Halloween party ideas 2015


देहरादून :

19 अगस्त की रात देहरादून एवम गढ़वाल मंडल के कुछ क्षेत्रों के लिये काल बनकर आयी।


 गत रात्रि हुई भारी वर्षा से जनपद के कई क्षेत्रों में नुकसान हुआ है। भारी वर्षा से रायपुर-थानों मोटर मार्ग पर सोंग नदी पुल का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त हो गया है तथा मालदेवता सरखेत, तिमली, मानसिंहवाला, भैंसवाड़ा, सेरकी, छमरोली आदि स्थानों पर नुकसान की सूचना पर जिलाधिकारी श्रीमती सोनिका प्रातः 6 बजे से ही मौके पर मौजूद रहकर राहत बचाव कार्यों का संपादन करती रहीं है। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों का हाल-चाल जाना एवं राहत बचाव कार्य में संबंधित अधिकारियों को आवश्यक-दिशा निर्देश दिए। 


सरखेत से तीन घायलों को एयरलिफ्ट करवाकर अस्पताल में उपचार हेतु भर्ति किया गया। रास्ते में नीचे उतरते समय जिलाधिकारी की हाथ में हल्की चोट आई। रात्रि में अतिवृष्टि के चलते जिलाधिकारी ने 2 बजे रात्रि को आईआरएस एक्टिव किया। 



जिलाप्रशासन एवं संबंधित अधिकारियों ने अपने दायित्च का निर्वहन करते हुए, लोगों को सुरक्षित स्थान में पहुंचाने का कार्य किया। सरखेत क्षेत्र के आपदा प्रभावितों को भोजन एवं राहत सामाग्री आपदा प्रबंधन कार्यालय से रवाना किया गया।

     इससे पूर्व रात्रि भारी बारिश के चलते जिलाधिकारी ने प्रातः 06 बजे से ही आपदा परिचालन केन्द्र पर मौजूद रहकर जानकारी प्राप्त की तथा नुकसान की सूचना मिलने पर तत्काल प्रभावित क्षेत्र को रवाना हो गई। तथा मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान आपदा कंट्रोल रूम पर मौजूद रहकर जिलाधिकारी के निर्देश के क्रम में प्रभावित क्षेत्रों में खाद्य रसद सामग्री के साथ ही उपकरण आदि भेजने के कार्यों की मॉनिटरिंग के साथ ही जनपद में हुए नुकसान की सूचना प्राप्त करते हुए तत्काल सहायता भिजवाई गई। जनपद के सरखेत में अतिवृष्टि से घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं तथा कुछ लोग घायल हैं, जिन्हें एयरलिफ्ट करते हुए उपचार हेतु अस्पताल मैक्स में भर्ती करवया गया तथा  क्षेत्र में चिकित्सा टीम उपकरण सहित मौजूद है तथा राहत बचाव कार्यों में एसडीआरएफ, पुलिस, जिला प्रशासन की टीम मौजूद है, सेना भी राहत बचाव लग गई है। आपदा कंट्रोल रूम से मौके पर मौजूद अधिकारियों से समन्वय करते हुए सहायता एवं टीम भेजी जा रहीं हैं। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा आपदा कन्ट्रोलरूम से  जनपद की तहसीलों से अद्यतन सूचना प्राप्त की जा रही है। जिला प्रशासन द्वारा प्रभावित क्षेत्र में राशन, बर्तन, दूध, पलंग, बिस्तर, महिलाओ, पुरूषों एवं बच्चों हेतु कपड़े, स्ट्रेचर, गैस सिलेण्डर आदि सामग्री प्रभावितों हेतु भेजी गई है। जिला प्रशासन द्वारा जनपद के सीमावर्ती गावं से सठे कुमाल्टा टिहरी गढवाल में प्रभावितो हेतु लगभग 300 पैकेट भोजन के पैकेट भिजवाए गए। आपदा कन्ट्रोलरूम से सम्बन्धित विभागों से तहसीलवार हुए नुकसान की सूचना अद्यतन की जा रही है। 

