Halloween party ideas 2015




रूद्रप्रयाग, टिहरी और मसूरी के जिला अस्पतालों को मैडिकल उपकरण सहित प्रदान की जा रही है एम्बुलेंस


  • उधमसिंह नगर एवं चंपावत के क्वारंटीन सेंटरों में 6 हजार बिस्तर सहित प्रदान किए पेडेस्टल फैन
  • हंस फाउंडेशन दुनिया के सेवा पटल पर इस संकट के समय में संजीवनी बनकर लाखों लोगों के लिए वरदान बनकर खड़ा हुआ है।


माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज के मार्गदर्शन में हंस फाउंडेशन उत्तराखंड सहित देश भर में कोविड-19 से लड़ने के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर मानव कल्याण के कार्यों में निरंतर सहयोग कर रहा है।

इस श्रृंखला में उत्तराखंड के चंपावत एवं उधमसिंह नगर में बने  क्वारंटीन सेंटरों को हंस फाउंडेशन ने महत्वपूर्ण सहयोग प्रदान किया है। जिसमें उधमसिंह नगर में बने क्वारंटीन सेंटर में 5000  बेडिंग सैट, 10,000 बेड सीट,5000 तकिए, 5000 मोसक्यूटो नेट और 500 पेडेस्टल फैन प्रदान किए हैं ।

चंपावत में बने क्वारंटीन सेंटर को 1000 बेडिंग सैट,1000 बेड सीट,1000 तकिए, 500  मोसक्यूटो नेट,100 पेडेस्टल फैन और 500 चारपाई प्रदान की है।

 ताकि इन सेंटरों में आने वाले लोगों को किसी भी तरह की दिक्कत न हो और जरूरत पड़ने पर इन क्वारंटीन सेंटरों को अस्पताल में भी तबदील किया जा सके।






इसी के साथ  रूद्रप्रयाग के जिला अस्पताल को वेंटिलेटर,ऑक्सीजन कंसंट्रेटर,एक्स रे मशीन सहित विभिन्न स्वास्थ्य उपकरण प्रदान किए गए  है। साथ ही इस अस्पताल को जल्द ही  फाउंडेशन के माध्मय से एम्बुलेंस(टाटा विंगर) प्रदान की जाएगी ।

टिहरी  की बात करें तो टिहरी जिला अस्पताल को रोगी वाहन(टाटा विंगर ) और वेंटिलेटर प्रदान किया जाएगा।

इसी तरह मसूरी जिला अस्पताल को  टाटा विंगर एम्बुलेंस एवं बोलेरो एम्बुलेंस प्रदान की जाएगी।

 उत्तराखंड का स्वास्थ्य विभाग मुख्यमंत्री की देख-रेख में प्रदेश के हर जिले में लोगों के इलाज और उनकी देख-रेख ठीक से हो सके। इसके लिए क्वारंटीन सेंटरों का निर्माण कर रहा है।
हंस फाउंडेशन इस दिशा में राज्य सरकार और अधिकारियों के साथ मिलकर इस दिशा में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

उत्तराखंड में राज्य सरकार द्वारा बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों में हंस फाउंडेनश द्वारा प्रदान की जा रही है खाद्य सामग्री

हंस फाउंडेशन ने कोविड-19 संक्रमण के चलते उत्तराखंड लौटे प्रवासी,उत्तराखंडियों के लिए स्थापित क्वारंटीन सेंटरों में रह रहे लोगों तक निरंतर मदद पहुँचा रहा है ।
फाउंडेशन ने उत्तराखंड के पोखड़ा,रिखणीखाल और देवप्रयाग में राज्य सरकार द्वारा बनाए गए क्वारंटीन सेंटरों में रह रहे लोगों के लिए खाद्य सामग्री एवं अन्य जरूरी सामान प्रदान किया है।

सरकार और प्रवासियों ने कहा धन्यवाद हंस फाउंडेशन

कोविड-19 संक्रमण के चलते महामारी की आगोश में फंसे देश को उभारने के लिए हंस फाउंडेशन माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज की प्रेरणा से उत्तराखंड सहित देश के कई अन्य हिस्सों में  सोशल डिस्टेसिंग का अनुपालन करते हुए डिजिटल इंडिया के माध्यम से लाखों गरीब परिवारों तक राशन,मास्क और तमाम दूसरी सेवाएं पहुंचा रहा है।
जिसके लिए प्रवासी उत्तराखंडियों ने माता मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज का कोटि-कोटि आभार व्यक्त किया है।

आपको बता दें की हंस फाउंडेशन ने कोविड-19 से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री राहत कोष में 4 करोड़ा रूपये की राशि प्रदान की हैं। इसी के साथ उत्तराखंड को कोरोना वायरस से निपटने के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में 1 करोड़ 51 लाख रूपये की राशि प्रदान की है।

सेवा अस्माकं धर्म के पथ पर चलते हुए माताश्री मंगला जी एवं श्री भोले जी महाराज जी इस संकट से देश को जल्द से जल्द उभारने के लिए निरंतर सेवा दे रहे है।

Post a comment

Powered by Blogger.