Halloween party ideas 2015




उत्तराखंड में आज कोरोना पॉजिटिव के 145 मामले आए हैं।  जिसे मिलाकर उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के कुल मामले अब 5445 हो गए हैं। जिसमें सक्रिय केसों की संख्या 1948 है आज 50 लोग ठीक हो चुके है, रिकवर मामलों की संख्या 3399 है। अभी तक 60 लोगों मृत्यु हो चुकी है, आज 3473 लोगों के सैंपल रिपोर्ट  नेगेटिव पाए गए हैं।  उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के ठीक होने की दर घटकर 62.42% हो गयी है। उत्तराखंड कंटेनमेंट जोन बढ़कर 172 हो गए है। आज देहरादून जनपद से 68, अल्मोड़ा से 3, हरिद्वार से 32, नैनीताल से 31, टिहरी से 4 और उत्तरकाशी से 7 कोरोना संक्रमण के मामले सामने आए हैं। 47 व्यक्ति पहले से संक्रमित व्यक्तियों  के संपर्क में  आने से कोरोना के शिकार हुए हैं, 4 हेल्थ केयर वर्कर है, 8 फ्लू के मरीज है, 78 लोगों की ट्रैवल हिस्ट्री ज्ञात नहीं है, बाकी सब प्रवासी उत्तराखंड है।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स संस्थान में सहारनपुर निवासी निमोनिया व हाईपरटेंशन से ग्रसित कोविड पॉजिटिव 63 वर्षीय व्यक्ति की बृहस्पतिवार को सुबह मृत्यु हो गई। उधर पिछले 24 घंटे में हुई कोविड सेंपल जांच में 15 लोगों की रिपोर्ट कोविड पाॅजिटिव आई है। जिसमें 4 स्थानीय लोग भी शामिल है। संस्थान की ओर से इस बाबत स्टेट सर्विलांस ऑ​फिसर को सूचित कर दिया गया है।
एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल जी ने बताया कि कालूवाला, सहारनपुर निवासी 63 वर्षीय व्यक्ति को बीते रविवार 19 जुलाई को एम्स में भर्ती किया गया था, जो कि हाईपरटेंशन, निमोनिया जैसी गंभीर बीमारियों से ग्रसित था। संस्थान में भर्ती के बाद उनका कोविड सेंपल लिया गया,जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई। बृहस्पतिवार को तड़के उपचार के दौरान मरीज की मृत्यु हो गई। उन्होंने बताया कि संस्थान में की गई कोविड सेंपलिंग में 15 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं।  उन्होंने बताया कि श्यामपुर, ऋषिकेश निवासी एक 42 वर्षीय व्यक्ति व एक अन्य 46 वर्षीय व्यक्ति जो कि बीती 19 जुलाई को एम्स इमरजेंसी में आए थे, जहां चिकित्सकों ने उनका कोविड सेंपल लिया गया था, जिसके बाद से दोनों लोग सीमा डेंटल कॉलेज ऋषिकेश में आइसोलेशन में हैं। उक्त व्यक्तियों की रिपोर्ट बुधवार देरशाम कोविड पॉजिटिव आई है। गौरतलब है कि श्यामपुर निवासी उक्त दोनों व्यक्तियों का हरिद्वार स्थित एक फैक्ट्री के कोविड पॉजिटिव कर्मचारियों से प्राइमरी कांटेक्ट रहा है, गौरतलब है कि हाल ही में सिडकुल, हरिद्वार की उक्त फैक्ट्री के सैकड़ों कर्मचारियों की को​विड सेंपलिंग रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्हें नजदीकी कोविड केयर सेंटर सीसीसी सेंटर में दाखिल होने को कहा गया है।                                                                                                                                                                                                      तीसरा मामला आईडीपीएल,ऋषिकेश निवासी एक 9 वर्षीय बालिका का है, जो कि  बीते मंगलवार को एम्स ओपीडी में आई थी। जहां उसका कोविड सेंपल लिया गया था,जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। यह बालिका सेंपल लेने की तिथि के बाद से होम क्वारंटाइन है। इसके पिता पूर्व में कोरोना संक्रमित पाए गए हैं, लिहाजा यह उन्हीं के प्राइमरी कांटेक्ट में आने से संक्रमित हुई है। आईटीबीपी कैंप,आवास विकास कॉलोनी ऋषिकेश निवासी 49 वर्षीय व्यक्ति जो कि बुधवार को ओपीडी में आया था,जिसे बीती 16 जुलाई से बुखार, शरीर में दर्द व खांसी की शिकायत थी। जहां इसका कोविड सेंपल लिया गया, जो कि पॉजिटिव पाया गया है। सुमन विहार बापूग्राम ऋषिकेश निवासी 28 वर्षीय पुरुष जो ​कि बीते बुधवार को एम्स ओपीडी में आए थे, चिकित्सकों ने उसका