Halloween party ideas 2015


तीर्थयात्रियों को धामों में सरल-सुगम दर्शन- अजेंद्र

• श्री बदरीनाथ-केदारनाथ पहुंचे  1732681

 श्रद्धालु।


देहरादून :



 शुक्रवार से श्री केदारनाथ धाम में तीर्थयात्रियों के लिए मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पर प्रतिबंध समाप्त कर दिया गया है। अब श्रद्धालु गर्भगृह में जाकर बाबा केदार के दर्शन कर  कर रहे हैं। 


श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति (बीकेटीसी) के अध्यक्ष अजेंद्र अजय ने बताया की इस वर्ष मई व जून माह में रिकॉर्ड संख्या में श्रद्धालुओं के पहुंचने के कारण गर्भगृह में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और श्रद्धालु सभामंडप से ही बाबा केदार के दर्शन कर रहे थे। अब संख्या कम होने के बाद श्रद्धालु  मंदिर के गर्भगृह में जाकर पूजा- अर्चना कर रहे हैं।  

 

उन्होंने बताया कि श्रद्धालुओं कि संख्या में कमी को देखते हुए मंदिर में दर्शनों के समय में भी परिवर्तन किया गया है। 

शुक्रवार से श्री केदारनाथ मंदिर में प्रात: चार बजे के स्थान पर पांच बजे से धर्म-दर्शन शुरू हो रहे हैं। अपराह्न 03 बजे से 4:45 बजे तक भोग- पूजा व सफाई के लिए कपाट बंद किए जा रहे हैं। शाम को श्रृंगार पूजा के पश्चात रात्रि 9 बजे पुन कपाट बंद किए जाएंगे। 


उन्होंने बताया कि इसी तरह श्री बदरीनाथ धाम में मंदिर में भगवान बदरी विशाल की अभिषेक पूजा प्रात: पांच बजे से संपन्न हो रही है तथा इस दौरान भी तीर्थयात्री धर्मदर्शन कर रहे है। शाम को विभिन्न पूजाओं के पश्चात रात्रि 9 बजे तक कपाट बंद हो रहे हैं।


बीकेटीसी के अध्यक्ष अजेंद्र ने बताया कि मंदिर समिति तीर्थयात्रियों को मंदिरों में सरल- सुगम दर्शन हेतु प्रतिबद्ध है।

मंदिर समिति अध्यक्ष ने बताया कि बृहस्पतिवार रात्रि तक  901081 श्रद्धालु श्री बदरीनाथ धाम  तथा 831600 श्रद्धालु श्री केदारनाथ धाम दर्शन हेतु पहुंच गये है। दोनों धामों में  1732681 श्रद्धालु दर्शन कर चुके है।

 उत्तराखंड चारधाम यात्रा वर्ष 2022


दर्शनार्थियों /तीर्थयात्रियों की संख्या

1-श्री बदरीनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि  8 मई  से 1  जुलाई शाम तक  905468


• बदरीनाथ धाम पहुंचे श्रद्धालु 4387

( बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग शिरोबगड़ में अवरूद्ध। वाहन

वैकल्पिक सड़क मार्ग श्रीनगर (गढ़वाल)से खेड़ाखाल होते रूद्रप्रयाग पहुंच रहे है। कतिपय स्थानों  लामबगड़, पागलनाला भूस्खलन लेकिन सड़क मार्ग सुचारू)


2- श्री केदारनाथ धाम कपाट खुलने की तिथि 6 मई से 1 जुलाई शायं तक 834303

(हेलीकॉप्टर से 81958 तीर्थयात्री भी  शामिल)


•  श्रद्धालु  जिन्होने आज 4 बजे तक  दर्शन किये -2703

(  गौरीकुंड में अवरूद्ध सड़क मार्ग सुचारू हुआ)

 3-श्री गंगोत्री धाम

कपाट खुलने की तिथि 3 मई से 1 जुलाई तक 434481


( गंगोत्री सड़क मार्ग सुचारू है।)


• आज शाम तक दर्शन हेतु पहुंचे श्रद्धालु- 2244


4-श्री यमुनोत्री धाम

कपाट खुलने की तिथि  3 मई से 1 जुलाई तक  335802


• आज शायं   तक दर्शन हेतु पहुंचे श्रद्धालु- 1570


  • 1जुलाई  शाम तक  श्री बदरीनाथ-केदारनाथ पहुंचनेवाले कुल तीर्थयात्रियों की संख्या का योग- 1739771


•  1 जुलाई  शायंकाल तक श्री गंगोत्री-यमुनोत्री पहुंचे तीर्थ यात्रियों की संख्या 770283


•1 जुलाई शायंकाल तक उत्तराखंड चारधाम पहुंचे संपूर्ण तीर्थयात्रियों की संख्या 2510054

( पच्चीस लाख  दस हजार  चौवन)

• श्री हेमकुंट साहिब लोकपाल तीर्थ पहुंचे तीर्थयात्रियों की संख्या कपाट खुलने की तिथि 22 मई से  30जून  तक - 162452

• निरंतर चल रही चारधाम यात्रा

 • प्रदेश‌ सरकार, जिला पुलिस- प्रशासन, आपदा प्रबंधन, पर्यटन विभाग, मंदिर समिति की अपील तीर्थयात्री मौसम  अलर्ट, सड़क मार्ग की स्थिति बारिश की स्थिति देखकर यात्रा मार्गों पर आगे बढ़े। भारी बारिश भूस्खलन की स्थिति में सुरक्षित स्थानों में रहें। यात्रा के दौरान जोखिम न लें.

• उत्तराखंड सरकार द्वारा तीर्थयात्रियों की सुविधा- सुरक्षा के लिए चार धाम यात्रा हेतु उत्तराखंड पर्यटन की ओर से निशुल्क आनलाईन अथवा फिजीकल काउंटरों  से फोटोमेट्रिक रजिस्ट्रेशन अनिवार्य है।

•  चारधाम तीर्थयात्रियों के आंकड़े श्री बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति/   पुलिस- प्रशासन/ आपदा प्रबंधन / गुरुद्वारा श्री हेमकुंट साहिब ट्रस्ट के सहयोग से जारी किये जा रहे है।

 

Post a Comment

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved
Powered by Blogger.