Halloween party ideas 2015

 

देहरादून :





 जिलाधिकारी ने अवगत कराया कि प्रभावित क्षेत्र में विभिन्न विभागों की टीमें एनडीआरफ, एसडीआरफ, राजस्व, चिकित्सा, वेटनरी, पुलिस विभाग, सिंचाई, जिला पंचायत, लोनिवि, आदि सम्बन्धित विभागों से अधिकारी/कार्मिक आपदा राहत कार्यों लगे हैं तथा जनजीवन को सामान्य लाने में कार्य कर रही हैं तथा क्षेत्र में सभी मूलभूत सुविधा मुहैया कराई जा रही है। 

साथ ही शिविर भी लगाया गया है जहां पर राहत सामग्री वितरित की जा रही है, कच्चा राशन, गैस सिलेण्डर-चूल्हा, महिला, पुरूष तथा बच्चों के कपड़े, फोल्डिंग पलंग, गद्दे आदि प्रभावितों को वितरित की जा रही है, जो लोग शिविर तक नहीं आ पा रहे उनको पका हुआ भोजन पंहुचाया जा रहा है। 


साथ ही मकान, कृषि भूमि, फसल नुकशान का आंकलन कर अहैतुक सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। सभी अधिकारियों को युद्धस्तर पर कार्य करते हुए जनजीवन को सामान्य बनाने के निर्देश दिए गए है। 

जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को आपदा प्रभावित क्षेत्र सरखेत में चिकित्सा टीम तैनात रखने तथा रेस्क्यू आपरेशन के दौरान शव बरामद होने की सम्भावनाओं के दृष्टिगत पोस्टमार्टम टीम तैनात करने के निर्देश दिए गए हैं, जिससे मौके पर ही पोस्टमार्टम करते हुए पंचनामा आदि कार्यवाही सम्पादित की जा सके ताकि परिजनों को अनावश्यक न भटकना पड़े।

जनपद में विगत शुक्रवार  को हुई अतिवृष्टि के चलते आयी आपदा से सरखेत व अन्य क्षेत्रों मे जिला प्रशासन द्वारा युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य किया जा रहा है । जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका के दिशा निर्देशन के अनुपालन में सोमवार को मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान,अपर जिलाधिकारी के. के. मिश्रा तथा शिव कुमार बरनवाल के नेतृत्व में  क्षेत्र में राहत एवं बचाव अभियान निरंतर संचालित किया गया जा रहा है। आपदा प्रभावित क्षेत्रों में लोगों को पेयजल, भोजन तथा अन्य राहत सामग्री वितरित की जा रही  हैं।

जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका के दिशा निर्देशन के अनुपालन में संबंधित जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा सरखेत में राहत एवं सर्च अभियान को युद्ध स्तर पर संचालित किया जा रहा हैं।  एनडीआरफ, एसडीआरएफ, पुलिस व जिला प्रशासन द्वारा राहत एवं  खोजबीन कार्य को युद्ध स्तर पर संपादित करने में जुटे है। जिलाधिकारी ने बताया कि सरखेत में लापता हुए लोगों के मालवा में दबे होने की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए, मलबा को हटाने हेतु दो पोकलैंड मशीन कार्य कर रही है। साथ ही विभिन्न स्थानों पर क्षतिग्रस्त सड़क मार्ग को सुचारू करने में पर्याप्त मात्रा पर जेसीबी मशीन तैनात की गई है। पेयजल एवं विद्युत आपूर्ति भी को सुचारू करने में टीम जुटी हुई है। अपर जिलाधिकारी एवं नगर मजिस्टेªट के नेतृत्व में प्रशासन की टीम द्वारा कुण्डा और घराट, रांगड़वाला आदि प्रभावित क्षेत्रों का  निरीक्षण कर क्षति का जायजा लिया जा रहा है।   

सरखेत व अन्य क्षेत्रों पर भारी नुकसान हुई है, तथा सरखेत में लापता लोगों की जिला प्रशासन युद्ध स्तर पर सर्च अभियान में जुटा है, जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि सरखेत में पोकलैंड मशीन लापता लोगों के खोजबीन में कार्य कर रही है। मशीन द्वारा संभावित स्थलों से मलबा हटाया जा रहा है, साथ ही संबंधित टीम द्वारा सही जानकारी भी जुटाते हुए संभावित स्थलों पर खोजबीन कर रही है। उन्होंने कहा कि  सर्च अभियान निरंतर जारी है। आपदा पीड़ितों की बातों को ध्यान में रखकर जिला प्रशासन हर स्तर पर राहत एवं बचाव तथा खोजबीन कार्य में जुटी है। आपदाग्रस्त क्षेत्र के सभी प्रभावित परिवारों को सुरक्षित स्थानों में रखा गया है तथा क्षेत्र में राहत एवं बचाव कार्य तथा सर्च आपरेशन की अद्यतन जानकारी कन्ट्रोलरूम में प्राप्त हो रही है।

भेंसवाड़ा/सरखेत  में खोज-बचाव कार्य गतिमान है वर्तमान में 07 लोग लापता है, जिनकी खोजबीन की जा रही है 03 घायल व्यक्तियों का उपचार मैक्स तथा 02 घायलों का उपचार हिमालयन हास्पिटल में चल रहा है। प्रभावित क्षेत्र में वर्तमान मे ं16 प्रभावित परिवारों को जूनियर हाईस्कूल मालदेवता में शिफ्ट किया गया है, जिनके खाने एवं अन्य व्यवस्था जिला प्रशासन एवं जिला पूर्ति विभाग के माध्यम से की जा रही है। 





कैबिनेट मंत्री श्री गणेश जोशी ने सोमवार को शिव जूनियर हाई स्कूल मालदेवता में सरखेत आपदा प्रभावित परिवारों को राहत राशि के चेक वितरित किए । इस अवसर पर मा॰ मंत्री श्री जोशी ने स्कूल के राहत शिविर में रह रहे आपदा प्रभावित परिवारों का हालचाल जाना तथा उनकी समस्याओं की जानकारी ली। उन्होंने आपदा पीड़ितों की समस्याओं के त्वरित समाधान का आश्वासन दिया इसके पश्चात कैबिनेट मंत्री श्री गणेश जोशी ने सरखेत के आपदा प्रभावित क्षेत्र का पैदल मार्ग से स्थलीय निरीक्षण किया तथा राहत कार्यों की समीक्षा की । उन्होंने स्थान-स्थान पर प्रभावितों से बातचीत की तथा उनकी समस्याएं सुनी। 


इस अवसर पर जिला प्रशासन की ओर से प्रभावित 28 परिवारों को 2470900 रू0 की अहैतुक सहायता वितरित की गई। प्रभावित क्षेत्र में जिला प्रशासन द्वारा राहत बचाव कार्य युद्धस्तर पर जारी है। प्रभावित क्षेत्र में नगर निगम द्वारा मोबाईल टाॅयलेट, दवाईयों को छिढ़काव, डेंगू मेलेरिया अधिकारी की टीम द्वारा दवाईयों का छिड़काव सहित पशु चिकित्सा विभाग द्वारा पशुओं हेतु दवाईयां एवं उपचार आदि की व्यवस्थाएं की गई है। इस अवसर पर स्थानीय ग्रामीण, वरिष्ठ जिला स्तरीय अधिकारी तथा कार्मिक उपस्थित थे।


Post a Comment

Powered by Blogger.