Halloween party ideas 2015


एक हजार स्कूलों को बनाया जायेगा उत्कृष्ट विद्यालयः डॉ0 धन सिंह रावत 

अधिकारियों को दिये शीघ्र कार्य  योजना तैयार करने के निर्देश

सीसीएल पर जाने वाले शिक्षकों के स्थान पर होगी वैकल्पिक व्यवस्था

देहरादून;



सूबे में बेसिक से लेकर इण्टरमीडिएट तक के एक हजार स्कूलों को सुविधा संपन्न बना कर उत्कृष्ट विद्यालय बनाये जायेंगे। इन स्कूलों में शत प्रतिशत शिक्षकों सहित तमाम मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दे दिये गये हैं। बाल्य देखभाल अवकाश पर जाने वाले शिक्षकों के स्थान पर वैकल्पिक व्यवस्था बनाने को भी कहा गया। 


विद्यालयी शिक्षा मंत्री डॉ0 धन सिंह रावत ने आज जिला मुख्यालय स्थित सभागार में शिक्षा विभागजनपद देहरादून के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ली। जिसमें अधिकारियों को विद्यालयों में शिक्षकों की तैनाती, विद्यालय भवन, खेल मैदान, खेल सामग्री, पुस्तकालय, प्रयोगशाला, बाउंड्रीवाल, बिजली, पानी तथा शौचालय आदि की व्यवस्था सुनिश्चित करने को कहा गया। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रथम चरण में प्रदेशभर के एक हजार विद्यालयों को सुविधा संपन्न बनाते हुए उत्कृष्ट विद्यालय बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। जिस पर विभागीय अधिकारियों को योजनाबद्ध तरीके से कार्य करने के निर्देश दिये गये हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे स्कूलों में शत प्रतिशत शिक्षकों के साथ ही सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध कराई जायेगी, जिसके लिए बजट की कोई कमी नहीं होने दी जायेगी। विभागीय मंत्री ने कहा कि शिक्षकों के बाल्य देखभाल अवकाश पर जाने से छात्रों की पढ़ाई में व्यवधान आ जाता है, जिसको दूर करने के लिए विभागीय अधिकारियों को वैकल्पिक व्यवस्था बनाने के निर्देश दिये गये हैं। इससे पूर्व विभाग की ओर से मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ0 मुकुल सती ने पॉवर प्वाइंट के माध्यम से जनपद की शिक्षा व्यवस्था का विस्तारपूर्वक प्रस्तुतिकरण दिया। उन्होंने बताया कि जनपद में कुल 2514 स्कूल संचालित किये जा रहे हैं। जिनमें 1296 राजकीय विद्यालय, 1044 निजी विद्यालय, 110 राजकीय अनुदान प्राप्त विद्यालय, 18 केन्द्रीय विद्यालय, 14 जनजातीय विद्यालय, 23 अन्य संस्थाओं के विद्यालय शामिल हैं। इन विद्यालयों में कुल 4 लाख 33 हजार 173 छात्र-छात्राएं पंजीकृत हैं। इसके अलावा जनपद में आईसीडीएस द्वारा संचालित 1907 आंगनबाड़ी केन्द्र तथा राजकीय प्राथमिक विद्यालयों के अंतर्गत संचालित 295 आंगनबाड़ी केन्द्र हैं। जबकि जनपद के 20 विद्यालयों में टूरिज्म एंड हॉस्पिटेलिटी, इलेक्ट्रनिक्स एंड हार्डवेयर, ब्यूटी एंड वैलनेस, आईटी, कृषि आदि विभिन्न व्यावसायिक पाठ्यक्रम संचालित किये जा रहे हैं।


बैठक में जिलाधिकारी देहरादून डॉ0 आर0 राजेश कुमार, प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी  एस0एम0 डोभाल, मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी डॉ0 मुकुल सती, डीईओ माध्यमिक एस.एस. बिष्ट, डीईओ बेसिक राजेन्द्र सिंह रावत सहित जनदप के सभी छह विकासखण्डों के खण्ड शिक्षा अधिकारी सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। 



Post a Comment

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved
Powered by Blogger.