गित रात्रि हुई भारी वर्षा एवं बादल फटने की घटना से मोलदेवता में अवस्थित रिजोर्ट में 06 टैन्ट बहने, सरखेत में 25 मकान एवं प्राथमिक विद्यालय भवन एवं 06 दुकाने क्षतिग्रस्त, सौड़ा सरोली में सौंग नदी पुल का एक हिस्सा ढहने से 02 लोग लापता है तथा भैंसवाड़ गांव के मुसनीवाला खाला के पास अतिवृष्टि के कारण मलवा आने  से 03 व्यक्ति घायल तथा 05 व्यक्ति लापता है। घायलों को एयरिलिफ्ट करते हुए मैक्स अस्पताल में भर्ती किया गया है। इसी प्रकार सौंग नदी के पुल की चपेट में आने वाली 01 कार जिसमें 5 लोग सवार थे सभी को बचा लिया गया है तथा उनका उपचार हिमालयन हाॅस्पिटल जौलीग्रान्ट में चल रहा है। उपरोक्त अतिवृष्टि से जनपद में 8 लोग घायल जिनका उपचार चल रहा है तथा 7 लोग अभी लापता है जिनकी खोजबीन हेतु रेस्क्यू चल रहा है। तथा कुल 28 पशुओं की हानि हुई है। जिनमें ग्राम छमरोली/सरखेत मेें 9 गाय, 1 भैंस, 4 बछड़े व 10 बकरी तथा भैंसवाड़ में 3 गाय, 1 बछड़े की आपदा की चपेट में आने से मृत्यु हो गई। इसी प्रकार जनपद के विभिन्न तहसीलों में कृषि भूमि कटाव, जल भराव, पुस्ता क्षतिग्रस्त, विद्युत लाइन, पेयजल लाइन आदि क्षतिग्रस्त होने की सूचना प्राप्त हुई है जिनकी कुल अनुमानित लागत 1270.20 लाख आंकी गई है जिसकी बढ़ने की संभावना है तथा तहसील स्तर पर नुकसान का जायजा लिया जा रहा है। 

जिलाधिकारी ने जिला प्रशासन के अधिकारियो के साथ आपदा प्रभावित क्षेत्र सरखेत में मौके पर पंहुचकर राहत बचाव कार्यों की माॅनिटिरिंग के साथ जिला प्रशासन के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीपि सिंह कुवंर, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व के.के मिश्रा, पुलिस अधीक्षक नगर सरिता डोभाल, ग्रामीण कमलेश उपाध्याय, नगर मजिस्टेªट कुसुम चैहान, तहसीलदार सदर सोहन सिंह रांगण सहित जिला प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे तथा आपदा कन्ट्रोलरूम में मुख्य विकास अधिकारी झरना कमठान, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डाॅ. एस के बरनवाल, निदेशक ग्राम्य विकास अभिकरण आर.सी तिवारी, जिला पंचायतीराज अधिकारी एम.एम खान, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी शशिकान्त सहित सम्बन्धित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।   


देहरादून:


आयुक्त गढवाल मण्डल सुशील कुमार ने गढवालमण्डल क्षेत्रान्तर्गत जनपद देहरादून, टिहरी, एवं पौड़ी गढवाल में गत रात्रि हुई अतवृष्टि में हुए नुकसान के सम्बन्ध में नुकसान का आकलन करने के निर्देश दिए गए है। 

