Halloween party ideas 2015

 

ऋषिकेश;




  न्याय पंचायत श्यामपुर की ग्राम सभा के अंतर्गत गुलजार फार्म की स्वयं सहायता समूह की महिलाएं इन दिनों हर्बल रंगों को बनाने में जुटी हुई है। जिससे होली पर रसायन रंगों से नहीं बल्कि हर्बल रंगों से होली खेली जा सके।

 अपणु पहाड़ ग्राम संगठन श्यामपुर की अध्यक्ष सोनी रावत के नेतृत्व में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के द्वारा हर्बल रंग तैयार किए जा रहे।अपणु पहाड़ ग्राम संगठन श्यामपुर में 6 स्वयं सहायता समूह है जो कि विकासखंड डोईवाला में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत पंजीकृत हैं। हर्बल रंग बनाने का चार दिवसीय प्रशिक्षण पेशे से हस्तशिल्प कला ईशा कलूडा द्वारा दिया जा रहा है। जिसमें रंगों को बनाने से लेकर रंगों को पैकिंग करने का प्रशिक्षण बताया गया।स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं ने घर पर ही नवनिर्मित पालक ,चुकंदर गेंदा ,नीम, करी पत्ता ,मेथी ,टेसू के फूल, गुलाब के पंखुड़ियों ,पुदीना ,तुलसी से निर्मित हर्बल रंग बनाए।  सभी स्वयं सहायता समूह विकासखंड डोईवाला में राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत पंजीकृत हैं।

 प्रशिक्षण ईशा कलूडा ने कहा हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी हर्बल रंग बनाये हैं, पिछले वर्ष हर्बल रंगों को लोगों ने खूब पसंद किए। इस बार हर्बल रंगों की मांग अधिक है। अभी तक 14 समूहों को निःशुल्क होली के रंग देने का प्रशिक्षण दिया है। महिलाओं को  स्वरोजगार से जोड़ना उनकी प्रथम पहले  है, जिससे महिलाएं आत्मनिर्भर की ओर अग्रसर हुए। 

  ग्राम संगठन की अध्यक्ष सोनी रावत ने बताया महिलाएं खुद को आत्मनिर्भर की ओर अग्रसर व लोकल फाॅर वोकल को बढ़ावा दे रही है, महिलाओं द्वारा जो हर्बल रंग बनाये हैं ,उसे अपने ग्रामीण क्षेत्र स्टॉल लगाकर बेचेगे जिससे महिलाओं के लिए रोजगार के साधन उपलब्ध होंगे, ग्रामीणों से अपील है कि लोकल फॉर वोकल को बढ़ावा दें।

हर्बल रंग बनाने में मंजू मंगाई,शालिनी नेगी उत्तरा शांता ,वीमा देवी, संतोषी ,अनीता नेगी ,रागिनी, ईशा कलूडा , मधु रावत ,रसना कैंतुरा ,ममता नेगी ,विनीता ,रोशनी ,बबली देवी मोनिका मौजूद रहे |

Post a Comment

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved
Powered by Blogger.