Halloween party ideas 2015


हरिद्वार:



  • देवभूमि बधिर एसोसिएशन कोरोनाकाल मे 51दिन लगातार सेवाधर्म निभाने वाला देश का पहला मूक बधिर संगठन-संदीप अरोड़ा
  • सरकार दिव्यांगो की भी सुध ले
  • देवभूमि बधिर एसोसिएशन और श्रीसाई इंस्टीटयूट के अभियान गंगा मां की रसोई भंडार का जरूरतमंदो को राशन सामग्री वितरण का 51वें दिन समापन कार्यक्रम

गंगा मां की रसोई भंडार के कार्यक्रम संयोजक संदीप अरोड़ा ने कहा कि हमारा संगठन देवभूमि बधिर एसोसिएशन देश का वह पहला मूक बधिर संगठन है जो कोरोना जैसी भयंकर महामारी मे 51 दिनो से लगातार गरीबो, दिव्यांगो एवं जरूरतमंदो की सेवा कर रहा है। कई बधिरो ने कार्यक्रम मे शामिल होकर जरूरतमंदो को अपने हाथो से राशन बांटे।वह देवभूमि बधिर एसोसिएशन और श्रीसाई इंस्टीटयूट के अभियान गंगा मां की रसोई भंडार के 51वें दिन समापन कार्यक्रम के मौके पर बोल रहे है।

इस दौरान 51 जरूरतमंद परिवारो को राशन किट वितरित किया गया। साथ ही साबुन, शैम्पू, लोशन के 500 किट भी बांटे गये। संदीप अरोड़ा ने यह भी कहा कि हर किसी को इस तरह की सेवा जरूर करना चाहिए ताकि कोई भी भूखा ना रहने पाए।।
संदीप अरोड़ा ने यह भी कहा कि हम मूक बधिरो ने सरकार की काफी हद तक मदद कर दी है। सरकार को चाहिए कि वह मूक बधिरो और दिव्यांगो की भी सुध ले।इस दौरान मूक बधिरो ने भी चन्द्राचार्य चौक पर 30 दर्जन पुलिसकर्मियो और 18 सफाईकर्मियो पर फूल बरसा कर और साफा पहनाकर उनका जोरदार सम्मान भी किया।
सफाईकर्मियो को राशन भी वितरित किया गया।श्रीसाई इंस्टीटयूट के प्रबंध निदेशक संजीव शर्मा ने कहा कि ये सब कोरोना योद्घा स्वयं को खतरे मे डाल पूरे दिन डयूटी मे रहकर शहर की जनता की सुरक्षा मे लगे है। इसलिए इन योद्घाओ का सम्मान आवश्यक है ताकि इनका हौसला बढ़ाया जा सके।यह कार्य देश के प्रति समर्पण भावना और मान सम्मान के तहत किया गया है।
 सामाजिक कार्यकर्ता अंकित राठौर ने कहा कि हमारे इस तरह की सेवा का मकसद नर सेवा नारायण सेवा के साथ साथ सरकार के सिर से बोझ भी हल्का करना है। अगर आगे को जब भी इस तरह का आपदा आयेगा तो गंगा मां की रसोई भंडार फिर से सेवा शुरू सामाजिक जिम्मेदारी निभायेगी।इस दौरान टीबड़ी, वाटर वर्क्स, कनखल के शेखपुरा, पुरूषोतम विहार, ज्वालापुर के शास्त्रीनगर, आर्यनगर, लोधामंडी, ट्रक यूनियन, संदेशनगर, गली हिमालय डिपो, जगजीतपुर आदि कई स्थानो से आए लोगो को राशन सामग्री बांटा गया।

Post a comment

Powered by Blogger.