जनपद देहरादून में आतिथि तक 07 व्यक्तियों के लापता होने की सूचना है जिनकी खोजबीन की जा रही है। देहरादून में अतिवृष्टि के क्षेत्रों में 300 लोग फंस गये थे जिन्हें निकाल कर सुरक्षित स्थानों में पहुंचाया गया है। इसके अतिरिक्त ग्राम छमरोली में 24 पशुहानि हुई है। ग्राम सरखेत में लगभग 25 आवासीय भवन क्षतिग्रस्त हुये है जिनकी क्षति का आकलन किया जा रहा है। जनपद में 18 से 20 पशु हानि हुई है। इसके अलावा कई क्षेत्रों में आवासीय मकान, दुकान, झोपड़ी क्षतिग्रस्त हुये हैं।

जनपद टिहरी 

जनपद टिहरी में ग्राम धौलागिरी (धनचुला) में एक आवासीय भवन में मलवा आने से 07 व्यक्ति दब गये जिनमें 02 व्यक्तियों के शव प्राप्त हो चुके है तथा 05 लापता हैं। ग्राम कोठार (कीर्तिनगर) में आवासीय भवन में मलबा आने से 01 वृद्ध महिला की मृत्यु हो गयी है। इसके अतिरिक्त 25 बकरी व 07 अन्य मवेशियों की भी हानि होना व्यक्त किया गया है। लगभग 26 आवासीय मकान आशिक/ पूर्ण रूप से क्षतिग्रस्त हुये हैं। इसके अतिरिक्त 06 वाहनों की भी हानि हुई है। कृषि क्षेत्रफल एवं राजकीय सम्पत्तियों को भी क्षति पहुंची है। मौके पर राजस्व टीम पहुंच चुकी है। नुकसान का आकलन किया जा रहा है।

जनपद पौड़ी गढ़वाल

जनपद पौड़ी के तहसील यमकेश्वर के ग्राम बिनक में आवासीय भवन क्षतिग्रस्त होने से 01 महिला की दबकर मृत्यु हुई है। इसके अलावा इस क्षेत्र में ही 06 पशुओं की हानि हुई है। जनपद में 13 आवासीय मकान क्षतिग्रस्त हुये हैं। इसके अतिरिक्त 03 वाहनों को क्षति पहुंची है। तहसील यमकेश्वर के ग्राम मराल में लगभग 40 नाली कृषि भूमि क्षतिग्रस्त हुई है। राजस्व विभाग/ पुलिस विभाग एवं एस०डी०आर०एफ० की टीम को घटना स्थल पर भेजा गया है। जांच की जा रही है। 

इस प्रकार गढ़वाल मण्डल में अभी तक प्राप्त सूचना के अनुसार कुल 04 व्यक्तियों की मृत्यु हुई है एवं 12 लापता हैं। राजकीय सम्पत्ति की हानि के क्षतिग्रस्त होने के संबंध में राजस्व टीम को मौके पर भेजकर नुकसान का आकलन किया जा रहा है। गृह अनुदान, अनुग्रह अनुदान व सम्पत्ति पुर्ननिर्माण अनुदान के संबंध में जांच कर प्रभावित व्यक्तियों को मुआवजा दिये जाने के संबंध में कार्यवाही की जा रही है। सेना के हेलीकाप्टर के अधिग्रहण के लिये पत्र प्रेषित किया गया है। राजकीय हेलीकाप्टर बचाव कार्य में लगा हुआ है। एन०डी०आर०एफ०. एस०डी०आर०एफ०. पुलिस, राजस्य व स्वास्थ्य विभाग की टीमें बचाव व राहत कार्यों में लगी हैं।   



सिटी मजिस्ट्रेट कुसुम चौहान एवं तहसीलदार सोहन सिंह रागड ने अपनी जिम्मेदारी को बखुबी निभाया


वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर ने घटनास्थल पर पहुंचकर टीम का कमान  संभाला



घटनास्थल सरखेत में जिलाधिकारी  श्रीमती सोनिका ने लापता हुए लोगों के परिजन एवं बच्चों की हाल-चाल जाना तथा लापता हुए लोगों के बारे में जानकारी। 


Post a Comment

Powered by Blogger.