Halloween party ideas 2015

 नैनीताल :




 संविधान दिवस पर संवेदीकरण कार्यक्रम- मा0 मुख्य न्यायमूर्ति, माननीय उत्तराखण्ड उच्चन्यायालय तथा मा0 कार्यपालक अध्यक्ष, उत्तराखण्डराज्य विधिक सेवा प्राधिकरण, नेनीताल के निर्देशानुसार में दिनांक 26नवम्बर, 2021 को “संविधान दिवस“ के उपलक्ष्य में माननीय उत्तराखण्ड उच्चन्यायालय, उत्तराखण्डराज्य विधिक सेवा प्राधिकरण एवं उत्तराखण्ड न्यायिक एवं विधिक अकादमी, भवाली के संयुक्त तत्वाधान में एक संवेदीकरण कार्यक्रम का आयोजन माननीय उत्तराखण्ड उच्चन्यायालय  परिसर में किया गया।

उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य-सचिव श्री आर0 के0 खुल्बे के द्वारा बताया गया कि उक्त “संविधान दिवस“ पर आयोजित संवेदीकरण कार्यक्रम का शुभारम्भ मा0 न्यायमूर्ति श्री मनोजकुमार तिवारी, मा0 न्यायमूर्ति श्री एन0 एस0 धनिक एवं श्री एस0एन0 बाबुलकर, महाधिवक्ता के द्वारा दीपप्रज्वलन कर किया गया। उक्त कार्यक्रम के दौरान मा0 न्यायमूर्तिगणों को शॉल भेट कर सम्मानित किया गया।

मा0 न्यायमूर्तिश्री एन0एस0 धनिक के द्वारा उक्त कार्यक्रम के उदद्ेश्य एवं भारतीय संविधान के विषय में स्वागत संबोधन से उपस्थित जनसभा को अवगत कराया गया।उसके उपरान्त अतिथिवक्ता प्रोफेसर (डॉ) वी0एस0 एलिजाबेथ, कुलपति, तमिलनाडु राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय के द्वारा तमिलनाडु से ऑनलाइन जुड़कर संविधान में महिलाओं के विधिशास्त्र पर आधारित संवेदीकरण व्याख्यान दिया गया। उसके उपरान्त मा0 न्यायमूर्ति श्री मनोज कुमार तिवारी जी के द्वारा बतौर मुख्य अतिथि के तौर पर भारतीय संविधान, उद्ेशिका, मौलिक अधिकार एवं कर्तव्य के बारे में विस्तृत व्याख्यान दिया गया।

उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य-सचिव श्री आर0 के0 खुल्बे के द्वारा बताया गया कि उक्त कार्यक्रम के दौरान दिनांक 11 नवम्बर, 2021 को उत्तराखण्ड राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय मूटकोर्ट प्रतियोगिता और वाद-विवाद प्रतियोगिता के विजेता प्रतिभागियों को मा0 न्यायमूर्तिगणों  के कर कमलों द्वारा पुरस्कार भी वितरित किये गये।

कार्यक्रम के अन्त में श्री नितिन शर्मा, निदेशक, उत्तराखण्ड न्यायिक एवं विधिक अकादमी के द्वारा धन्यावाद ज्ञापित किया गया।

उत्तराखण्ड राज्यविधिक सेवा प्राधिकरण के सदस्य-सचिव श्री आर0 के0 खुल्बे के द्वारा बताया गया कि उपरोक्त कार्यक्रम में श्री धंनजय चतुर्वेदी, महानिबन्धक सहित उत्तराखण्ड उच्चन्यायालय के अन्य निबन्धक उपस्थित थे।इसके अतिरिक्त उक्त कार्यक्रम में अध्यक्ष/सचिव/उपाध्यक्ष उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन, वरिष्ठ अधिवक्तागण, अन्य अधिवक्तागण एवं विधि के छात्र/छात्रायें भी उपस्थित थे।

*भारतीय संविधान की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में SDRF वाहिनी में 26 नवंबर को मनाया गया संविधान दिवस*



 दिनांक 26 नवंबर को प्रात: 11:00 बजे SDRF वाहिनी मुख्यालय जौलीग्रांट मे भारतीय संविधान की वर्षगांठ के उपलक्ष्य में ''संविधान दिवस'' मनाया गया

Sdrf uttarakhand


संविधान दिवस के अवसर पर भारत के माननीय राष्ट्रपति द्वारा समारोह की अगुवाई सेंट्रल हॉल से पूर्वान्ह 11:00 बजे से लाइव प्रसारण संसद टीवी/डीडी/अन्य टीवी चैनलों पर किया गया, जिसे वाहिनी मुख्यालय जॉलीग्रांट में उपस्थित समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा देखा गया। जिसके पश्चात भारत के संविधान की प्रस्तावना (शपथ) का सामुहिक पठन किया गया। 

 


संविधान दिवस के शुभ अवसर पर वाहिनी मुख्यालय में  संविधान की प्रस्तावना (शपथ) का सामुहिक पठन करने के साथ ही  सभी अधिकारी/कर्मचारियों द्वारा संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करने की शपथ ली गयी।


Post a Comment

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved

www.satyawani.com @ 2016 All rights reserved
Powered by Blogger.