Halloween party ideas 2015

मानव सेवा के लिए समर्पित है बापू के सिद्धांत-अनिता ममगाई

ऋषिकेश:

 देशभर के साथ तीर्थ नगरी ऋषिकेश में गांधी जयंती पर विभिन्न संस्थाओं द्वारा आयोजित कार्यक्रमों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को नमन कर उन्हें अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किए गए।


नगर निगम में आयोजित कार्यक्रम में महापौर अनिता ममगाई ने देश की आजादी में सर्वोच्च भूमिका निभाने वाले बापू के 151 वीं जयंती पर उनको भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि

 भारतीय इतिहास में बापू  का नाम सबसे प्रेरणादायक महापुरूषों में शुमार है। उन्होंने देश को आजादी दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। सत्य, अहिंसा और प्रेम का उनका संदेश समाज में समरसता और सौहार्द का संचार करके समस्त विश्व के कल्याण का मार्ग प्रशस्त करता है। वे संपूर्ण मानवता के प्रेरणा-स्रोत बने हुए हैं।  बापू को नमन करते हुए महापौर ने कहा, 'गांधी जी के असाधारण व्यक्तित्व व साधनापूर्ण जीवन ने विश्व को शांति, अहिंसा और सद्भाव का मार्ग दिखाया। स्वदेशी के उपयोग को बढ़ाने के उनके स्वप्न को पूर्ण करने के लिए आज पूरा देश मोदी जी के आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ स्वदेशी को अपना रहा है।महात्मा गांधी का जीवन एवं दर्शन समस्त भारतवासियों के लिए प्रेरणा है। भारत की स्वतंत्रता के लिए आंदोलन करने के साथ-साथ उन्होंने हमें सत्य, अहिंसा, स्वराज और स्वच्छता के विषय में भी नई दृष्टि और दर्शन के बारे में भी जाग्रत किया है। 

महापौर ममगाई ने कहा कि देश का सौभाग्य था कि इतिहास के महत्वपूर्ण पड़ाव पर ऐसे आदर्श पुरुष का मार्गदर्शन प्राप्त हुआ, जिसने देश की आज़ादी को सामाजिक नैतिकता, न्यायपूर्ण समरसता और आर्थिक आत्मनिर्भरता से जोड़ा। महात्मा गांधी के सिद्धांत मानव मात्र की सेवा के लिए समर्पित है। उन्होंने सच्चाई , प्रेम और निस्वार्थ सेवा का मार्ग दिखाया। महात्मा गांधी का अंत्योदय सिद्धांत वंचित तबके के कल्याण का मार्ग दिखाता है।पर्यावरण संरक्षण पर बल देते हुए उन्होंने  कहा कि महात्मा गांधी ने कहा था कि यह प्रकृति हर किसी की जरूरत पूरा कर सकती है। बापू ने अपने जीवन में प्रकृति के साथ छेड़छाड़ नहीं करने और सतत विकास का मार्ग दिखाया है। आधुनिक विकास के लिए इस को मानना चाहिए, इसी में मानव कल्याण है।इससे पूर्व 

सर्वप्रथम नगर निगम में महात्मा गांधी एवं  स्व लाल बहादुर शास्त्री  की जयंती के शुभ अवसर पर महापौर  द्वारा उनको पुष्पांजलि अर्पित की गई एवं राम धुन के साथ कोरोना काल में लगे हुए कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र भी बांटे। उसके बाद गांधी आश्रम पर पुष्प अर्पित कर त्रिवेणी घाट पर नमामि गंगे के कार्यक्रम में स्वच्छता सफाई अभियान में शिरकत की। महापौर स्मृति वन भी पहुंची और वहां आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सम्मलित हुई।  बीजेपी कार्यालय में भी उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की। गांधी जयंती के समापन कार्यक्रम में महापौर  द्वारा नगर निगम के सभागार में वरिष्ठ भाजपा कार्यकर्ताओं को सम्मानित किया गया 

इनरव्हील क्लब ऋषिकेश एवं एरिना स्पोर्ट्स एकेडमी श्यामपुर के सौजन्य से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 151वीं जयंती बड़े धूमधाम से मनाई



2 अक्टूबर को इनरव्हील क्लब ऋषिकेश एवं एरिना स्पोर्ट्स एकेडमी श्यामपुर के सौजन्य से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की 151वीं जयंती बड़े धूमधाम से मनाई गई। इस अवसर पर भारतीय खेल मंत्रालय द्वारा देश की सबसे बड़ी "रन द फिट इंडिया फ्रीडम रन" का आयोजन भी किया गया ।


कार्यक्रम की शुरुआत इनरव्हील क्लब की अध्यक्ष श्रीमती सलाॅनी गोयल एवं ग्राम प्रधान खैरी कला श्री चंद्र मोहन चमन पोखरियाल व उत्तराखंड स्पोर्ट्स एसोसिएशन के महासचिव व कार्यक्रम संयोजक श्री दिनेश पैन्यूली ने संयुक्त रुप से राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को पुष्प अर्पित करके श्रद्धांजलि देकर साइकिल रेस का उद्घाटन किया ।


साइकिल रेस में 25 प्रतिभागियों ने प्रतिभाग किया जो कि 3 किलोमीटर खैरी गांव के दायरे में की गई जिसका मुख्य उद्देश्य फिटनेस के लिए सभी को जागरूक करना एवं इस कोविड-19 में अपनी इम्यूनिटी सिस्टम को मजबूत रखने का संदेश दिया गया। इनरव्हील क्लब ऋषिकेश के सौजन्य से गांधी जयंती पर सभी प्रतिभागियों को स्मृति चिन्ह भेंट करके उनके उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएं दी गई ।


