Halloween party ideas 2015

 ऋषिकेश:


    केदारनाथ धाम में तबियत बिगड़ने के कारण मुंबई के एक यात्री को अपराह्न में हेली एम्बुलेंस के माध्यम से एम्स ऋषिकेश पहुंचाया गया। एम्स की इमरजेंसी में भर्ती इस तीर्थयात्री की हालत में अब सुधार है व मरीज का आवश्यक उपचार जारी है।


    गौरतलब है कि उच्च हिमालयी क्षेत्र में स्थित होने के कारण केदारनाथ धाम में ऑक्सीजन की कमी बनी रहती है। ऐसे में धाम व यात्रा मार्ग में कई यात्रियों को सांस लेने में दिक्कत आने लगती है और कई दफा तबियत ज्यादा खराब हो जाती है।                           

   सोमवार को इस यात्रा मार्ग पर मुंबई के एक तीर्थ यात्री को सांस लेने में अत्यधिक परेशानी होने लगी। मुंबई स्थित मुलुन्ड निवासी 47 वर्षीय सचिन तुकाराम पाटिल अपनी पत्नी यामिनी के साथ केदारनाथ दर्शन हेतु निकले थे। जब यह खच्चर द्वारा केदारनाथ मार्ग पर लिनचोली के पास पहुंचे तो सचिन पाटिल को ऑक्सीजन की कमी महसूस होने लगी और सांस फूलने पर उन्हें सांस लेने में भारी परेशानी होने लगी। सचिन की पत्नी यामिनी ने बताया कि उस दौरान केदारनाथ में बारिश भी हो रही थी। ऐसे में घबराहट और बैचेनी बढ़ने पर सचिन को पहले लिनचोली में ही प्राथमिक उपचार दिया गया। लेकिन यात्री के स्वास्थ्य की स्थिति को देखते हुए बाद में उसे उचित इलाज हेतु हेली एम्बुलेंस के माध्यम से अपराह्न में एम्स ऋषिकेश पहुंचाया गया। 



   इस बाबत एम्स ऋषिकेश के जनसंपर्क अधिकारी हरीश थपलियाल ने बताया कि इस यात्री को एम्स इमरजेंसी में भर्ती किया गया है। उन्होंने बताया कि इमरजेंसी विभाग के चिकित्सकों द्वारा आवश्यक उपचार शुरू करने के बाद अब पेशेंट सचिन पाटिल के स्वास्थ्य में काफी सुधार है। उन्होंने उम्मीद जताई कि पूर्ण स्वस्थ होने पर शीघ्र ही उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।

Post a Comment

Powered by Blogger.