Halloween party ideas 2015


ऋषिकेश



 : उत्तराखंड मे उघोग धन्धो मे श्रमिकों के शोषण की शिकायत लगातार मिलती रहती है ।जहां अब जिला टिहरी गढवाल के औद्योगिक क्षेत्र    ढालवाला स्थित गत्ता फैक्ट्री में कार्यरत कर्मचारी के मशीन में फंसकर गंभीर रूप से घायल होने के बाद बृहस्पतिवार को फैक्ट्री के कर्मचारियों ने अपनी  सुरक्षा को लेकर बरती जा रही लापरवाही के विरोध में कार्य बहिष्कार करते हुए कंपनी के बाहर धरना देकर प्रदर्शन किया ।जहां  बीते बुधवार को ढालवाला स्थित गत्ता फैक्ट्री  में कार्यरत कर्मचारी गोपाल मणि लेखवार गत्ता प्रेस करने वाली डाई मशीन के बीच में फंसकर गंभीर रूप से घायल हो गया था। इसकी गंभीर हालत को देखते हुए राजकीय चिकित्सालय ऋषिकेश में चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद हायर सेंटर रेफर कर दिया था। फिलहाल एम्स ऋषिकेश में घायल कर्मचारी का उपचार किया जा रहा है‚ जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है। । इसके चलते बृहस्पतिवार को सुबह से ही फैक्ट्री के सभी कर्मचारियों ने कार्य बहिष्कार करते हुए फैक्ट्री के मेन गेट के बाहर नारेबाजी और धरना देकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया। फैक्ट्री के कर्मचारियों के बाहर धरना–प्रदर्शन की सूचना मिलते ही पुलिस प्रशासन भी भारी संख्या में मौके पर पहुंच गया।  कर्मचारियों के प्रदर्शन की सूचना संबंधित प्रशासनिक अधिकारियों को दे दी गई है। वहीं प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने फैक्टरी प्रबंधन पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। । कर्मचारियों का कहना है कि फैक्ट्री में कर्मचारियों की सुरक्षा के साथ खिलवाड किया जा रहा है। कर्मचारियों से 12  घंटे की कडी मेहनत करावाने के बदले उन्हें मुनासिब वेतन नहीं मिल रहा है। जहां सभी कर्मचारियों को  ईपीएफ एवं ईएसआई   भी नहीं काटा जाता है । वहीं श्रम विभाग में रजिस्ट्रेशन के अलावा कंपनी के द्वारा किसी भी कर्मचारी को कोई आईडी प्रूफ नहीं दिया गया है। बीमारी अथवा इमरजेंसी में एक दिन छुट्टी लेने पर दो दिन का वेतन काटा जाता है। फैक्ट्री में नए वर्करों को पहले 10 दिनों का वेतन भी नहीं दिया जाता है। इसके अलावा फैक्ट्री में शुद्ध पीने के पानी की सुविधा सहित महिलाओं के लिए उचित शौचालय की व्यवस्था भी नहीं की गई है। फैक्ट्री में प्रबंधन की चमचागिरी नहीं करने पर बिना नोटिस के ही कर्मचारियों को निकाल दिया जाता है। वहीं फैक्ट्री में कार्यरत महिलाओं ने भी प्रबंधन द्वारा बदसलूकी किए जाने का आरोप लगाया है। लोगों ने उक्त सभी मांगों को लेकर उपजिलाधिकारी नरेंद्रनगर को भी ज्ञापन भेजा है। प्रदर्शन करने वालों में बबीता कुकरेती‚ सोनी श्रीवास्तव‚ विमला राणा‚ पुलमा पोखरियाल‚ अनीता देवी‚ पूजा कठेरिया‚ सीमा‚ पूनम नेगी‚ दुलारी‚ सुमित चौहान‚ अजीत‚ अर्जुन दास‚ अजय नेगी‚ मोहित‚ मंजू सजवाण, गोदावरी देवी‚ सुशीला,ललिता, पुष्पा रावत,गौरव राजपूत सहित सैकडो कर्मचारी मौजूद रहे ।

Post a Comment

Powered by Blogger.