Halloween party ideas 2015

 उत्तराखंड चारधाम यात्रा 2021




गंगोत्री/ उत्तरकाशी/ देहरादून 5 नवंबर:

 

 उत्तराखंड चारधाम में एक श्री गंगोत्री धाम के कपाट आज गोवर्धन पूजा के दिन पूर्वाह्न 11 बजकर 45 मिनट पर बंद हो गये।

गंगोत्री मंदिर समिति के तीर्थ पुरोहितों एवं आचार्यगणों की उपस्थिति में कपाट विधि-विधान से कपाट बंद हुए इस अवसर पर बड़ी संख्या में तीर्थयात्री एवं स्थानीय लोग मौजूद रहे। कपाट बंद होने के बाद मां गंगा की उत्सव डोली विभिन्न पड़ावों से होते हुए शीतकालीन गद्दीस्थल मुखवा पहुंचेगी।

 तीर्थ पुरोहितों के हवाले से यह जानकारी मिली है। जिलाधिकारी उत्तरकाशी श्री मयूर दीक्षित ने बताया कि इस यात्रा वर्ष 32948 से अधिक तीर्थयात्री गंगोत्री धाम दर्शन के दर्शन किये। कोरोना काल के बावजूद यात्रा में तीर्थयात्रियों के आने का क्रम जारी रहा। यात्रा ब्यवस्थाओं को ब्यवस्थित बनाया गया।

उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि आज  शुक्रवार गोवर्धन पूजा/ अन्नकूट पूजा के दिन श्री गंगोत्री धाम के कपाट बंद होने के बाद कल  शनिवार प्रात: भैया दूज यम द्वितीया पर श्री केदारनाथ धाम एवं श्री यमुनोत्री धाम के कपाट बंद हो जायेंगे।

श्री केदारनाथ भगवान की उत्सव डोली शीतकालीन गद्दीस्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी।

इसी तरह श्री यमुनोत्री माता की उत्सव डोली शीतकालीन गद्दीस्थल खरसाली पहुंचेगी।

जबकि श्री बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को शीतकाल हेतु बंद हो जायेंगे। बताया कि अभी तक साढ़े चार लाख तीर्थयात्री  उत्तराखंड  चारधाम पहुंच गये है। 


• श्री केदारनाथ मंदिर पहु़चकर पूजा-अर्चना में‌ शामिल। रूद्राभिषेक पूजा।

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी  जी श्री केदारनाथ धाम पहुंचे पूजा में शामिल हुए। आदि गुरु शंकराचार्य जी की प्रतिमा का अनावरण किया। जन सभा को  संबोधित किया

जिसका देशभर में सीधा प्रसारण हुआ। रूद्राभिषेक पूजा मुख्यमंत्री पुजारी बागेश लिंग तथा रावल  भीमाशंकर लिंग जी के प्रतिनिधि केदार लिंग ने पूजा संपन्न करवायी।




इससे पहले आज प्रात: जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचने पर राज्यपाल ले.ज.(से.नि) श्री गुरमीत सिंह,  मुख्यमंत्री श्री पुष्कर सिंह धामी,पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत,विधानसभा अध्यक्ष श्री प्रेम चंद्र अग्रवाल व अन्य महानुभावों ने  प्रधानमंत्री जी का स्वागत किया। इसके पश्चात प्रधानमंत्री केदारनाथ को रवाना हुए। 

 प्रधानमंत्री जी केदारनाथ मंदिर में दर्शन को पहुंचे प्रधानमंत्री द्वारा भगवान केदारनाथ की रूद्राभिषेक पूजा हुई।आदि गुरु शंकराचार्य जी की  समाधि एवं मूर्ति का अनावरण किया। अपने भाषण में  पुनर्निमार्ण कार्यों का अवलोकन किया। देश‌ को संबोधित कर धर्म, संस्कृति,अध्यात्म,देश के विकास, सांस्कृतिक पुनर्जागरण

चारधाम, ग्यारह ज्योर्ति लिंग, अयोध्या, काशी से लेकर पवित्र गुरूद्वारा हेमकुंड साहिब का भी जिक्र किया। वेद पुराण उपनिषद, रामचरित मानस के कई उद्धहरण दिये।

आदि गुरु शंकराचार्य एवं‌ ऋषि-मुनियों की विद्वता का वखान किया।  उत्तराखंड को वीर सैनिकों की भूमि बताया,केदारनाथ पहुंचे सभी तीर्थ पुरोहितों, अखाड़ों महामंडलेश्वरों, विद्वत जनों तीर्थयात्रियों का आभार जताया। कहा कि आनेवाले समय में उत्तराखंड चारधाम परियोजना, रेल सड़क से विकास की ऊंचाईयों पर पहुंचेगा। जय केदार के संबोधन के साथ अपना संबोधन पूरा किया। इस अवसर पर प्रधानमंत्री जी को देवस्थानम बोर्ड ने भगवान केदारनाथ जी का प्रसाद, विभूति, माला, भगवान केदारनाथ जी की प्रतिकृति  एवं राज्य पुष्प   ब्रह्म कमल की प्रतिकृति भेंट की। 

उनके भाषण का देशभर में सीधा प्रसारण हुआ  इससे पहले मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ धाम पहुंचे सभी  मनीषियों,मंत्रियों, तीर्थ यात्रियों, तीर्थ पुरोहितों का आभार जताया। कहा कि यशस्वी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने उत्तराखंड के विकास को नयी दिशा दी है।दोपहर बाद कार्यक्रमानुसार प्रधानमंत्री जी जौलीग्रांट हेतु रवाना हो गये ।इस अवसर पर प्रदेश के राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरूमीत सिंह  एवं मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी सहित पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

 मुख्य सचिव डा. एस. एस. संधू ने प्रधानमंत्री को केदारनाथ पुनर्निर्माण कार्यों की जानकारी दी। इस अवसर पर मुख्य मंत्री पुष्कर सिंह धामी, पूर्व मुख्यमंत्री  सांसद तीरथ सिंह रावत, पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री डा. हरक सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री डा. धन सिंह रावत, मंत्री यतीश्वरानंद, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक,  मुख्य सचिव डा. एस.एस. संधू सहितदेवस्थानम बोर्ड के सदस्य आशुतोष डिमरी, सदस्य /वरिष्ठ तीर्थपुरोहित श्री निवास पोस्ती, विनोद शुक्ला सहित शासन  एवं पुलिस के आला अधिकारी,  निरंजनी अखाड़ा के कैलाशानंद महाराज,   परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद मुनि जी महाराज,स्वामी बालकानंद महाराज एवं कई अखाड़ो के संत महंत सहित  गढ़वाल आयुक्त / उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी रविनाथ रमन, जिलाधिकारी मनुज गोयल, देवस्थानम बोर्ड के अपर मुख्य कार्यकारी अधिकारी बी. डी. सिंह पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल उपजिलाधिकारी जितेंद्र वर्मा आदि मौजूद रहे। देवस्थानम बोर्ड के मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि कल 6 नवंबर भैया दूज के अवसर पर प्रात: श्री केदारनाथ धाम के कपाट शीतकाल के लिए बंद हो जायेंगे। पंचमुखी उत्सव मूर्ति विभिन्न पड़ावों से होकर शीतकालीन गद्दीस्थल‌ श्री  ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचेगी। बताया कि अभी तक दो लाख छत्तीस हजार तीर्थयात्री केदारनाथ धाम पहुंच गये है।


 

Post a Comment

Powered by Blogger.