है। 

इस योजना के तहत पांच लाख रुपए तक का मुफ्त इलाज मिलेगा, जिससे लाभार्थियों के जीवन में कितनी बड़ी सहूलियत आएगी। अभी आयुष्मान भारत योजना का लाभ राज्य के करीब 6 लाख परिवारों को मिल रहा था। सेहत योजना के बाद यही लाभ सभी 21 लाख परिवारों को मिलेगा।

 इस योजना का एक और लाभ होगा जिसका जिक्र किया जाना जरूरी है। वो ये है कि इसके जरिए लोगों का इलाज सिर्फ जम्मू-कश्मीर के सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों तक सीमित नहीं रहेंगा। बल्कि देश में इस योजना के तहत जो हजार अस्पताल जुड़े हैं, वहां भी ये सुविधा मिल पाएगी।

Post a comment

Powered by Blogger.