महामारी की मौजूदा स्थिति और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों को देखते हुए सरकार ने लोगों को अपनी रफ्तार में कहीं भी अपनी सुविधा के हिसाब से दौड़ने को कहा है "द फिट इंडिया फ्रीडम रन" फिट इंडिया मूवमेंट को मजबूत करने और हमारे देश के नागरिकों को फिटनेस की जिंदगी में शामिल करने का एक और कदम है ।


कार्यक्रम में डॉ रितु प्रसाद के द्वारा खिलाड़ियों को बताया गया कि यह स्पर्धा इस समय और जरूरी है क्योंकि इम्युनिटी बढ़ाने के लिए फिट रहना बहुत जरूरी है जो इस कोविड-19 के दौर में बहुत ही ज्यादा जरूरी है,  फिट इंडिया प्रोग्राम भारत सरकार ने स्वतंत्र दिवस पर शुरू किया था जो कि महात्मा गांधी जी की 151 वर्षगांठ, 2 अक्टूबर 2020 पर समाप्त हुई ।

 

 डोईवाला:


 

शहीद दुर्गामल्ल राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय डोईवाला में "गांधी की 150 वी जन्म शताब्दी" केअवसर पर एक गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसका विषय था-"सत्य अहिंसा व मानवता का  भविष्य" ।इस  गोष्ठी के मुख्य वक्ता डॉ विजय शंकर शुक्ला पूर्व सयुंक्त निदेशक ग्राम्य विकास विभाग ने अपने विचार प्रकट करते हुए कहा कि भारत कभी भी पाणिनी ,शंकराचार्य , व गांधी को कभी भुला नही सकेगा। गांधी जी की विशेषता यही रही जो हाशिये पर है, जो महत्त्वहीन है, गांधी जी उनको सामने लाये। उन्होंने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति को "हिन्द  स्वराज" को पढ़ना चाहिए। इस अवसर पर डॉ अफ़रोज़ इक़बाल, डॉपल्लवी मिश्रा, डा० राखी पांचोल, डॉ डी एन तिवारी ने अपने विचार प्रकट करे। गांधीवादी विचारक श्रीमती कुसुम रावत  ने कहा कि गांधी जी को समझने के लिए गांधी जी के धरातल पर आना होगा।  श्री हरवीर सिंह कुशवाहा ने गांधी के विचारों को आत्मसात करने को कहा। इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ डी.सी नैनवाल ने सत्य अहिंसा की प्रासंगिकता पर विचार व्यक्त करते हुए अथितियों का आभार भी व्यक्त किया। कार्यक्रम का संचालन डॉ डी. पी सिंह व डॉ अञ्जलि वर्मा ने किया। कार्यक्रम के अन्त में महाविद्यालय के राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयं सेवियों तथा प्राध्यापकों एवं कर्मचारियों ने महाविद्यालय में श्रमदान के तहत गाजरघास का उन्मूलन किया।

                                                                                                                                                                                  ऋषिकेश :


 

          अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स ऋषिकेश में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर महापुरुषों का भावपूर्ण स्मरण किया गया।                                                                                                                                                             शुक्रवार को संस्थान के निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर रवि कांत जी की अगुवाई में फैकल्टी मेंबर्स, चिकित्सकों व अधिकारियों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी व पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री की जयंती पर उन्हें याद किया और महापुरुषों के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई। इस अवसर पर निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत जी ने संस्थान के विभिन्न परिसरों में स्वच्छता पुरस्कार वितरित किए गए। जिसके लिए गठित निगरानी समिति की संस्तुति पर कॉलेज ब्लॉक, हॉस्पिटल ब्लॉक, लॉन, रेजिडेंशियल एरिया, हॉस्टल आदि क्षेत्रों में तैनात सफाईकर्मियों को प्रथम, द्वितीय व तृतीय पुरस्कार वितरित किए।                                                                                                                                                                                            निदेशक प्रो. रवि कांत जी ने कहा कि कोविड काल में कोरोना वायरस ने हमें  जीवन में साफ सफाई का महत्व समझा दिया है। अब हमें व्यक्तिगततौर पर स्चच्छता का दायरा बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा कि स्वच्छता ही हमारे अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है,लिहाजा हमें अपने समाज व आसपास स्वच्छता पर विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा कि इस स्वच्छता मुहिम में जो लोग अपना श्रेष्ठ स्थान नहीं बना पाए उन्हें भविष्य में पुरस्कार हासिल करने का प्रयास करना चाहिए।                                                                                                                                                                  इस अवसर पर डीन एकेडमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता जी, मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रो. ब्रिजेंद्र सिंह जी, डीन हॉस्पिटल अफेयर्स प्रो. यूबी मिश्रा जी, प्रो. संजीव मित्तल जी, प्रो. प्रशांत पाटिल जी, प्रो. दीपक सत्संगी जी, डा.बलरामजी ओमर,डा.रोहित गुप्ता जी,डा. नवनीत बट्ट जी,वित्तीय सलाहकार कमांडेंट पीके मिश्रा जी,  रजिस्ट्रार राजीव चौधरी जी आदि मौजूद थे।



Post a comment

Powered by Blogger.