Halloween party ideas 2015

 


 



फाटा/गुप्तकाशी 3 मई :

भगवान केदारनाथ जी की पंचमुखी डोली आज  3 मई  को  श्री विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी से   पैदल रास्तों से चलकर बाबा केदार के जय उदघोष एवं‌ मराठा रेजीमेंट के बैंड की भक्तिमय धुनों के   साथ  आज अपराह्न 1.15 बजे द्वितीय पड़ाव फाटा  पहुंच गयी है। डोली के पहुंचने के बाद तेज बारिश शुरू हो गयी हालांकि शाम तक मौसम सामान्य हो गया।

मार्ग में  नारायण कोटि,  ब्यूंग,मैखंडा तथा आदि स्थानों  पर डोली  तथा केदारनाथ धाम के  मुख्य पुजारी  टी गंगाधर जी का पुष्प वर्षा से स्वागत हुआ।  जगह-जगह भक्त़ों ने बाबा की डोली के दर्शन किये।बाबा केदार की डोली कल प्रातः  8.30 बजे  फाटा से तृतीय पड़ाव  गौरीकुंड के लिए रवाना हो जायेगी। फाटा में मंदिर समिति के मुख्य कार्याधिकारी बी.डी.सिंह  भगवान केदारनाथ जी की शायंकालीन आरती में शामिल हुए  इस अवसर पर प्रबंधक अरविंद शुक्ला, पारेश्वर त्रिवेदी भी मौजूद रहे। 

पंचमुखी डोली की  प्रबंधक/डोली प्रभारी प्रदीप सेमवाल डोली यात्रा के साथ चल रहे है उन्होंने बताया कि डोली के फाटा पहुंचने पर बड़ी संख्या में तीर्थयात्री एवं स्थानीय श्रद्धालुजन डोली के दर्शन को पहुंचे फाटा पहुंचने पर तीर्थपुरोहित विष्णुकांत कुर्मांचली,  मंदिर समिति के पूर्व उपाध्यक्ष अशोक खत्री,गंगा राम सेमवाल,रमेश उत्तराखंडी, मंदिर समिति हेली कार्डिनेटर भरत कुर्मांचली, जसपाल राणा, रघुवीर सिंह शाह, जगत सिंह रमोला ने डोली की अगवानी एवं स्वागत किया।  

श्री विश्वनाथ मंदिर   से डोली के प्रस्थान के समय पुजारी शशिधर लिंग,डा.हरीश गौड़ प्रबंधक भगवती प्रसाद सेमवाल,  वेदपाठी नरेश कुकरेती, नवीन देवसाली, मोहन प्रसाद मैखुरी श्रीनंद सेमवाल मौजूद रहे। कल 4 मई  को प्रात: श्री केदारनाथ भगवान की पंचमुखी डोली तृतीय पड़ाव गौरीकुंड के लिए प्रस्थान करेगी 5 मई  को पंचमुखी डोली श्री केदारनाथ धाम प्रस्थान करेगी। 6 मई को प्रात:6 बजकर 25 मिनट पर श्री केदारनाथ धाम के कपाट खुल जायेंगे।


Post a Comment

Powered by Blogger.