Halloween party ideas 2015

 धनौल्टी:

 देवेंद्र बेलवाल 




धनोल्टी स्थित प्राईवेट जनशक्ति बैंक मैं लाखों रुपए के गबन का मामला सामने आया है क्षेत्र के व्यापारियों और ग्रामीणों ने इस प्राइवेट बैंक में अपनी जमा पूंजी लगाई थी ।

 उन्हें पता चला की बैंक रातो रात सभी ग्रामीणों और व्यापारियों को चुना लगा कर रफूचक्कर हो गया।

 इस पर पीड़ित व्यापारियों ने बैक में काम कर रहे चार स्थानीय लोगों को बंधक  बना लिया।

 कड़ी मशक्कत के बाद ग्रामीण और व्यापारी मुख्य बैंक मैनेजर द्वारा आश्वासन दिए जाने पर कि10 दिन के भीतर सभी के रुपये लौटा दिए जाएंगे उन्होंने बंधकों को छोड़ा।


व्यापारियों को खबर लगने पर प्राईवेट जनशक्ति बैक में कार्यरत स्थानीय कर्मचारियों से पूछतास पर पता चला कि बैक के सभी कागज आदि सामान लेकर रातो रात भाग गए । जिस पर व्यापारियों ने स्थानीय बैक में कार्य करने वालों को बंधक बना लिया। और जनशक्ति के मुख्य बैक मैनेजर से वार्ता करने पर स्थानीय कर्मचारियों को छोड़ने का अनुरोध किया और 10 दिन के भीतर व्यापारियों की राशि लौटाने का आश्वासन दिया। जिस पर उन्हे छोड दिया।

पीड़ितों  में रघुवीर रमोला व्यापार मंडल अध्यक्ष , देवेन्द्र बेलवाल,मनोज उनियाल ,विपुल नौटियाल, संदीप गुसाई आदि ने कहा कि सैकड़ों लोगों के कई लाखों रुपये प्राइवेट जनशक्ति बैंक द्वारा हड़प कर नौ दो ग्यारह हो गए । जनशक्ती मुख्य बैंक मैनेजर द्वारा 10 दिन के भीतर पैसा लौटाने का आश्वासन दिया है ।


 आम आदमी को जागरूकता के साथ सरकारी बैंक में ही धन अपना रुपये पैसा संग्रह करना चाहिए ।

Post a Comment

Powered by Blogger.