Halloween party ideas 2015

 उत्तराखंड चारधाम यात्रा वर्ष 2022

दर्शनार्थियों /तीर्थयात्रियों की संख्या

1-श्री बदरीनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि  8 मई  से 9 जुलाई शाम तक  942451

•  आज  शाम 4 बजे तक बदरीनाथ धाम पहुंचे श्रद्धालु 187

( शिरोबगड़ में बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सुचारू) 

वैकल्पिक सड़क मार्ग श्रीनगर (गढ़वाल)से  खेड़ा खाल तथा खांकरा से  छांतीखाल होते हुए रूद्रप्रयाग पहुंच सकते  है। कतिपय स्थानों रडांग बैंड,  लामबगड़, पागलनाला  में आंशिक भूस्खलन से शाम तक मार्ग अवरूद्ध रहा शाम को यातायात बहाल हो गया है। 

2- श्री केदारनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि 6 मई से 9 जुलाई शायं तक 870934

(हेलीकॉप्टर से 83425 तीर्थयात्री भी  शामिल)



•  श्रद्धालु  जिन्होने आज  दर्शन किये -1244

(  सेरसी में आज सड़क मार्ग भूस्खलन से अवरूद्ध रहा, अब केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग सुचारू है। )

 3-श्री गंगोत्री धाम

कपाट खुलने की तिथि 3 मई से 9 जुलाई तक 444812


(  गंगोत्री सड़क मार्ग सुचारू है।)


• आज शाम तक दर्शन हेतु पहुंचे श्रद्धालु- 734


4-श्री यमुनोत्री धाम

कपाट खुलने की तिथि  3 मई से 9 जुलाई तक  341360


• आज दर्शन हेतु पहुंचे श्रद्धालु- 715


(  यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग सुचारू  है ।)


  • 9 जुलाई  शाम तक  श्री बदरीनाथ-केदारनाथ पहुंचनेवाले कुल तीर्थयात्रियों की संख्या का योग- 1813385


•  9 जुलाई  शायंकाल तक श्री गंगोत्री-यमुनोत्री पहुंचे तीर्थ यात्रियों की संख्या 786172


• 9 जुलाई शायंकाल तक उत्तराखंड चारधाम पहुंचे संपूर्ण तीर्थयात्रियों की संख्या 2599557

( पच्चीस लाख निन्यानब्बे हजार  पांच सौ सत्तावन )


• श्री हेमकुंट साहिब लोकपाल तीर्थ पहुंचे तीर्थयात्रियों की संख्या कपाट खुलने की तिथि 22 मई से 9 जुलाई  तक - 174522

• निरंतर चल रही चारधाम यात्रा

 • प्रदेश‌ सरकार, जिला पुलिस- प्रशासन, आपदा प्रबंधन, पर्यटन विभाग, मंदिर समिति की अपील तीर्थयात्री मौसम  अलर्ट, सड़क मार्ग की स्थिति बारिश की स्थिति देखकर यात्रा मार्गों पर आगे बढ़े। भारी बारिश भूस्खलन की स्थिति में सुरक्षित स्थानों में रहें। यात्रा के दौरान जोखिम न लें।

• उत्तराखंड सरकार द्वारा तीर्थयात्रियों की सुविधा- सुरक्षा के लिए चार धाम यात्रा हेतु उत्तराखंड पर्यटन की ओर से निशुल्क आनलाईन अथवा फिजीकल काउंटरों  से फोटोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है।

•  चारधाम तीर्थयात्रियों के आंकड़े श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति/   पुलिस- प्रशासन/ आपदा प्रबंधन / गुरुद्वारा श्री हेमकुंट साहिब ट्रस्ट के सहयोग से मीडिया/ लोकसूचनार्थ जारी किये जा रहे है।


Post a Comment

Powered by Blogger.