Halloween party ideas 2015


 मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने दिनांक 22 अक्टूबर को ऋषिकेश में हुई दुर्घटना में मृतक आश्रित को एक-एक लाख रूपये और घायल को 50 हजार रूपये की सहायता स्वीकृत की है।ऋषिकेश स्थित देहरादून मार्ग पर बालाजी बगीचे के पास बागड़ियों के डेरे में ट्रक घुस गया था। जिस कारण तीन लोगों की मृत्यु हो गयी थी और एक गंभीर रूप से घायल हो गया था। 

देहरादून;


        मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सितारगंज चीनी मिल को पीपीपी के तहत संचालित करने संबंधी प्रक्रिया में तेजी लाने के निर्देश एमडी शूगर फेडरेशन को दिये हैं। इसके साथ ही सितारगंज के कैलाश नदी  क्षेत्र में खनन पट्टों की स्वीकृति हेतु एन.ओ.सी निर्गत करने के लिये एम.डी सिडकुल को भी उन्होंने निर्देश दिये हैं। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं के समाधान के भी निर्देश अधिकारियों को दिये हैं।

           गुरूवार को सचिवालय में सितारगंज क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं के समाधान के सम्बन्ध में आयोजित बैठक में मुख्यमंत्री श्री त्रिवेन्द्र ने क्षेत्रीय समस्याओं के त्वरित समाधान के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि सितारगंज चीनी मिल को दीर्घ कालिक लीज पर दिये जाने तथा विनिवेशक को मिल परिसर में अनुपूरक इकाइयों की स्थापना आदि के सम्बन्ध में पूर्व में सैद्धांतिक सहमति प्रदान की गई है।

 उन्होंने मिल को दीर्घ कालिक लीज पर दिये जाने के साथ पीपीपी की संभावनाओं पर यथा शीघ्र कार्यवाही के निर्देश दिये। उन्होंने इसके लिये समय सीमा भी तय करने को कहा। मुख्यमंत्री ने यह भी निर्देश दिये कि इस सम्बन्ध में उन राज्यों की चीनी मिलों का भी अध्ययन किया जाय, जहाँ इस प्रकार की प्रक्रिया सफल रही हो। उन्होंने मिल बन्द होने से क्षेत्रीय गन्ना किसानों को गन्ना बिक्री में कोई कठिनाई न हो इसकी भी व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा।

      इस सम्बन्ध में प्रबन्ध निदेशक शूगर फेडरेशन श्री चंदेश यादव ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि चीनी मिल की विस्तृत अध्ययन रिपोर्ट एवं आरएफपी तैयार करने हेतु नेशनल शूगर इंस्टिट्यूट कानपुर को कार्यदायी संस्था नामित किया गया था। उनके द्वारा आरएफपी तैयार कर उपलब्ध करा दी गई है जिसे नियोजन विभाग के परामर्श से प्री फिजिविलिटी रिपोर्ट तैयार करने हेतु निर्धारित शुल्क के साथ नेशनल शूगर इंस्टिट्यूट कानपुर को भेजा गया है। उनके द्वारा 30 नवम्बर तक रिपोर्ट उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। रिपोर्ट प्राप्त होते ही इस सम्बन्ध में निर्देशानुसार कार्यवाही कर दी जायेगी।


         मुख्यमंत्री ने सितारगंज की कैलाश नदी के खनन पट्टों की स्वीकृति हेतु एमडी सिडकुल को निर्देश देते हुए कहा कि नदियों की रीवर ट्रेडिंग से नदियों में एकत्र सामग्री की सफाई भी होती है। इससे सतह ऊंची होने से बरसात में नदी के बहाव से नदी क्षेत्रों को होने वाले नुकसान को भी नियंत्रित किया जा सकता है।

        बैठक में विधायक श्री सौरभ बहुगुणा, अपर मुख्य सचिव श्रीमती मनीषा पंवार, एम.डी सिडकुल श्री एस.ए. मुरूगेशन, विशेष सचिव मुख्यमंत्री डॉ. पराग मधुकर धकाते, अपर सचिव मुख्यमंत्री डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


ऋषिकेश-कर्णप्रयाग नई रेल लाइन परियोजना के सम्बन्ध में डेडीकेटेड विद्युत लाइन शीघ्र स्थापित करने हेतु निर्देश

        मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश की अध्यक्षता में गुरुवार को सचिवालय में ऋषिकेश-कर्णप्रयाग नई रेल लाइन परियोजना के सम्बन्ध में रेल विकास निगम लिमिटेड और शासन के मध्य बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान विभिन्न विषयों पर चर्चा की गई। मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने कहा कि रेल लाइन प्रोजेक्ट के क्षतिपूर्ति संवितरण कार्य को शीघ्र पूर्ण कर लिया जाए। उन्होंने प्रोजेक्ट एरिया को प्रतिबंधित क्षेत्र घोषित किए जाने हेतु सम्बन्धित जिलाधिकारियों को शीघ्र कार्यवाही किए जाने के भी निर्देश दिए।

        मुख्य सचिव ने पिटकुल को ऋषिकेश, रानीहाट (श्रीनगर) एवं सिवाई (कर्णप्रयाग) में 132 केवी की नई डेडीकेटेड विद्युत लाइन शीघ्र स्थापित करने हेतु निर्देश दिए। उन्होंने यूपीसीएल को भी हाई टेंशन और लो टेंशन लाइन को भी शीघ्र स्थानांतरित करने के निर्देश दिए। साथ ही, ऋषिकेश एवं गौचर के मध्य विभिन्न स्थानों पर 33 केवी नये विद्युत कनेक्शन दिए जाने के कार्य को शीघ्र पूर्ण किए जाने की बात कही। उन्होंने जलसंस्थान एवं लघु सिंचाई विभाग को पानी की पाइप लाइन एवं वाटर लिफ्ट पम्प को भी शीघ्र स्थानांतरित किए जाने हेतु निर्देश दिए।

          इससे पूर्व मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने चारधाम यात्रा मार्ग से सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारियों से परियोजना की प्रगति की जानकारी ली। मुख्य सचिव श्री ओमप्रकाश ने अधिकारियों को निर्देश दिए कि चारधाम यात्रा मार्ग प्रभावितों को मुआवजा देने की प्रक्रिया को शीघ्र पूर्ण किया जाए। मुख्य सचिव ने सम्बन्धित जिलाधिकारियों को चारधाम यात्रा मार्ग की सभी स्टेजेस का कार्य निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत पूर्ण किये जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य में गुणवत्ता को विशेष ध्यान रखा जाए।

        इस अवसर पर सचिव श्री शैलेश बगोली, आयुक्त गढ़वाल श्री रविनाथ रमन, आयुक्त कुमाऊँ श्री अरविंद सिंह ह्यांकी सचिव श्री सुशील कुमार, मुख्य परियोजना प्रबन्धक रेल विकास निगम लिमिटेड श्री हिमांशु बडोनी सहित सम्बन्धित जनपदों के जिलाधिकारी एवं सम्बन्धित विभागों से उच्चाधिकारी उपस्थित थे।


Post a comment

Powered by Blogger.