Halloween party ideas 2015





अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में हाईपरटेंशन व सांस संबंधी गंभीर रोगों से ग्रसित कोविड पॉजिटिव स्थानीय निवासी एक महिला की मंगलवार को मौत हो गई। उधर, एम्स संस्थान में पिछले 24 घंटे में 25 लोगों की कोविड सेंपल रिपोर्ट पाॅजिटिव पाई गई है। जिसमें 13 स्थानीय लोग शामिल है। इनमें एम्स संस्थान के दो नर्सिंग ऑफिसर भी संक्रमित पाए गए हैं। संस्थान की ओर से इस बाबत स्टेट सर्विलांस ऑ​फिसर को सूचित कर दिया गया है।
एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल जी ने बताया कि संस्थान में भर्ती शिवाजीनगर, ऋषिकेश निवासी 47 वर्षीय हाईपरटेंशन, हाईपरथायोटिज्म व सांस रोग से ग्रसित मरीज की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि मरीज पिछले पांच वर्षों से हाईपरटेंशन व 15 वर्षों से हाईपरथायोटिज्म बीमारी से ग्रसित थी, जिसकी वह लगातार उपचार करा रही थीं। मरीज को पिछले 3 दिनों से बुखार, सांस लेने में अत्यधिक तकलीफ व खांसी की शिकायत के साथ बीती 18 जुलाई शनिवार को एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था। जहां महिला का कोविड सेंपल लिया गया जो कि पॉजिटिव पाया गया। मरीज को संस्थान में नॉनइनेजिवेल वेंटीलेशन पर दो दिन तक रखा गया मगर स्थिति में सुधार नहीं होने पर इन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया, दो दिन तक लगातार तवियत में कोई सुधार नहीं आने पर मंगलवार देरशाम उपचार के दौरान मरीज की मृत्यु हो गई।                                                                                                                                                                                                                                                                                         उधर संस्थान में की गई सेंपलिंग में 25 लोगों की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आई है। उन्होंने बताया कि गंगानगर , ऋषिकेश निवासी 37 वर्षीय पुरुष जो कि बीते मंगलवार को बुखार व खांसी की शिकायत के साथ एम्स स्क्रीनिंग ओपीडी में आए थे, जहां उसका कोविड सेंपल लिया गया व उसे होम आइसोलेशन में भेज दिया गया। उक्त व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। शिवा इंक्लेव ऋषिकेश निवासी 26 वर्षीय व्यक्ति जो ​कि एम्स में पीडियाट्रिक्स विभाग में नर्सिंग ऑफिसर हैं, उनका बीते मंगलवार को एम्स ओपीडी में कोविड सेंपल लिया गया था। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वह एसिम्टमेटिक (जिसमें रोग के लक्षण नहीं दिखाई पड़ते) हैं। बताया गया कि वह संस्थान की एक अन्य कोविड संक्रमित महिला नर्सिंग ऑफिसर के प्राइमरी कांटेक्ट में थे। आवास विकास ऋषिकेश निवासी एम्स के कोविड वार्ड में तैनात 26 वर्षीया महिला नर्सिंग ऑफिसर जो कि  21 जुलाई को एम्स ओपीडी में आई थीं, जहां उनका सेंपल लिया गया था, इसके बाद उन्हें सीमा डेंटल कॉलेज में आइसोलेशन में भेज दिया गया। उनकी रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आई है, बताया गया कि वह बीते दिनों मुजफ्फरनगर से ऋषिकेश आई थी। आईडीपीएल निवासी 34 वर्षीया महिला जो कि 21 जुुलाई को बुखार व कफ की शिकायत के साथ एम्स ओपीडी में आई थी, जहां उसका कोविड सेंपल लिया गया जो कि पॉजिटिव आया है। बताया गया कि महिला हरिद्वार स्थित एक फैक्ट्री में कार्यरत कोविड पॉजिटिव व्यक्ति के प्राइमरी कांटेक्ट में आई थी, गौरतलब है कि हरिद्वार की इस फैक्ट्री में सैकड़ों कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। टिहरी गढ़वाल निवासी 28 वर्षीय पुरुष जो कि न्यूरो से