Halloween party ideas 2015

 देहरादून--गुल्लरघाटी में डूबे दो किशोर, एसडीआरएफ उत्तराखण्ड पुलिस द्वारा देर रात चलाया सर्च ऑपरेशन


अपने बच्चों का रखे ख्याल,उन्हें जागरूक करें। नहाने के लिये कौनसे स्थल सही और सुरक्षित हैं उन्हीं का प्रयोग करें। 



कल दिनाँक 3 जून 2022 को देर रात जनपद नियंत्रण कक्ष देहरादून  द्वारा सूचित कराया  गया कि हर्रावाला चौकी क्षेत्र अंतर्गत नकरौंदा जीरो पॉइंट के पास 04 बच्चे दोपहर में स्नान हेतु रवाना हुई थे। जिसमें से मात्र 02 बच्चे ही वापस आए है। मौके पर रवाना होने पर चीता पुलिस द्वारा बताया गया कि शेष 02 बच्चों के कपड़े नदी के किनारे मिले हैं। आशंका है कि दोनों बच्चे नदी में डूब गए हैं। एसडीआरएफ टीम की आवश्यकता है।


 उक्त सूचना प्राप्त होने पर एसडीआरएफ की डीप डाइविंग टीम को तत्काल कॉन्स्टेबल दरमान सिंह के हमराह मय उपकरणों के घटनास्थल हेतु रवाना किया गया।


घटनास्थल पर पहुंच टीम द्वारा सर्च ऑपरेशन आरम्भ किया।डीप डाइवर मातबर को गहन सर्चिंग हेतु पानी की गहराई में भेजा गया। देर रात होने के कारण टीम को सर्च ऑपरेशन में काफी दिक्कतें आ रही थी। परन्तु तमाम मुश्किलातों को दरकिनार कर  एसडीआरएफ के डीप डाइवर मातवर द्वारा दोनों बच्चों के शव को गहराई से बरामद कर बाहर निकाला गया व जिला पुलिस के सुपुर्द किया गया।

01. प्रिंस कठैत पुत्र श्री अतुल सिंह कठैत निवासी लेन नंबर 04 सैनिक कॉलोनी बालावाला देहरादून।


02. शुभम असवाल पुत्र श्री M.S असवाल निवासी लेन नंबर 04 सैनिक कॉलोनी बालावाला देहरादून।

राज्य के संवेदनशील व आपदा संभावित स्थानों पर SDRF ने लगाये चेतावनी सूचक रिफलेक्टर बोर्ड

चारधाम यात्रा व आगामी मानसून सीजन के दृष्टिगत SDRF की रेस्क्यू टीमें, आपदा के प्रति संवेदनशील तथा अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर नियुक्त है। चारधाम यात्रा में श्रद्धालुओं/पर्यटकों की सहायता के साथ ही अन्य माध्यमों से भी सहायता करने का प्रयास किया जा रहा है। 


अन्य राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं/पर्यटकों को सामान्यतः मार्ग में आने वाले संवेदनशील स्थानों का ज्ञान नही रहता जिस कारण दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है।


श्रीमती रिधिम अग्रवाल, पुलिस उप महानिरीक्षक SDRF के निर्देशानुसार सेनानायक SDRF श्री मणिकांत मिश्रा द्वारा चारधाम यात्रा मार्ग में आने वाले अति संवेदनशील स्थानों को चिन्हित कर चेतावनी सूचक रिफलेक्टर बोर्ड लगवाये गए है। 


चेतावनी सूचक होने के साथ ही बोर्ड पर राज्य आपदा परिचालन केंद्र, जिला आपदा नियंत्रण कक्ष, SDRF नियंत्रण कक्ष व टोल फ्री नम्बर उपलब्ध कराए गए है। 

Reflector board arranged by SDRF



इन चेतावनी सूचक रिफलेक्टर बोर्ड को देखकर यात्री/पर्यटक/श्रद्धालु सचेत हो सकेंगे व सावधानीपूर्वक उस स्थान से आगे बढ़ेंगे साथ ही किसी दुर्घटना की स्थिति में उपलब्ध आपातकालीन नम्बर पर सम्पर्क कर पाएंगे जिससे त्वरित रेस्पांस किया जा सकता है।

Post a Comment

Powered by Blogger.