कोविड सेंपल लिया जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा तीन मामले रानीपोखरी, देहरादून क्षेत्र के एक ही परिवार के हैं। रानीपोखरी निवासी एक 47 वर्षीया महिला, उसकी 14 वर्षीया बेटी व 11 वर्षीया पुत्र बीते बुधवार 22 जुलाई का एम्स ओपीडी में पहुंचे, जिनकी कोविड सेंपल रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। तीनों को नजदीकी सीसीसी सेंटर में एडमिट होने को कहा गया है। गौरतलब है कि उक्त 47 वर्षीया महिला के पति पूर्व में कोविड संक्रमित पाए गए थे, जिनके प्राइमरी कांटेक्ट के कारण महिला व उनके दोनों बच्चे कोविड संक्रमित हुए हैं।  एक अन्य मामला नारसन, हरिद्वार निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति बुधवार को बुखार व खांसी की शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आया था, जिसे 8 जुलाई से यह समस्या चल रही थी। चिकित्सकों ने उसका कोविड सेंपल लिया जो कि पॉजिटिव पाया गया है। गौरतलब है कि उक्त व्यक्ति हरिद्वार की एक फैक्ट्री के कोविड संक्रमित कर्मचारियों के प्राइमरी कांटेक्ट में था। हल्द्वानी, नैनीताल निवासी 37 वर्षीय पुरुष का बीते बुधवार को एम्स में कोविड सेंपल लिया गया था, जो कि​ पॉजिटिव पाया गया है। उक्त व्यक्ति को कोविड आइसोलेशन वार्ड आईपीडी से कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। टिहरी के कांडा निवासी एक 70 वर्षीय बुजुर्ग जो कि पिछले दो दिनों से लगातार उल्टी की शिकायत के साथ 19 जुलाई को एम्स इमरजेंसी में आए थे। जहां इनका कोविड सेंपल लिया गया व उन्हें एम्स के कोविड आइसोलेशन पार्ड में भर्ती कर दिया गया। बुजुर्ग व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उन्हें कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। एक अन्य मामला हरिद्वार क्षेत्र का है, भोपतवाला, हरिद्वार निवासी 35 वर्षीय पुरुष जो कि बीते रविवार को एम्स इमरजेंसी में आए थे, जहां उनका सेंपल लिया गया था, साथ ही उन्हें सीमा डेंटल कॉलेज ऋषिकेश में क्वारंटाइन कर दिया गया। उनकी रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव पाई गई है। बताया गया कि  वह अपने एक कोविड संक्रमित पाए गए रिश्तेदार के प्राइमरी कांटेक्ट में आने से कोविड पॉजिटिव हुए हैं। यह पेशेंट एसिम्टमेटिक जिसमें रोग के लक्षणों का पता नहीं चल पाता है। बिजनौर, यूपी निवासी 1 वर्षीय मास्टर यॉंग जो कि एम्स के पीडियाट्रिक सर्जरी वार्ड में भर्ती था, पेशेंट का 20 जुलाई को कोविड सेंपल लिया गया, जो कि पॉजिटिव पाया गया है। पेशेंट वर्तमान में होम क्वारंटाइन है,लिहाजा इस बाबत एम्स संस्थान की ओर से मुख्य चिकित्सा अधिकारी बिजनौर को सूचित कर दिया गया है। एक अन्य मामला बीएचईएल भेल, हरिद्वार क्षेत्र का है। भेल निवासी 28 वर्षीय पुरुष जो कि पेनक्रियाटिट्स के उपचार को लेकर बीती 13 जुलाई को एम्स आईपीडी में भर्ती हुए,जिनका 13 जुलाई को लिया गया पहली को​विड सेंपल रिपोर्ट नेगेटिव आई थी। जबकि 19 जुलाई को दूसरा सेंपल कोविड पॉजिटिव पाया गया है। जिसके बाद उन्हें आईपीडी से को​विड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। अंतिम मामला उत्तरकाशी का है। आईटीबीपी कैंप उत्तरकाशी निवासी एक 51 वर्षीय पुरूष जो कि बीते मंगलवार को खांसी व बुखार की शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आए थे। जहां उनका कोविड सेंपल लिया गया व उन्हें कोविड आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया । जिसकी रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव पाए जाने पर उक्त व्यक्ति को आइसोलेशन वार्ड से कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया है। उक्त व्यक्ति की ट्रेवल हिस्ट्री रही है, वह हाल ही में छत्तीसगढ़ से उत्तरकाशी आया था। उन्होंने बताया कि संबंधित मामलों के बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है।

Post a comment

Powered by Blogger.