Halloween party ideas 2015


 स्वामी विवेकानंद के जीवन से प्रेरणा ले युवा





 डोईवाला :


हिमालयन इंस्टी्टयूट हॉस्पिटल ट्रस्ट के ग्राम्य विकास संस्थान (आरडीआई) में राष्ट्रीय युवा दिवस पर विभिन्न कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर वक्ताओं ने युवाओं से स्वामी विवकेकानंद के जीवन से प्रेरणा लेने आह्वान किया।

बुधवार को ग्राम्य विकास संस्थान (आरडीआई) में युवा दिवस का उद्घाटन डॉ. स्वामी राम के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित कर किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि प्रेम बुड़कोटी ने उपस्थित छात्र-छात्राओं को 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद का जन्मदिवस होता है इसको युवा दिवस के रूप में मनाया जाता है। उन्हांेने कहा स्वामी विवेकानंद युवाओं में क्रांतिकारी परिवर्तन कर देश को प्रेम और सौहार्द के रास्ते पर ले जाना चाहते थे। वे युवाओं को भलीभांती पहचानते थे। उन्होंने एक बार कहा था मुझे बहुत से युवा सन्यासी चाहिए जो भारत के गांवों में फैलकर देशवासियों की सेवा कर सके। राष्ट्रप्रेम की भावना उनमें कूट-कूटकर भरी हुयी थी। उठो जागो स्वयं जागरुक बनों और औरों को भी जागरुक करो, अपने जन्म को सफल बनाओ तक नहीं रुको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो। स्वामी विवेकानंद के यह अनमोल तेजस्वी शब्द हमेशा ऊर्जा प्रदान करते रहेंगे। उन्होंने छात्र-छात्राओं से स्वामी विवेकानंद के जीवन से प्रेरणा लेने की बात कही। कार्यक्रम में स्वामी राम के प्रेरणादायक विडियो भी छात्र-छात्राओं को दिखाये गये। इस दौरान राष्ट्र निर्माण के प्रति युवाओं का योगदान विषय पर भाषण प्रतियोगिता भी आयोजित की गयी। प्रतियोगिता में 20 छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। जिसमें सायना जायसवाल ने प्रथम, कोमल पैन्यूली ने द्वितीय व रीतिका बहुगुणा ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। मुख्य अतिथि प्रेम बुड़ाकोटी ने विजेता प्रतिभागियों को पुरस्कृत किया। कार्यक्रम का संचालन शिवम ढौंढियाल ने किया। इस अवसर पर डॉ. राजीव बिजल्वान, डॉ. वीरेन्द्र सेमवाल, डॉ. शीला, मीना, ऋचा, दिग्विजय, ज्योति शर्मा आदि उपस्थित थे।

Post a Comment

Powered by Blogger.