Halloween party ideas 2015


          

         बरसात की दस्तक के साथ ही किसी भी प्रकार की आपदा से निपटने के लिए सेनानायक एसडीआरएफ,श्री मणिकांत मिश्रा के आदेशानुसार एसडीआरएफ द्वारा रोज़ाना मॉक ड्रिल के साथ विभिन्न गांवों, विद्यालयों व पुलिसकर्मियों में आपदा जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है।





            इसी क्रम में आज एसडीआरएफ टीम द्वारा कुमाऊं परिक्षेत्र के जनपद पिथौरागढ़ में सेना के 8th कुमाऊं  रेजीमेंट  एवम गढ़वाल परिक्षेत्र में जनपद चमोली के चौकी/थानों के अधिकारी/ कर्मचारियों को आपदा सम्बन्धी प्रशिक्षण प्रदान किया गया। प्राकृतिक आपदा आने पर पुलिस द्वारा की जाने वाली कार्यवाही, रेस्क्यू उपकरणों की जाँच व प्रयोग,घायलों को निकालने व ले जाने का सही तरीका,प्राथमिक उपचार,रोप रेसक्यू एवं राहत बचाव कार्यों के सम्बन्ध में विस्तृत जानकारी देते हुए अभ्यास भी कराया गया।


सेनानायक SDRF द्वारा जानकारी देते हुए बताया गया कि एसडीआरएफ ने अपने स्थापना के पश्चात से ही रेस्क्यू कार्यों के साथ-साथ आपदा जनजागरूकता  एंव प्रशिक्षण अभियानों के माध्यम से मानव / आपदा क्षति न्यूनीकरण को गति प्रदान की है। वर्ष 2022 में अल्प समय में ही एसडीआरएफ ने प्रदेशभर में सैंकड़ों स्कूली छात्र-छात्राओं एंव एन. सी. सी. कैडेट ,सेना/अर्धसैनिक बलों के कार्मिक, पुलिस अधिकारी/कर्मचारियों एवं अन्य संस्थाओं के स्वयं सेवकों को प्रशिक्षित एंव जागरूक किया है। जिसका उद्देश्य आपदा के प्रति संवेदनशील प्रदेश में आपदा के दौरान प्रथम प्रतिक्रिया एंव अनुरूप सामजंस्य स्थापित करना है।

Post a Comment

Powered by Blogger.