संबंधित उपचार के लिए बीते 22 जून को यहां भर्ती हुआ था, जिसका पहला कोविड सेंपल 22 जून को लिया गया जो कि नेगेटिव आया था। उक्त व्यक्ति का दूसरा सेंपल पॉजिटिव पाया गया है, जिसके बाद उसे कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। सहारनपुर निवासी 35 वर्षीया महिला जो कि न्यूरो संंबंधी उपचार के लिए बीती 7 जुलाई को एम्स में भर्ती हुई थी, भर्ती के समय महिला का पहला सेंपल नेगेटिव आया था। महिला का 19 जुलाई को लिया गया दूसरा सेंपल कोविड पॉजिटिव आया है,जिसके बाद उसे एम्स के कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। गोल्डन पार्क, रामपुर ईस्ट दिल्ली निवासी 59 वर्षीया महिला जो कि न्यूरोलॉजी विभाग में 4 जुलाई से भर्ती है। जिसका 4 जुलाई को लिया गया सेंपल नेगेटिव आया था, इसके बाद महिला का बीते रविवार को दूसरा सेंपल लिया गया जो कोविड पॉजिटिव पाया गया है। इसके बाद महिला को कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। ऋषिकेश के नंदू फार्म निवासी 51 वर्षीया महिला जो कि बीती 3 जुलाई से एम्स के न्यूरोलॉजी वार्ड में भर्ती है,जिसका 3 जुलाई को लिया गया पहला कोविड सेंपल नेगेटिव आया था, 19 जुलाई को लिया गया महिला का दूसरा सेंपल कोविड पॉजिटिव पाया गया है, इसके बाद उसे कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। नगीना,जिला बिजनौर उत्तरप्रदेश निवासी 24 वर्षीया महिला जो कि बीते मंगलवार को पेट में दर्द आदि शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आई थी, जिसका वहां कोविड सेंपल लिया गया था, जो कि कोविड पॉजिटिव पाई गई है। श्यामपुर ऋषिकेश निवासी एक 41 वर्षीय व दूसरा 48 वर्षीय पुरुष जो कि 19 जुलाई को एम्स इमरजेंसी में आए थे, जहां इनका सेंपल लिया गया व दोनों को सीमा डेंटल कॉलेज में क्वारंटाइन कर दिया गया था। उक्त दोनों व्यक्तियों का कोविड सेंपल पॉजिटिव पाया गया है। बताया कि उक्त व्यक्ति का प्राइमरी कांटेक्ट हरिद्वार की एक फैक्ट्री के कोविड संक्रमित कर्मचारियों से रहा है, गौरतलब है कि उक्त फैक्ट्री के सैकड़ों कर्मचारी हाल में कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। खानपुर, मुजफ्फरनगर यूपी निवासी 40 वर्षीय पुरुष जो कि 25 जून को एम्स के न्यूरोलॉजी विभाग में उपचार के लिए भर्ती हुुआ था। जिसका 25 जून को लिया गया कोविड सेंपल नेगेटिव आया था। उक्त व्यक्ति का दूसरा सेंपल 19 जुलाई को लिया गया जो पॉजिटिव आया है। उक्त व्यक्ति को एम्स कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। एक अन्य मामला श्यामपुर ऋषिकेश निवासी 43 वर्षीय व्यक्ति का है, जो कि बीते रविवार को खांसी व सांस लेने में तकलीफ की शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आया था,जिसका सेंपल कोविड पॉजिटिव पाया गया है। बताया गया कि उक्त व्यक्ति हरिद्वार स्थित एक फैक्ट्री के कोरोना संक्रमित कर्मचारियों के प्राइमरी कांटेक्ट में आया था। उक्त व्यक्ति को एम्स कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। शाहजहानपुर, सहारनपुर यूपी निवासी 36 वर्षीया महिला बीती 10 जुलाई को न्यूरो संबंधी तकलीफ होने पर एम्स के न्यूरोलॉजी वार्ड में भर्ती हुई थी, उक्त तिथि पर लिया गया इसका पहला कोविड सेंपल नेगेटिव पाया गया था। महिला का दूसरा सेंपल 19 जुलाई को लिया गया जो कि पॉजिटिव आया है, इसके बाद उसे कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। रायवाला, देहरादून निवासी 42 वर्षीय पुरुष व चमोली गढ़वाल निवासी 41 वर्षीय पुरुष जो ​कि बीते रविवार को खांसी की शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आया था, जहां इसका कोविड सेंपल लिया गया जो कि