Halloween party ideas 2015

  •  ग्रामीणों में दहशत का माहौल
  •  फेक वीडियो हो रही है वायरल
  • वन विभाग का बेतुका बयान जब तक इंसान को निवाला नहीं बनाएगा जानवर नहीं लगाएंगे पिंजरा

लैंसडौन/पौड़ी/जयहरीखाल:




क्षेत्र के अधिकारियों को कई बार शिकायत करने पर भी नहीं जाग रहा पोखड़ा रेंज का वन विभाग। आए दिन जयहरीखाल ब्लॉक के गांव में जंगली जानवर द्वारा ग्रामीणों की दुधारू गायों को  निवाला बनाया जा रहा है।

 कल दिनांक 29.11.2021 नवंबर को बिदुर गांव के छोटे भाई अरुण भारद्वाज के द्वारा  सूचना मिली कि उनके गांव में जंगली जानवर ने रात को आनंद मणि जी की गौशाला तोड़कर उनकी दुधारू गाय को मार दिया और एक गाय को घायल कर दिया है। इस से पहले भी 14.11.2021 नवंबर को भी जगली जानवर द्वारा श्री विजय प्रकाश भारद्वाज जी की गौशाला तोड़कर उनकी चार बकरियों और एक बैल को मारा था, इससे पहले भी यह जंगली जानवर ग्राम असनखेत  में महेंद्र सिंह रावत जी की गौशाला तोड़कर उनकी एक जर्सी गाय को भी अपना निवाला बना चुका है, वहीं असनखेत गांव में यशपाल सिंह रावत जी की गौशाला तोड़कर भी एक बछड़े को मारा, ग्रामसभा मल्ला जाख मैं आशा कार्यकर्ती श्रीमती पूनम जी की गौशाला तोड़कर उनकी भी एक दुधारू गाय मारी उसके बाद ग्रामसभा मल्ला सुकोली श्री बृजमोहन जुयाल जी की गौशाला तोड़कर उनकी भी एक दुधारू गाय को मारा, ग्रामसभा सीधार मैं भी एक ग्रामीण की गौशाला तोड़कर वहां भी एक गाय मारी, ग्राम सभा घागली, संदना, ग्रामसभा माठली मैं भी जंगली जानवर द्वारा ग्रामीणों की गौशाला   तोड़ी गई और दुधारू पशु मारे गए ग्राम सभा मझोला मलधार अन्य ग्रामीण क्षेत्र भी इस जंगली जानवर के कारण अपनी अपनी गौशालाओं में रात रात भर पहरेदारी करते रहते हैं, ग्रामीणों में दहशत का माहौल है।


इतनी सारी घटनाएं होने के बाद भी शासन प्रशासन क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि कुंभकरण की नींद  में हैं, वन विभाग की टीम भी गांव में आ रही है, घटना का निरीक्षण करके फोटो खींच कर चली जा रही है।

ग्रामवासी द्वारा पिंजरा लगाने की मांग की जा रही है परंतु   वन विभाग के अधिकारी कह रहे हैं,जब तक ये जानवर आदमखोर नहीं हो जाता तब तक हम पिंजड़ा नहीं लगा सकते ।

सरकार   एवं वन विभाग की टीम  चाहती है, किसी महिला बच्चे पुरूष को बुजुर्गों को यह जानवर अपना निवाला बनाएं।

 इस संदर्भ में समाजसेवी अरविंद नेगी लिटिल द्वारा 23.11.2021 सीएम हेल्पलाइन में भी शिकायत की गयी थी ।लेकिन उसका भी कोई जवाब नहीं आया। 

अब उन्होंने  वन मंत्री हरक सिंह रावत  से  निवेदन किया है कि हमारे ग्रामीण क्षेत्रों में दहशत का माहौल बना हुआ है, ग्रामीण दहशत में है, जल्द से जल्द क्षेत्र में इस जंगली जानवर को पकड़ने के लिए पिंजड़े लगाए जाएं, और वन विभाग की टीम द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में रात में गश्त लगाए जाए, 

Post a Comment

Powered by Blogger.