Halloween party ideas 2015

ऋषिकेश:


                                                                                                                                                  एम्स ऋषिकेश में  ग्रीष्मकाल के मद्देनजर अस्पताल में चिकित्सकीय परामर्श व उपचार के लिए आने वाले मरीजों व उनके तीमारदारों को अब और अधिक सुविधाएं उपलब्ध हो सकेंगी। एम्स निदेशक पद्मश्री प्रोफेसर र​वि कांत ने इसके लिए अधीनस्थों को आवश्यक व्यवस्थाएं जुटाने के लिए दिशा निर्देश जारी किए हैं। जिससे कोविड काल में सोशल डिस्टेंसिंग के मानकों का पालन सुनिश्चित किया जा सके।                                                                                                                                    

                                                                                                                                            मंगलवार को निदेशक एम्स पद्मश्री प्रो. रवि कांत ने एम्स अस्पताल में तैयारियों का जायजा लिया। साथ ही उन्होंने विभिन्न ओपीडी, इमरजेंसी व ट्रॉमा सेंटर में संचालित कोविड वार्ड में व्यवस्थाओं का जायजा लिया। एम्स निदेशक ने अस्पताल प्रशासन को ग्रीष्मकाल के मद्देनजर कोविड स्क्रीनिंग ओपीडी में आने वाले मरीजों व उनके तीमारदारों को जरुरी व्यवस्थाओं में इजाफा करने के निर्देश दिए,जिससे मरीजों को परेशानी का सामना नहीं करना पड़े।     
       इस दौरान निदेशक एम्स प्रो. रवि कांत  ने एम्स अस्पताल प्रशासन व इंजीनियरिंग विभाग को मरीजों व उनके तीमारदारों के लिए सोशल डिस्टेंसिंग के पालन के लिए बैठने के लिए बैंच आदि की आवश्यक व्यवस्थाओं को बढ़ाने को कहा। इसके अलावा धूप व गर्मी से बचाव के लिए शेड, पेयजल व्यवस्था व पंखे आदि जरुरी सुविधाएं जुटाने के निर्देश दिए गए।                                                                                                                    इस अवसर पर डीन (हॉस्पिटल अफेयर्स) प्रो. यूबी मिश्रा, नोडल ऑफिसर कोविड डा. मधुर उनियाल, अधीक्षण अभियंता अनुराग सिंह, अधिशासी अभियंता एनपी सिंह आदि मौजूद थे।


कल ,एम्स ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में 6 लोगों की रिपोर्ट कोविड पाॅजिटिव आई है। जिसमें संस्थान के दो नर्सिंग ऑफिसर भी शामिल हैं। जबकि दो लोग स्थानीय और अन्य दो उत्तरप्रदेश के मूल निवासी हैं। संस्थान की ओर से सभी कोविड पॉजिटिव पेशेंट के बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है।

 एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल  ने बताया कि संस्थान में की गई सेंपलिंग में 6 लोग कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं। उन्होंने बताया कि ​शिवाजीनगर गली नंबर 9 निवासी एक 22 वर्षीया युवती जो कि एम्स में कोविड आइसोलेशन वार्ड में कार्यरत है, जो कि बुखार की शिकायत के साथ बीती 20 जून को कोविड स्क्रीनिंग ओपीडी में जांच के लिए आई थी,जहां इनका कोविड सेंपल लिया गया था, व इसके बाद से वह होम आइसोलेशन में थीं। 20 जून को इनका पहला सेंपल नेगेटिव आया था, जबकि 26 जून को लिया गया दूसरे कोविड सेंपल की रिपोर्ट सोमवार देरशाम पॉजिटिव आई है।

 जिसके बाद से पेशेंट को एम्स कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। इसी प्रकार भरत विहार, ऋषिकेश निवासी एम्स संस्थान की एक अन्य 26 वर्षीया नर्सिंग ऑफिसर जो कि  ब्रेस्ट सर्जरी वार्ड में कार्यरत हैं, उनका बीती 26 जून को ओपीडी में कोविड सेंपल लिया गया था, जो कि पॉजिटिव पाया गया है। उन्होंने बताया कि पेशेंट एसिम्टमेटिक जिसमें रोग के लक्षण नहीं पाए जाते है।

 रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आने पर उन्हें एम्स कोविड वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। इसी प्रकार तीसरा मामला चांदपुर बिजनौर, उत्तरप्रदेश निवासी 41 वर्षीय व्यक्ति जो कि बीती 26 जून को पीलिया की शिकायत के साथ एम्स कोविड स्क्रीनिंग ओपीडी में पीलिया की जांच के लिए आए थे। जिनका कोविड सेंपल लिया गया था, पेशेंट एसिम्टमेटिक है जिनकी रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव आई है। एक अन्य मामले में दागदेवी नुक्कड़, सहारनपुर उत्तरप्रदेश निवासी एक 47 वर्षीय व्यक्ति बीती 27 जून को एम्स ओपीडी में जांच के लिए आए थे,जिनका ओपीडी में कोविड सेंपल लिया गया, जो कि पॉजिटिव आया है।

ऋषिकेश के मनसादेवी निवासी एक 10 वर्षीय किशोर जो कि बीती 25 जून को एम्स ओपीडी में पिछले दो दिनों से बुखार की शिकायत के साथ स्क्रीनिंग ओपीडी में जांच के लिए आया था। जिसका कोविड सेंपल लिया गया था व उसे आवश्यक सावधानियों के बाबत जानकारी देकर होम आइसोलेशन में भेज दिया गया था। किशोर की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव पाई गई है। इसके अलावा रेशम माजरी ग्रांट, डोईवाला निवासी एक 35 वर्षीय युवक जो कि एम्स में भर्ती मरीज के अटेंडेंट है तथा बीती 26 जून को एम्स में किसी पेशेंट को रक्तदान के लिए एम्स ब्लड बैंक में आए थे, जहां इनका कोविड सेंपल लिया गया था। जिसकी रिपोर्ट सोमवार देरशाम कोविड पॉजिटिव आई है। स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को संबंधित व्यक्ति को नजदीकी सीसीसी सेंटर में भर्ती कराने को कहा गया है। उन्होंने बताया कि अन्य सभी मामलों के बाबत संस्थान की ओर से स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है।

Post a comment

Powered by Blogger.