पॉजिटिव पाया गया। गौरतलब है कि उक्त दोनों पेशेंट हरिद्वार की एक कंपनी के कर्मचारियों के प्राइमरी कांटेक्ट में आए थे, जहां सैकड़ों कर्मचारी कोविड संक्रमित पाए गए हैं। दोनों मरीजों को नजदीकी कोविड केयर सेंटर (सीसीसी) में भर्ती होने को कहा है। टिहरी गढ़वाल निवासी 24 वर्षीय महिला जो कि बीती 5 जुलाई को एम्स न्यूरोलॉजी विभाग में भर्ती हुई थी, जिसका उसी तिथि पर लिया गया पहला कोविड सेंपल नेगेटिव पाया गया था, उक्त महिला का दूसरा सेंपल 19 जुलाई को लिया गया जो कोविड पॉजिटिव आया है। महिला को एम्स कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। एक अन्य मामले में गुड्डू प्लॉट श्यामपुर ऋषिकेश निवासी एक 6 वर्षीय बच्चा जो कि बीते सोमवार को बुखार व गले में दर्द की शिकायत के साथ एम्स स्क्रीनिंग ओपीडी में परीक्षण के लिए आया था, जिसका सेंपल लिया गया जो कि कोविड पॉजिटिव पाया गया है। ​भिवानी, हरियाणा निवासी 49 वर्षीय पुरुष जो कि बीते सोमवार को पेनक्रियाटिस के उपचार के लिए एम्स ऋषिकेश के गेस्ट्रोइंट्रोलॉजी वार्ड में भर्ती हुआ था, उक्त व्यक्ति की कोविड टेस्ट सेंपल रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, जिसके बाद उसे कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। मंगलौर, रुड़की निवासी 60 वर्षीय पुरुष जो कि बीते मंगलवार को एम्स इमरजेंसी में शारीरिक कमजोरी आदि शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आया था,जिसका कोविड सेंपल लिया गया गया, जो पॉजिटिव पाया गया है, मरीज को एम्स के कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। उग्रसेननगर, ऋषिकेश निवासी एक 52 वर्षीय महिला जो कि बुखार व खांसी की शिकायत के साथ 21 जुलाई को एम्स ओपीडी में आई थी, उनकी कोविड सेंपल रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है, पेशेंट को कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। भारत माहता पुरम, हरिद्वार निवासी एक अन्य 45 वर्षीय  व्यक्ति जो कि  बीते मंगलवार को बुखार, खांसी आ​दि शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आए थे, जहां इनका कोविड सेंपल लिया गया व उन्हें कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया,बुधवार को रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आने पर उक्त व्यक्ति को एम्स कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। पुरानी चुंगी, देहरादून निवासी एक 55 वर्षीय व्यक्ति जो कि 21 जुलाई को छाती में दर्द व खांसी की शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आए थे, उन्हें सेंपल लेने के बाद कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया, रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर पेशेंट को बुधवार को कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। इसी प्रकार श्यामपुर ऋषिकेश निवासी एक 45 वर्षीय व एक अन्य 38 वर्षीय पुरुष जिन्हें बीते रविवार को एम्स इमरजेंसी में लाया गया था, जहां इनका कोविड सेंपल लिया गया व उन्हें सीमा डेंटल कॉलेज में क्वारंटाइन में भेज दिया गया। बुधवार को उक्त दोनों व्यक्तियों की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आने पर उन्हें नजदीकी सीसीसी सेंटर में भर्ती होने को कहा गया है। गौरतलब है कि उक्त दोनों व्यक्ति हरिद्वार की एक फैक्ट्री के कर्मचारियों के प्राइमरी कांटेक्ट में आए थे, जिस फैक्ट्री के सैकड़ों कर्मचारी हाल ही में कोविड संक्रमित पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि संबंधित मामलों के बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है।


Post a comment

Powered by Blogger.