Halloween party ideas 2015

सीएम के निर्देश पर पी एम के सपने को साकार करने के लिए निगम ने शुरू किया स्वच्छता पखवाड़ा

ऋषिकेश:




मेयर अनिता ममगाई के नेतृत्व में सुपर संडे को स्वच्छता पखवाड़ा कार्यक्रम के तहत आई एस बी टी परिसर सहित शहर के विभिन्न क्षेत्रों में स्वच्छता अभियान चलाया गया। इसके तहत मेयर ने नगरवासियों को साफ-सफाई बनाए रखने का संदेश दिया। 


उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के दिशा निर्देशानुसार नगर निगम ने आज से स्वच्छता पखवाड़े का श्रीगणेश कर दिया।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन के सपने को साकार करने में शिद्दत के साथ पिछले साढ़े तीन वर्षों से महापौर की अगुवाई में जुटी नगर निगम की स्चच्छता टीम रविवार को साप्ताहिक अवकाश के बाद शहर के विभिन्न महत्वपूर्ण क्षेत्रों में उतरी और जोरदार तरीके से स्वच्छता अभियान चलाकर शहरवासियों को स्वच्छता का संदेश दिया। विशेष स्वच्छता पखवाड़े के तहत मेयर ने नगर निगम के स्च्छता प्रहरियों की होसला अफजाई करते हुए शहर को साफ-सुथरा बनाने के लिए किए जा रहे उनके कार्यों को लेकर उनकी पीठ भी थपथपाई।इस अवसर पर मेयर ने कहा कि  निगम के स्वच्छता प्रहरी सुबह 6 बजे से अपनी ड्यूटी शुरू कर देते हैं तथा तीर्थ नगरी को साफ-सुथरा बनाने के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं। ऐसे में हम सभी की यह नैतिक जिम्मेदारी बनती है कि हम उनका सम्मान करें। मेयर ने कहा कि शहर को स्वच्छ बनाने के लिए शहरवासियों की भागीदारी होना बहुत आवश्यक है। शहर का प्रत्येक नागरिक स्वच्छता को अपनी नैतिक जिम्मेदारी समझे। न तो लोग खुद इधर-उधर कचरा फैलाएं और न ही दूसरों को फैलाने दें। अगर कोई व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर कचरा फैलाता है, तो उसे ऐसा करने से रोकें। इससे हमारा शहर स्वच्छ बनेगा तो नागरिक भी स्वस्थ रहेंगे।मेयर ने बताया कि सरकार के निर्देशानुसार नगर निगम की तरफ से चलाया गया विशेष स्वच्छता पखवाड़ा लगातार जारी रहेेगा। जिन स्थानों पर कचरा पड़ा हुआ है, उन स्थानों की विशेष सफाई करवाकर वहां पर हरियाली विकसित की जाएगी। महापौर ने बताया कि निगम लगातार यह प्रयास कर रहा है कि आगामी विश्व प्रसिद्ध चारधाम यात्रा के दौरान

यहां देश के कोने-कोने से जब श्रद्वालु पहुंचे तो उन्हें बिल्कुल स्वच्छ वातावरण मिल सके।इस दौरान

 प्रभारी सहायक नगर आयुक्त  आनंद मिश्रावान, कमला गुनसोला, सफाई निरीक्षक धीरेंद्र सेमवाल, अभिषेक मल्होत्रा, संतोष गुसाई, सुभाष सेमवाल, संदीप रतूड़ी, जितेंद्र, सुभाष, सुलेखा आदि प्रमुख रूप से मोजूद रहे।

Post a Comment

Powered by Blogger.